Asianet News Hindi

डॉगी के दिल में लगाया गया पेसमेकर, भारत में अपनी तरह का पहला मामला

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में साढ़े सात साल की कॉकर स्पेनियल नस्ल की कुत्ते के दिल में पेस मेकर लगाया गया है पशु चिकित्सकों का कहना है कि यह देश में किसी पशु का इस तरह का पहला ऑपरेशन है

Pacemaker was planted in Dog heart the first case of its kind in India kpm
Author
New Delhi, First Published Feb 9, 2020, 6:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में साढ़े सात साल की कॉकर स्पेनियल नस्ल की कुत्ते के दिल में पेस मेकर लगाया गया है। पशु चिकित्सकों का कहना है कि यह देश में किसी पशु का इस तरह का पहला ऑपरेशन है।

दिल्ली के एक निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि ‘खुशी’ नाम की कुत्ते के दिल में बच्चों को लगाया जाने वाला पेसमेकर फिट किया गया है। यह ऑपरेशन इसलिए किया गया है कि खुशी के दिल की हालत बहुत खराब हो गई थी और दिल की धड़कन 20 बीट प्रति मिनट तक गिर गई थी, जबकि सामान्य तौर पर यह 60-120 होनी चाहिए।

ग्रेटर कैलाश स्थित निजी अस्पताल के डॉ भानू देव शर्मा ने कहा, “उसका दिल उस गति से नहीं धड़क रहा था जो ह्रदय के सामान्य तौर पर काम करने लिए ज़रूरी होता है। दिल से निकलने वाले रक्त की मात्रा भी खासी घट गई थी और खुशी कई बार बेहोश भी हो गई थी।”

उन्होंने बताया कि पिछले साल फरवरी में कान के ऑपरेशन के दौरान वह मरने को थी, लेकिन डॉक्टरों ने उसे बचा लिया था। इसके बाद खुशी को निगरानी में रखा गया और ईसीजी से पता चला कि रूकावट के कारण उसका दिल ठीक से काम नहीं कर रहा था।

डॉक्टर भानू और डॉक्टर कुणाल देव शर्मा ने इस मामले को लेकर यूरोपीय सहयोगियों के साथ चर्चा की और कुत्ते के दिल में पेसकर लगाने के लिए ऑपरेशन की योजना बनाई। ऐसा ऑपरेशन भारत में पहले कभी नहीं हुआ था।

पिछले साल 15 दिसंबर को उसके दिल में पेसमेकर लगाया गया था। इस ऑपरेशन में डेढ़ घंटे का वक्त लगा था।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios