Asianet News Hindi

IIT गुवाहाटी में PM MODI : कहा, आपके सपने देश को आकार देंगे, अभी से फ्यूचर फिट होने का टाइम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) गुवाहाटी के दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित किया। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। पीएम ने कहा, मेरा स्पष्ट मानना है कि देश का भविष्य युवा क्या सोचते हैं इस पर निर्भर करता है। 

Narendra Modi addresses the convocation of Indian Institute of Technology kpn
Author
New Delhi, First Published Sep 22, 2020, 1:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) गुवाहाटी के दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित किया।  असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। पीएम ने कहा, मेरा स्पष्ट मानना है कि देश का भविष्य युवा क्या सोचते हैं इस पर निर्भर करता है। 

अभी से फ्यूचर फिट होने का टाइम : पीएम ने कहा, आपके सपने कल के भारत की हकीकत को आधार देंगे। इसलिए ये समय भविष्य के लिए तैयार होने का है, ये टाइम अभी से फ्युचर फिट होने का है। 

रिसर्च कल्चर को बढ़ावा देना जरूरी : उन्होंने कहा, देश में रिसर्च कल्चर को समृद्ध करने के लिए NEP में एक नेशनल रिसर्च फाउंडेशन का भी प्रस्ताव लाया गया है। NRF रिसर्च फंडिंग को लेकर सभी फंडिंग एजेंसियों के साथ कोऑर्डिनेट करेगा और सभी  विधाएं चाहे वो साइंस हो या ह्यूमैनिटीज सभी के लिए फंड प्रोवाइड करेगा।

रिसर्च आपकी सोच की प्रक्रिया का एक हिस्सा हो : पीएम ने कहा, मुझे खुशी है कि आज इस कोन्वोकेशन में हमारे करीब 300 युवा साथियों को PhD अवार्ड की जा रही है और ये एक बहुत ही पॉजिटिव ट्रेंड है। मुझे विश्वास है कि आप सब यहीं नहीं रुकेंगे, बल्कि रिसर्च आपकी एक आदत बन जाएगी, आपकी सोचने की प्रक्रिया का एक हिस्सा बनी रहेगी।

संबंधों का मुख्य आधार, कल्चर, कॉमर्स, कनेक्टिविटी और कैप्सिटी : उन्होंने कहा, पूर्वोत्तर का ये क्षेत्र, भारत की एक्ट ईस्ट पॉलिसी का केंद्र भी है। यही क्षेत्र साउथ ईस्ट एशिया से भारत के संबंध का गेटवे भी है। इन देशों से संबंधों का मुख्य आधार, कल्चर, कॉमर्स, कनेक्टिविटी और कैप्सिटी रहा है। अब शिक्षा एक और नया माध्यम बनने जा रही है।

आपदाओं से निपटने की एक्सपर्टीज भी प्रोवाइड करवाए : पीएम ने कहा, मैं IIT गुवाहाटी से ये भी अनुरोध करूंगा कि आप एक सेंटर फॉर डिज़ास्टर मैनेज़मेंट एंड रिस्क रिडक्शन की स्थापना भी करें। ये सेंटर इस इलाके की आपदाओं से निपटने की एक्सपर्टीज़ भी प्रोवाइड कराएगा, और आपदाओं को अवसर में भी बदलेगा।

 

पीएम मोदी की प्रेरक बातें

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios