Asianet News HindiAsianet News Hindi

उज्ज्वला-2 के शुभारंभ पर बोले मोदी-'घर-बिजली-शौचालय व गैस के लिए दशकों इंतजार करना पड़ा; ये दु:खद है'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के महोबा में LPG कनेक्शन सौंपकर उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण (प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना-PMUY) का शुभारंभ किया। Ujjwala scheme में BPL को मुफ्त कनेक्शन मिलता है। 

PM Modi launched the second phase of Ujjwala scheme from Uttar Pradesh
Author
New Delhi, First Published Aug 10, 2021, 8:03 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गरीब परिवारों के लिए चलाई जा रही उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण (प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना-PMUY) का शुभारंभ किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश के महोबा में गरीब परिवारों को LPG कनेक्शन सौंपकर योजना की शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने लाभार्थियों से बातचीत की और राष्ट्र को संबोधित किया। कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुआ। इस अवसर पर केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहे। बता दें कि पेट्रोलियम मंत्रालय उज्ज्वला योजना (Ujjwala scheme) के तहत गरीबी रेखा से नीचे (BPL) के लोगों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन देता है।

पहले की सरकारों पर कहा
मोदी ने कहा-हम बीते साढ़े 7 दशकों की प्रगति को देखते है, तो हमें लगता है कि कुछ स्थितियां और हालात ऐसे हैं, जिनको कई दशक पहले बदला जा सकता था। घर, बिजली, पानी, शौचालय, गैस, सड़क, अस्पताल, स्कूल, ऐसी अनेक मूल आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए देशवासियों को दशकों इंतज़ार करना पड़ा, ये दुखद है।

ओलंपिक खेल का किया जिक्र
मोदी ने कहा-देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार का नाम अब मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार हो गया है। मुझे पूरा विश्वास है कि ओलंपिक में हमारे युवा साथियों के अभूतपूर्व प्रदर्शन के बीच खेल रत्न के साथ जुड़ा दद्दा ध्यानचंद का ये नाम लाखों-करोड़ों युवाओं को प्रेरित करेगा।

उज्जवला योजना ने महिलाओं का जीवन रोशन किया
मोदी ने कहा-उज्ज्वला योजना ने देश के जितने लोगों और महिलाओं का जीवन रोशन किया है, वो अभूतपूर्व है। ये योजना 2016 में उत्तर प्रदेश के बलिया से आजादी की लड़ाई के अग्रदूत मंगल पांडे की धरती से शुरू हुई थी। आज उज्ज्वला का दूसरा संस्करण भी उत्तर प्रदेश के ही महोबा की वीरभूमि से शुरू हो रहा है।

मोदी ने किया संवाद
प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे पहले उत्तराखंड की रहने वाली बूंदी देवी से बातचीत की। बूंदी देवी ने उन्हें बताया कि कैसे उज्जवला योजना से मिले गैस कनेक्शन ने उनकी जिंदगी बदल दी। अब उनका समय बच जाता है और वे अपने बीमार पिता की देखभाल कर पाती हैं।

  https://t.co/nZoTjalOGk

हरदीप सिंह पुरी ने कहा
उज्ज्वला 2.0 योजना में उन प्रवासी मज़दूरों के लिए विशेष प्रावधान किया गया है, जो पहले पते के प्रमाण के अभाव में इस योजना से वंचित रह गए थे। अब एलपीजी कनेक्शन प्राप्त करने के लिए प्रवासी मज़दूरों को राहत दी गई है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने कहा
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 6 साल पहले बलिया जिले से उज्जवला योजना के पहले चरण की शुरुआत हुई थी। इसके तहत पूरे देश में करीब 8 करोड़ लोगों को मुफ्त में गैस कनेक्शन दिया गया। इस योजना से ग्रीन योजना के क्षेत्र में लोगों के जीवन में बड़ा परिवर्तन आया है। इससे पर्यावरण संरक्षण के साथ महिलाओं की गरिमा और उनके स्वास्थ्य की भी रक्षा हुई है।

उज्ज्वला 1.0 से उज्ज्वला 2.0 तक की यात्रा
वर्ष 2016 में शुरू की गई उज्ज्वला योजना 1.0 के दौरान गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले परिवारों की 5 करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था। इसके बाद अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार कर इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभार्थियों को शामिल किया गया। साथ ही, इसके लक्ष्य को संशोधित कर 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन कर दिया गया। इस लक्ष्य को निर्धारित तिथि से सात महीने पहले अगस्त 2019 में ही हासिल कर लिया गया।

एक करोड़ अतिरिक्त LPG कनेक्शन जोड़े गए
वित्तीय वर्ष 21-22 के केन्द्रीय बजट में पीएमयूवाई योजना के तहत एक करोड़ अतिरिक्त एलपीजी कनेक्शन के प्रावधान की घोषणा की गई थी। इन एक करोड़ अतिरिक्त पीएमयूवाई कनेक्शन (उज्ज्वला 2.0 के तहत) का उद्देश्य कम आय वाले उन परिवारों को जमा-मुक्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है, जिन्हें पीएमयूवाई के पहले चरण के तहत शामिल नहीं किया जा सका था।

उज्ज्वला 2.0 के बारे में जानें
उज्ज्वला 2.0 के तहत लाभार्थियों को जमा मुक्त एलपीजी कनेक्शन के साथ  पहला रिफिल और हॉटप्लेट निःशुल्क प्रदान किया जाएगा। साथ ही, इसमें नामांकन की प्रक्रिया के लिए न्यूनतम कागजी कार्रवाई की जरूरत होगी। उज्ज्वला 2.0 में प्रवासियों को राशन कार्ड या निवास प्रमाण पत्र जमा करने की जरूरत नहीं होगी। ‘पारिवारिक घोषणा’ और ‘निवास  प्रमाण’, दोनों, के लिए स्वयं द्वारा एक घोषणा पर्याप्त है। उज्ज्वला 2.0 एलपीजी तक सभी की पहुंच के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को साकार करने में मदद करेगी।

कैसे लिया जा सकता है इस योजना का लाभ
इस योजना का लाभ लेने के लिए पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन लेने के लिए बीपीएल (BPL) परिवार की कोई महिला अप्लाई कर सकती है। इस योजना से जुड़ी आधिकारिक वेबसाइट pmujjwalayojana.com पर जाकर इसके बारे में पूरी जानकारी ली सकती है। रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए सबसे पहले एक फॉर्म भरकर नजदीकी LPG वितरक के पास जमा करवाना होता है। फॉर्म में महिला को अपना पूरा पता, जनधन बैंक अकाउंट और परिवार के सभी सदस्यों का आधार नंबर भी देना होता है। इसके बाद ऑयल मार्केटिंग कंपनियां योग्य लाभार्थी को LPG कनेक्शन जारी करती हैं।

यह भी पढ़ें
PM-KISAN: मोदी ने किसानों से कहा-'हमें तय करना है कि अगले 25 वर्षों में भारत को कहां देखना चाहते हैं'
जानें क्या है सिल्वर लाइन प्रोजेक्ट: केरल सरकार खर्च करेगी 63,941 Cr., 11 जिले-529.45 km सिर्फ 3.52 घंटे में
Prevent Third wave of Covid-19 अप्रैल-मई के दौर से बचने के लिए हमें जागरूक रहना होगाः राजीव चंद्रशेखर

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios