Asianet News HindiAsianet News Hindi

NCC का गणतंत्र दिवस कैम्प: 2155 कैडेट को गुजरना पड़ा कठिन एग्जाम के बीच से

दिल्ली कैंट के करियप्पा परेड ग्राउंड में शुरू हुए राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) गणतंत्र दिवस शिविर (आरडीसी) 2022 में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 2,155 कैडेट भाग ले रहे हैं। यह जानकारी एनसीसी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने दी।
 

NCC Republic Day Camp 2022, Candidates are selected after tough examination  KPA
Author
New Delhi, First Published Jan 8, 2022, 1:00 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.4 जनवरी से दिल्ली कैंट के करियप्पा परेड ग्राउंड में शुरू हुए राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) गणतंत्र दिवस शिविर (आरडीसी) 2022 में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 2,155 कैडेट भाग ले रहे हैं। यह जानकारी एनसीसी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने 7 जनवरी को मीडिया को दी।

कड़ी चुनौतियों के बाद होता है सिलेक्शन
पिछले एक साल में समूह और निदेशालय स्तर पर कई दौर की कड़ी जांच के बाद आरडीसी कैडेटों का चयन किया गया है। आरडीसी-22 में पहुंचने से पहले प्रत्येक कैडेट की चार से पांच स्क्रीनिंग की गई है। कैडेट कई गतिविधियों में भाग ले रहे हैं, जिसका समापन पीएम रैली और प्रतिष्ठित पीएम बैनर के साथ होगा। इसे पूरे वर्ष सभी निदेशालयों के प्रदर्शन के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।

कोरोनाकाल में भी सुरक्षा के साथ जारी रही ट्रेनिंग
मीडियाकर्मियों से बात करते हुए एनसीसी के महानिदेशक ने बताया कि एनसीसी ने कोविड महामारी की कठिन घड़ी के दौरान भी प्रशिक्षण गतिविधियों को जारी रखा। बहुत सारे प्रशिक्षण ऑनलाइन और डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से आयोजित किए गए थे। प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के बाद, शारीरिक शिविर और व्यावहारिक प्रशिक्षण गतिविधियां फिर से शुरू हुईं।

एनसीसी का योगदान
लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने एनसीसी की वर्ष 2021 की प्रमुख उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स के रूप में 'एनसीसी योगदान' कार्यक्रम के माध्यम से कोविड-19 के दौरान अपने कैडेटों और कर्मचारियों के योगदान की सराहना की।

आजादी का अमृत महोत्सव
डीजी एनसीसी ने कहा कि भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में 'आजादी का अमृत महोत्सव' मनाया जा रहा है। एनसीसी ने भी इस महोत्सव के हिस्से के रूप में कई पहल की है। एनसीसी ने 'हमारे शहीद नायकों को श्रद्धांजलि', 'नदी उत्सव', 'पुनीत सागर अभियान' और 'विजय श्रृंखला तथा संस्कृतियों का महासंगम' जैसी कई गतिविधियां आयोजित की हैं। लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने यह भी बताया कि युवाओं की बदलती आकांक्षाओं और समाज की अपेक्षाओं को समायोजित करने के लिए कैडेटों के प्रशिक्षण दर्शन में काफी बदलाव किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एनसीसी पूर्व छात्र संघ के शुभारंभ ने इस प्रमुख युवा संगठन में एक और कीर्तिमान स्थापित किया है।

विभिन्न खेलों में एनसीसी कैडेटों द्वारा प्रदर्शित असाधारण प्रदर्शन की भी डीजी एनसीसी ने सराहना की। उन्होंने आगे कहा कि जी वी मावलंकर निशानेबाजी चैंपियनशिप-2021 में एनसीसी कैडेटों ने 04 स्वर्ण, 04 रजत और 02 कांस्य पदक जीते। इसके अलावा, एनसीसी कैडेटों ने 27वां जवाहरलाल नेहरू जूनियर गर्ल्स हॉकी टूर्नामेंट जीता।

यह भी पढ़ें
उत्तर-पूर्व भारत के किसानों की आमदनी दोगुनी करने जैविक खेती और दूसरे तौर-तरीके अपनाने की दिशा में पहल
आपदा को बनाया अवसर: लॉकडाउन में 16 अलग-अलग देशों से किए 145 कोर्स, पढ़ाई के लिए छोड़नी पड़ी थी जॉब
पढ़-लिखकर अपनी जिंदगी संवारेंगे अनामलाई टाइगर रिजर्व के दुर्गम इलाकों के आदिवासी, शुरू हुआ एक प्रोजेक्ट

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios