Asianet News HindiAsianet News Hindi

एड इंजीनियर के रूप में पराग ने Twitter में शुरू किया था काम, 10 साल में बने CEO

पराग अग्रवाल ने एड इंजीनियर के रूप में 2011 से ट्विटर में काम शुरू किया था। 10 साल में वह कंपनी के सीईओ बन गए। वह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के एक्सपर्ट हैं। 

Parag Agrawal Twitter CEO IIT Bombay Graduate
Author
New Delhi, First Published Nov 30, 2021, 1:39 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) के छात्र रहे पराग अग्रवाल (Parag Agrawal) को माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट Twitter का CEO बनाया गया है। पराग ने एड इंजीनियर के रूप में 2011 से ट्विटर में काम शुरू किया था। 10 साल में उन्होंने कंपनी के सीईओ पद पर पहुंचने में कामयाबी पाई है। 

अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी करने वाले पराग ट्विटर से जुड़ने से पहले याहू और माइक्रोसॉफ्ट में काम कर चुके थे। उन्होंने ट्विटर में एड-रिलेटेड प्रोडक्ट्स पर काम से शुरुआत की थी। बाद में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करने लगे। पराग आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के एक्सपर्ट हैं। इसके साथ ही उन्हें एड नेटवर्क में भी महारत हासिल है।

2017 में CTO बने थे पराग
अक्टूबर 2017 में ट्विटर ने उन्हें कंपनी का चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर (CTO) बनाया था। वह ट्विटर की टेक्निकल स्ट्रैटेजी का काम संभालते आए हैं। सीटीओ के रूप में पराग ट्विटर की तकनीकी रणनीति, उपभोक्ता और एआई की देखरेख का काम देखते थे। पराग ट्विटर के ब्लूस्की का नेतृत्व कर रहे थे, जिसका उद्देश्य इंटरनेट मीडिया के लिए एक खुला और विकेंद्रीकृत मानक बनाना था।

ट्विटर का नया सीईओ चुने जाने पर पराग ने ट्वीट किया कि मैं सम्मानित और शुक्रगुजार हूं और मैं आपकी (जैक डार्सी) निरंतर सलाह और दोस्ती के लिए आभारी हूं। मैं आपके द्वारा बनाई गई इस सेवा और उद्देश्य के लिए आभारी हूं, जिन्होंने महत्वपूर्ण चुनौतियों के बीच कंपनी का नेतृत्व किया।

ये भी पढ़ें

Twitter: पराग अग्रवाल होंगे नए CEO, को-फाउंडर जैक डोर्सी ने छोड़ा पद

बेटी की शादी में सुप्रिया सुले संग थिरके संजय राउत, वीडियो हो गया वायरल

Rajya Sabha के 12 सांसदों का निलंबन हो सकता है वापस, सभापति एम.वेंकैया नायडु से मिलेंगे निलंबित MP

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios