Asianet News HindiAsianet News Hindi

मोदी ने की वीर बाल दिवस की घोषणा, हरनाम सिंह खालसा बोले - पहली बार किसी सरकार ने साहिबजादों को श्रद्धांजलि दी

पीएम मोदी ने कहा-  आज, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर, मुझे यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि इस वर्ष से, 26 दिसंबर को 'वीर बाल दिवस' के रूप में मनाया जाएगा।

PM Modi announced 26th December shall be marked as Veer Baal Diwas pwt
Author
New Delhi, First Published Jan 9, 2022, 12:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. गुरु प्रकाश पर्व (Prakash Parva 2022) के मौके पर पीएम मोदी (PM Modi) ने बड़ी घोषणा की है। गुरु गोविंद सिंह के साहिबजादों की शहादत को पीएम मोदी का नमन करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने बताया कि  इस साल से हर 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस (Veer Baal Diwas) के रूप में मनाया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा-  आज, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर, मुझे यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि इस वर्ष से, 26 दिसंबर को 'वीर बाल दिवस' के रूप में मनाया जाएगा। यह साहिबजादों के साहस के लिए एक उपयुक्त श्रद्धांजलि है। 

पीएम मोदी ने कहा- 'वीर बाल दिवस' उसी दिन होगा जिस दिन साहिबजादा जोरावर सिंह जी और साहिबजादा फतेह सिंह जी एक दीवार में जिंदा चुनवा दिया गया था। इन दोनों महानुभावों ने धर्म के महान सिद्धांतों से विचलित होने के बजाय मृत्यु को प्राथमिकता दी। पीएम मोदी ने कहा- माता गुजरी, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी और 4 साहिबजादों की वीरता और आदर्श लाखों लोगों को शक्ति देते हैं। वे अन्याय के आगे कभी नहीं झुके। उन्होंने एक ऐसी दुनिया की कल्पना की जो समावेशी और सामंजस्यपूर्ण हो। अधिक से अधिक लोगों को इनके बारे में जानना समय की मांग है।
 
दमदमी टकसाल के मुखिया बोले- मोदी ने पूरा किया कर्तव्य 
प्रधानमंत्री की इस घोषणा को लेकर दमदमी टकसाल के मुखिया हरनाम सिंह खालसा ने नरेंद्र मोदी की सराहना की है। उन्होंने कहा कि 325 साल में किसी भी भारतीय सरकार ने साहिबजादों की शहादत को श्रद्धांजलि देने के बारे में नहीं सोचा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपना कर्तव्य पूरा किया। यह बहुत ही काबिले तारीफ है।

क्या है इतिहास
गुरु गोविंद सिंह ने हिंदू धर्म की रक्षा के लिए अपनी चारों संतानों को देश पर कुर्बान कर दिया। गुरु गोविंद सिंह के साहिबजादे अजीत सिंह की आयु बलिदान के वक्त 18 और जुझार सिंह की 15 वर्ष थी। 26 दिसंबर को ही दोनों साहिबजादे मुगलों के साथ लड़ते हुए चमकौर में धर्म की रक्षा के लिए शहीद हो गए थे। दो छोटे साहिबजादों नौ वर्ष के जोरावर सिंह और छह वर्ष के फतेह सिंह को धर्म परिवर्तन न करने के कारण मुगल बादशाह औरंगजेब के हुक्म पर 28 दिसंबर को दीवार में चुनवा दिया गया था।

प्रकाश पर्व की दी बधाई
पीएम मोदी ने इससे पहले प्रकाश पर्व की बधाई दी। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा- श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व की बधाई। उनका जीवन और संदेश लाखों लोगों को शक्ति देता है। मैं इस तथ्य को हमेशा संजोकर रखूंगा कि हमारी सरकार को उनके 350वें प्रकाश उत्सव को मनाने का अवसर मिला है। उस समय की मेरी पटना यात्रा की कुछ झलकियां साझा कर रहा हूं। बता दें कि गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व के मौके पर मोदी पटना में थे।

इसे भी पढ़ें- Guru Prakash Parv: पीएम ने ट्वीट कर कहा- मैं इस तथ्य को संजो कर रखूंगा, दिल्ली में गुरुद्वारा जाने की छूट

COVID-19: समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करेंगे PM Modi, तेजी से फैल रही है तीसरी लहर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios