Asianet News Hindi

Fact Check: गुजरात में आप का नमाज पढ़ने वाला पोस्टर ! जानिए क्या है सच्चाई

आम आदमी पार्टी के चीफ अरविंद केजरीवाल की एक होर्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल है। इस होर्डिंग में कथित तौर पर गुजरात के लोगों से हिंदू परंपराओं को छोड़ने का आह्वान किया गया है।

AAP morphed billboard in Gujrat viral on social media, Know the facts DHA
Author
New Delhi, First Published Jul 13, 2021, 4:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के चीफ अरविंद केजरीवाल की एक होर्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल है। इस होर्डिंग में कथित तौर पर गुजरात के लोगों से हिंदू परंपराओं को छोड़ने का आह्वान किया गया है।
गुजराती भाषा के इस होर्डिंग पर लिखा है, ‘गुजरात नमाज पढ़ेगा और लोगों को भागवत कथा सप्ताह और सत्यनारायण कथा जैसी ‘बेकार परंपराओं‘ को छोड़ देना चाहिए।‘ 
होर्डिंग पर केजरीवाल के साथ गुजरात के आप नेता और एक प्रसिद्ध पत्रकार इसुदान गढ़वी की तस्वीर है। दाढ़ी और टोपी के साथ एक तीसरा अज्ञात व्यक्ति भी पोस्टर का हिस्सा है।
इस तस्वीर को ब्लू टिक वाले कई सोशल मीडिया यूजर्स ने इस दावे के साथ शेयर किया कि आम आदमी पार्टी गुजरात में सांप्रदायिकता फैला रही है।

यह है सच्चाई

सोशल मीडिया पर शेयर किया गया आम आदमी पार्टी का पोस्टर पूरी तरह से मार्फ किया गया है। हकीकत यह है कि मूल पोस्टर में कोई भी सांप्रदायिक संदेश नहीं है। न ही किसी धर्म के बारे में कुछ कहा गया है। 
आम आदमी पार्टी के मूल पोस्टर पर लिखा है ‘अब गुजरात बदल जाएगा‘। इसके अलावा, केजरीवाल और गढ़वी के साथ, एक अन्य नेता गोपाल इटालिया भी पोस्टर का हिस्सा थे। इसे पार्टी की मेहसाणा विंग ने 25 जून को ट्वीट किया था। कुछ शरारती तत्वों ने सांप्रदायिक उन्माद के लिए सोशल मीडिया पर पोस्टर की खाली जगह का इस्तेमाल हिंदू पूजा परंपराओं का उपहास करते हुए अतिरिक्त पाठ लिखने के लिए किया गया है।

यह भी पढ़े: 

महामारी से बेहाल किसान-मजदूर, भूखमरी से बचने को किडनी बेचने को हुए मजबूर, मोरीगांव में 30 ने बेची किडनी

'ग्रेवयार्ड ऑफ एम्पायर' बन चुके अफगानिस्तान में सबकुछ ठीक न करना 'महाशक्ति' की विफलता

लोकसभा मानसून सत्रः 19 दिनों तक चलेगा सदन, 18 जुलाई को आल पार्टी मीटिंग

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios