Asianet News Hindi

पद्म पुरस्कार के लिए इस पोर्टल पर करें अप्लाई, लास्ट डेट-15 सितंबर, मोदी की अपीलः असली हीरोज को मिले अवार्ड

हर साल गणतंत्र दिवस पर पद्म पुरस्कारों को दिया जाता है। वर्ष 1954 में शुरू किए गए इन पुरस्कारों के जरिए विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के ‘उत्कृष्ट कार्य या योगदान’ को सराहा जाता है। ये पुरस्कार सभी क्षेत्रों/विषयों में विशिष्ट एवं असाधारण उपलब्धियों/सेवा के लिए प्रदान किए जाते हैं।

Padma Awards nominations till 15th September, Know all about nominations and eligibility DHA
Author
New Delhi, First Published Jul 14, 2021, 5:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। किसी भी क्षेत्र में अगर आप या आपका कोई जानने वाला कुछ विशिष्ट कर रहा जो समाज की प्रगति में सहायक बन रहा या बदलाव का वाहक बन रहा तो भारत सरकार के इन पुरस्कारों के हकदार हो सकते हैं। गणतंत्र दिवस-2022 के अवसर पर घोषित किए जाने वाले पद्म पुरस्कारों (पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री) के लिए ऑनलाइन नामांकन/नामिनेशन चल रहा है। 15 सितंबर तक पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन कर सकते हैं। 

ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

पद्म पुरस्कारों के लिए अपना नामांकन या किसी अन्य व्यक्ति का नामिनेशन करने के लिए पद्म पुरस्कार पोर्टल https://padmaawards.gov.in पर लागिन करना होगा। यहां डिटेल भरने के बाद आपका आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा। फिर पैनल इन आवेदनों पर विचार करता है। 

आजाद भारत में शुरू किया गया था सम्मान

हर साल गणतंत्र दिवस पर पद्म पुरस्कारों को दिया जाता है। वर्ष 1954 में शुरू किए गए इन पुरस्कारों के जरिए विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के ‘उत्कृष्ट कार्य या योगदान’ को सराहा जाता है। ये पुरस्कार सभी क्षेत्रों/विषयों जैसे कि कला, साहित्य एवं शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान व इंजीनियरिंग, लोक कार्य, सिविल सेवा, व्यापार और उद्योग, इत्यादि में विशिष्ट एवं असाधारण उपलब्धियों/सेवा के लिए प्रदान किए जाते हैं। जाति, पेशा, पद या महिला-पुरुष के आधार पर भेदभाव किए बिना ही सभी व्यक्ति ये पुरस्कार पाने के पात्र हैं। डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़ सार्वजनिक उपक्रमों में कार्यरत लोगों सहित समस्त सरकारी कर्मचारी पद्म पुरस्कारों के लिए पात्र नहीं हैं।

पीएम मोदी ने की पद्म पुरस्कारों को ‘जन पद्म’ में तब्दील की अपील

मोदी सरकार पद्म पुरस्कारों को ‘जन पद्म’ के रूप में तब्दील करने के लिए आमजन से लगातार इस पुरस्कार के लिए नामिनेशन मांग रही है। बीते दिनों पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर लोगों से नामिनेशन करने की अपील की थी। 

उपलब्धियों का भी विवरण देना होगा

पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन/अनुशंसा में वे सभी संबंधित विवरण शामिल होने चाहिए जो पोर्टल पर प्रारूप में दिया गया है। इसमें एक ब्रीफ भी अधिकतम 800 शब्द का हो। 

यह भी पढ़ें: 

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल बोले- 70 के दशक में नसबंदी का विरोध नहीं होता तो जनसंख्या नियंत्रित रहती

पीएम मोदी की सख्ती के बाद सक्रिय हुआ गृह मंत्रालयः राज्यों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश

FactChek: गुजरात में आप का नमाज पढ़ने वाला पोस्टर ! जानिए क्या है सच्चाई

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios