Asianet News HindiAsianet News Hindi

Farooq Abdullah का फिर विवादित बयान, 700 किसानों की तरह Jammu Kashmir के लिए शहादत देना होगा

पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि 700 किसानों की मौत के बाद केंद्र ने कृषि कानून वापस ले लिया। हमें भी केंद्र से हमारा हक वापस लेने के लिए कुर्बानी देनी होगी। 

National Conference Leader Farooq Abdullah controversial statement for Jammu Kashmir statehood and Article 370, Know all about, DVG
Author
Srinagar, First Published Dec 5, 2021, 7:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर। किसान आंदोलन (Farmers Protest) से प्रेरणा लेकर देश में कई बड़े आंदोलनों की सुगबुगाहट शुरू हो चुकी है। जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir)  को राज्य का दर्जा फिर दिलाने और 370 बहाल किए जाने को लेकर राजनीतिक दल लगातार लोगों को एकजुट करने में जुटे हुए हैं। अब नेशनल कांफ्रेंस (National Conference) नेता और पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने अपनी मांगों के लिए किसान आंदोलन जैसी एकजुटता और धैर्य का आह्वान किया है। उन्होंने 700 किसानों की तरह जम्मू-कश्मीर के लिए शहादत देने की बात कहकर नया विवाद भी खड़ा कर दिया है।

क्या कहा फारूख अब्दुल्ला ने?

पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि 700 किसानों की मौत के बाद केंद्र ने कृषि कानून वापस ले लिया। हमें भी केंद्र से हमारा हक वापस लेने के लिए कुर्बानी देनी होगी। अमित शाह ने कुछ दिनों पहले कहा था कि जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के बाद शांति और टूरिज्म बढ़ा है। अब्दुल्ला ने कहा कि अगर कश्मीर में पर्यटन बढ़ रहा है तो क्या पर्यटन ही सब कुछ है।

बीजेपी पर लगा चुके हैं नफरत फैलाने का आरोप

कुछ दिनों पहले ही फारूक अब्दुल्ला ने बीजेपी (BJP) पर चुनाव जीतने के लिए नफरत फैलाने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि केंद्र में दुबारा सत्ता में आने के लिए बीजेपी ने नफरत फैलाया अब यूपी चुनाव (UP elections 2022) जीतने के लिए नफरत फैलाना शुरू कर दिया है। हालांकि, बीजेपी को कोसते-कोसते पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने यह कह दिया कि हिन्दुस्तान के इतने टुकड़े होंगे कि इसे रोका नहीं जा सकेगा। फारूख अब्दुल्ला बीजेपी पर हमलावर होते हुए कहा कि बीजेपी चुनाव जीतने के लिए नफरत का हथकंड़ा अपनाती है। अभी यूपी सहित कई राज्यों में चुनाव होने वाले हैं। बीजेपी का नफरत फैलाने वाला एजेंडा शुरू हो चुका है। 

उन्होंने लोगों से जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ देश को बचाने के लिए नफरत से लड़ने का आह्वान करते हुए चेतावनी दी कि अगर नफरत बढ़ती रही तो भारत को बिखरने से नहीं रोका जा सकता। उन्होंने पूछा था कि, 'बालाकोट! बालाकोट! क्या लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC)बदल गई? क्या हमें पाकिस्तान से जमीन का कोई टुकड़ा वापस मिला? एलओसी की लाइन अभी भी वही है। हमने वहां अपना विमान गिराया। हमें क्या मिला? भाजपा फिर सत्ता में आई। वे आज भी यही कर रहे हैं। वे यूपी जीतने के लिए नफरत फैला रहे हैं।'

Read this also:

Farmers Protest रहेगा जारी, MSP पर बातचीत के लिए किसानों का 5 सदस्यीय पैनल करेगा सरकार से बातचीत

महबूबा का मोदी पर तंज: अटल जी ने राजधर्म निभा Jammu-Kashmir को संभाला, अब नेता गोडसे का कश्मीर बना रहे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios