Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजपथ की मानसिकता अब कर्तव्य पथ में बदलना चाहिए...पीएम मोदी का IAS अधिकारियों से आह्वान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के विकास में जनधन योजना का भी योगदान है। दुनिया में सबसे मजबूत डिजिटल अर्थव्यवस्था के रूप में हम उभरे हैं। अधिकारियों को यह प्रयास करना होगा कि गांव के लोग डिजिटल अर्थव्यवस्था और यूपीआई से जुडे़ं। उन्होंने कहा कि 'राजपथ' की मानसिकता अब 'कर्तव्य पथ' की भावना में बदल गई है।

PM Modi addresses IAS officers of 2020 batch, Prime Minister speech between IAS officers, DVG
Author
First Published Oct 6, 2022, 8:55 PM IST

PM Modi addresses IAS officers: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को आईएएस अधिकारियों के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि अमृत काल में एक विकसित भारत के लक्ष्य की प्राप्ति सुनिश्चित करने में अधिकारियों की अहम भूमिका है। आईएएस अधिकारी लीक से हटकर चिंतन करके अपने प्रयासों में समग्र दृष्टिकोण से देश की सेवा कर विकास में अहम योगदान दे सकते हैं।
पीएम मोदी, नई दिल्ली में सुषमा स्वराज भवन में सहायक सचिव पाठ्यक्रम 2022 के समापन सत्र में 2020 बैच के आईएएस अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

प्रधानमंत्री ने बताया इनोवेशन का महत्व

पीएम मोदी ने इनोवेशन का महत्व आईएएस अधिकारियों को समझाया। उन्होंने बताया कि इनोवेशन किस तरह सामूहिक प्रयास और देश में कार्य संस्कृति का हिस्सा बन गया है। स्टार्ट-अप इंडिया स्कीम के बारे में चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कैसे पिछले कुछ वर्षों में देश में स्टार्टअप्स की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि यह कई मंत्रालयों के एक साथ आने और 'संपूर्ण सरकार' वाले दृष्टिकोण के माध्यम से एक टीम के रूप में काम करने के कारण संभव हुआ है।

अधिकारी कार्यक्षेत्र की स्थानीय संस्कृतिक की समझ विकसित करें

पीएम मोदी ने कहा कि पहले केंद्रीय शासन का सारा ध्यान केवल दिल्ली पर ही केंद्रित रहता था लेकिन अब देश के सभी केंद्रों पर बराबर का ध्यान दिया जा रहा है। विकास का पहिया हर क्षेत्र तक पहुंच रहा है। दिल्ली से लेकर गांव के कोने-कोने, पूर्वोत्तर के हिस्सों तक विकास का पहिया घूम रहा है। विकास की किरण उन क्षेत्रों में पहुंची जहां अभी तक किन्हीं सरकारों का ध्यान नहीं गया। प्रधानमंत्री ने सुझाव दिया कि अधिकारी कार्य क्षेत्र की स्थानीय संस्कृति की समझ विकसित करें और जमीनी स्तर पर स्थानीय लोगों के साथ अपने संबंध को मजबूत करें। उन्होंने उन्हें एक जिला एक उत्पाद पर ध्यान केंद्रित करने और अपने जिले के उत्पादों के निर्यात के अवसरों का पता लगाने के लिए कहा। उन्होंने अधिकारियों से आकांक्षी जिला कार्यक्रम के लिए अपनी कार्य योजना तैयार करने को भी कहा। उन्होंने कहा कि मनरेगा को गांव स्तर पर प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए काम करने की जरूरत है।

गांवों को डिजिटल अर्थव्यवस्था से जोड़ें...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के विकास में जनधन योजना का भी योगदान है। दुनिया में सबसे मजबूत डिजिटल अर्थव्यवस्था के रूप में हम उभरे हैं। अधिकारियों को यह प्रयास करना होगा कि गांव के लोग डिजिटल अर्थव्यवस्था और यूपीआई से जुडे़ं। उन्होंने कहा कि 'राजपथ' की मानसिकता अब 'कर्तव्य पथ' की भावना में बदल गई है।

2020 बैच के 175 आईएएस अधिकारियों को मिली है तैनाती

इस वर्ष 2020 बैच के कुल 175 आईएएस अधिकारियों को भारत सरकार के 63 मंत्रालयों/विभागों में 11 जुलाई 2022 से 07 अक्टूबर 2022 तक सहायक सचिव के रूप में तैनात किया गया है। इन अधिकारियों के प्रशिक्षण सत्र का आयोजन किया गया था। पीएम मोदी कार्यक्रम के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: 

विश्वबैंक ने विकास दर 7.5% से घटाकर 6.5% किया लेकिन दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले भारत की स्थिति बेहतर

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के सामने आई भैंसें, अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त, बड़ा हादसा टला

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर आपत्तिजनक कमेंट करने पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने उदित राज को भेजा नोटिस

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios