Asianet News HindiAsianet News Hindi

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के सामने आई भैंसें, अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त, बड़ा हादसा टला

रेलवे ने बताया कि इंजन का अगला हिस्सा थोड़ा क्षतिग्रस्त हुआ है। तीन-चार भैसें तेज गति से आ रही ट्रेन के सामने आ गई जिससे उसका अगला हिस्सा टूट गया। इससे एफआरपी (fibre-reinforced plastic) से बनी नोज को नुकसान पहुंचा। ट्रेन शवों को हटाने के बाद ही चली और समय पर गांधीनगर पहुंच गई।

Vandhe Bharat express Mumbai central Gandhinagar met accident after hitting buffaloes in Gujarat, DVG
Author
First Published Oct 6, 2022, 6:54 PM IST

Vandhe Bharat express accident: महाराष्ट्र से गुजरात की राजधानियों को जोड़ने के लिए चलाई गई वंदे भारत ट्रेन गुरुवार को मामूली एक्सीडेंट का शिकार हो गई। भैंसों के झुंड से टकराने से यह हादसा हुआ। हालांकि, इस ट्रेन की वजह से कोई हताहत होने की सूचना नहीं है बल्कि ट्रेन को मामूली क्षति पहुंची है। मुंबई सेंट्रल से गांधीनगर तक चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को पीएम मोदी ने लांच किया था। 

एक्सीडेंट में किसी के घायल नहीं होने की सूचना

रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि गुरुवार को गुजरात में भैंसों के झुंड से टकराने के बाद नई लॉन्च की गई मुंबई सेंट्रल-गांधीनगर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को मामूली नुकसान हुआ। उन्होंने बताया कि गैरतपुर और वटवा स्टेशनों के बीच सुबह करीब 11.15 बजे हुई इस घटना में कोई यात्री घायल नहीं हुआ। पश्चिमी रेलवे के प्रवक्ता जितेंद्र कुमार जयंत ने बताया कि मुंबई सेंट्रल और गांधीनगर कैपिटल स्टेशनों के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस गुरुवार की सुबह मुंबई से रवाना हुई थी। सुबह करीब 11.15 बजे ट्रैक पर आई कुछ भैंसों से टकराने के बाद ट्रेन के इंजन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। यह घटना दिल्ली के वटवा और अहमदाबाद के मणिनगर इलाकों के बीच हुई। उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत की गई और ट्रेन को गांधीनगर स्टेशन भेजा गया। ट्रेन गांधीनगर कैपिटल स्टेशन से अपने निर्धारित समय पर मुंबई के लिए रवाना हुई। 

फाइबर वाला हिस्सा थोड़ा हुआ डैमेज

रेलवे ने बताया कि इंजन का अगला हिस्सा थोड़ा क्षतिग्रस्त हुआ है। तीन-चार भैसें तेज गति से आ रही ट्रेन के सामने आ गई जिससे उसका अगला हिस्सा टूट गया। इससे एफआरपी (fibre-reinforced plastic) से बनी नोज को नुकसान पहुंचा। ट्रेन शवों को हटाने के बाद ही चली और समय पर गांधीनगर पहुंच गई। रेलवे अधिकारी आस-पास के ग्रामीणों को सलाह देकर जागरूक कर रहे हैं कि वे मवेशियों को ट्रैक के पास न छोड़ें। इससे मवेशियों के साथ-साथ ट्रेनों को नुकसान पहुंच रहा है। इस तरह की लापरवाहियों से जानमाल को भी नुकसान पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ें: 

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर आपत्तिजनक कमेंट करने पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने उदित राज को भेजा नोटिस

कुल्लू अंतरराष्ट्रीय दशहरा महोत्सव में पीएम मोदी ने कहा-दुनिया हमारे भारतीय समाज व जीवन को देखने को लालायित

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios