Asianet News HindiAsianet News Hindi

कनॉट प्लेस बम विस्फोट कांड का मोस्ट वांटेड कुलविंदरजीत अरेस्ट, बब्बर खालसा के लिए करता था टारगेट किलिंग

खुफिया रिपोर्ट्स के अनुसार खानपुरिया देश छोड़कर फरार हो गया था। फरार आतंकवादी बैंकाक से भारत आया था। 18 नवम्बर को बैंकाक से भारत आई दिल्ली फ्लाइट में वह था। दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरते ही उसे एनआईए ने अरेस्ट कर लिया।

NIA arrested Babbar Khalsa most wanted terrorist Kulwinderjeet Singh at Delhi Airport, DVG
Author
First Published Nov 21, 2022, 11:51 PM IST

NIA arrested Khalsa Terrorist: एनआईए के हत्थे एक बड़ा आतंकवादी चढ़ा है। सोमवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने एक मोस्ट वांटेड खलिस्तानी आतंकवादी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। खलिस्तानी टेररिस्ट कुलविंदरजीत सिंह उर्फ खानपुरिया को दिल्ली एयरपोर्ट से अरेस्ट किया गया है। अरेस्ट किए गए आतंकी पर पाचं लाख रुपये का इनाम था। खालसा आतंकवादी संगठनों से जुड़े इस खतरनाक आंतकवादी पर कई बड़ी घटनाओं को अंजाम देने का आरोप है

कनॉट प्लेस में हुए बम विस्फोट में भी रहा था शामिल

कथित आतंकवादी कुलविंदरजीत सिंह उर्फ खानपुरिया, बब्बर खालसा इंटरनेशनल और खालिस्तान लिबरेशन फोर्स जैसे आतंकवादी संगठनों से जुड़ा हुआ था। वह कई बड़े देश विरोधी ऑपरेशन्स को संचालित कर रहा था। एनआईए ने बताया कि कुलविंदरजीत, पंजाब में टारगेट किलिंग की साजिश के अलावा कई आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की साजिश में शामिल रहा है। एनआईए के अनुसार वह दिल्ली के कनॉट प्लेस में हुए बम विस्फोट के मामले के अलावा कई अन्य राज्यों में ग्रेनेड हमले में वह शामिल था। 

2019 से वह था फरार

कुलविंदरजीत सिंह उर्फ खानपुरिया, एनआईए की फरार लिस्ट में था। वह 2019 से फरार चल रहा था। खुफिया रिपोर्ट्स के अनुसार खानपुरिया देश छोड़कर फरार हो गया था। फरार आतंकवादी बैंकाक से भारत आया था। 18 नवम्बर को बैंकाक से भारत आई दिल्ली फ्लाइट में वह था। दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरते ही उसे एनआईए ने अरेस्ट कर लिया। सोमवार को उसके अरेस्ट होने की एनआईए (National Investigating Agency) ने जानकारी दी है।

कश्मीर में काम कर रहे पत्रकारों को धमकी

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े द रेजिस्टेंस फ्रंट ने कश्मीर में काम कर रहे पत्रकारों को धमकी दी थी। इस मामले में पुलिस ने 12 नवंबर को केस दर्ज किया था। पुलिस ने लश्कर-ए-तैयबा और द रेजिस्टेंस फ्रंट के हैंडलर्स को आरोपी बनाया है। टीआरएफ ने देशद्रोह करने और फासीवादी भारतीय शासन के साथ सांठगांठ करने का आरोप लगाकर कश्मीर के कुछ मीडिया घरानों को ऑनलाइन धमकी दी थी। धमकी मिलने के बाद कई पत्रकारों ने इस्तीफा दे दिया था। Read full story...

यह भी पढ़ें:

AAP विधायक गुलाब सिंह को कार्यकर्ताओं ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, वीडियो शेयर कर बीजेपी ने कसा तंज

राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई के खिलाफ SC में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी कांग्रेस, केंद्र भी पहुंचा

पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख बनने के लिए इन 5 लोगों में मुकाबला, जनरल बाजवा 29 नवंबर को उतारेंगे वर्दी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios