Asianet News Hindi

मन की बात वाले पी.गुरुप्रसाद से एक्सक्लूसिव बातचीत, जानें क्या कहा पीएम मोदी और तमिल लोगों के रिश्तों को लेकर

'मन की बात' का हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित किया जाता है। 

PM Modi 's monthly radio programme 'Man ki baat', Know all about DHA
Author
New Delhi, First Published Jun 27, 2021, 8:38 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। पीएम मोदी की ‘मन की बात’ में देश के कोने-कोने में लोगों के प्रयासों का जिक्र होता है। पीएम मोदी ने तमिलनाडु और तमिल इतिहास, कला, महापुरूषों के योगदान पर भी कई एपिसोड्स में लगातार बात की है। तमिलनाडु पर किए गए बातों पर चेन्नई के पी.गुरुप्रसाद इतना प्रभावित हुए कि उन्होंने इसको ई-बुक की शक्ल दे दी। 

आज पीएम मोदी ने पी.गुरुप्रसाद का जिक्र मन की बात में किया है। एशियानेट न्यूज हिंदी से बातचीत करते हुए पी.गुरुप्रसाद ने बताया कि पीएम के वह अभारी हैं कि उनका जिक्र किया। आज मन की बात में अपना नाम सुना तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उन्होंने कहा कि पीएम ने मन की बात के कई एपिसोड्स में तमिलियन और तमिलनाडु के गौरव से जुड़ी बातों का जिक्र कर हर तमिल का मान बढ़ाया है।
पी.गुरुप्रसाद ने बताया कि वह एक रिसर्चर हैं। पीएम ने तमिल लोगों को इससे सम्मान दिया है इसलिए उन्होंने उनकी तमिलनाडु पर किए गए बातों को ई-बुक में संग्रहित करने का फैसला किया।

पीएम मोदी ने टोक्यो ओलंपिक को लेकर की अपील

पीएम मोदी ने रविवार को मन की बात में टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे खिलाड़ियों का हौसला आफजाई किया और लोगों से उनका मनोबल बढ़ाने की अपील की। पीएम मोदी ने अपील किया कि सभी लोग रोड टू टोक्यो क्विज में भाग लें और ओलंपिक के बारे में जाने। भारतीय खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाएं। पीएम ने वैक्सीन को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों पर बात करने के साथ साथ जलसंरक्षण और इस दिशा में काम करने वाले लोगों का जिक्र कर सबको सीखने के लिए प्रेरित किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रेडियो के अपने मंथली प्रोग्राम ‘मन की बात’ को संबोधित कर रहे थें।

वैक्सीन को लेकर अफवाहों पर गांव के लोगों से बात की

पीएम ने बताया कि वैक्सीन लगाने को लेकर तमाम तरह के अफवाह फैलाए जा रहे हैं। लेकिन सच्चाई यह है कि वैक्सीन ही कोविड-19 का उपाय है। उन्होंने वैक्सीन को लेकर गांवों में उहापोह की स्थितियों का जिक्र किया। पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के बैतुल जिला के डुलारिया गांव के कुछ लोगों से बातचीत कर उनकी वैक्सीन को लेकर झिझक को समाप्त किया। पीएम मोदी को डुलारिया के राजेश ने बताया कि सोशल मीडिया पर वैक्सीन को लेकर तमाम बातें कहीं जा रही है। बुखार आने से लेकर मौत तक की बात हो रही है। इसलिए उन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाया।
पीएम मोदी ने राजेश से वैक्सीन पर बात करते हुए अपना उदाहरण दिया कि वह खुद वैक्सीन तो लगवाएं ही हैं उनकी 100 साल से अधिक उम्र की मां ने भी वैक्सीन लगवा लिया है। बताया कि कहीं डर की बात नहीं है। राजेश को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने के साथ गांव में अधिक से अधिक वैक्सीनेशन के लिए अन्य लोगों को प्रेरित करने की भी अपील की। इसके बाद राजेश के ही गांव के किशोरीलाल दूर्वे की भी वैक्सीन को लेकर झिझक को पीएम ने समाप्त किया।

पीएम ने की कश्मीर और नागालैंड के कुछ गांवों की तारीफ

पीएम मोदी ने शत प्रतिशत वैक्सीनेशन वाले जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरागांव की तारीफ मन की बात में की है। उन्होंने कहा कि यहां के गांववालों ने एक दूसरे को जागरूक कर 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन कराया है। इसी तरह नागालैंड के तीन गांवों में भी लोगों ने पहल कर 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन कंप्लीट कर लिया है। 

जलसंरक्षण का दिया मंत्र, जलपुरुषों की तारीफ कर प्रेरित किया

पीएम मोदी ने मानसून का जिक्र करते हुए कहा कि मानसून केवल हमारे लिए ही नहीं बरसते है, हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए यह भी बरसते हैं। इसका पानी जमीन के अंदर एकत्र भी होता है और जल स्तर भी बढ़ाता है। पीएम ने उत्तराखंड के सच्चिदानंद भारती, जोकि पौढ़ी गढ़वाल के रहने वाले हैं, का जलसंरक्षण को लेकर किए जा रहे काम की तारीफ की। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने क्षेत्र में मेहनत के बल पर जल का बड़ा संकट दूर किया। पहाड़ों में पारंपरिक तरीके से जल संरक्षण की एक विधि अपनाई जाती है जालखाड़। श्री भारती ने इस तरीके में कुछ नया करते हुए यहां के जलसंकट को दूर किया। पीएम ने बताया कि पौढ़ी गढ़वाल क्षेत्र के सच्चिदानंद भारती ने 30 हजार से अधिक छोटे-बड़े तालाब बनवा कर जलसंरक्षण केलिए अभूतपूर्व काम किया। 
यूपी के बांदा क्षेत्र में ‘खेत का पानी खेत में और गांव का पानी गांव में’ अभियान की भी पीएम मोदी ने तारीफ की है।

वनस्पतियों के संरक्षण पर पारितोष की बातों को सराहा

पीएम मोदी ने नैनीताल के पारितोष द्वारा गिलोय के गुणों पर जानकारी और पूरे देश में हर क्षेत्र में बेशकीमती औषधीय गुणों वाले पौधों की पहचान के सुझाव पर बात की। पीएम ने अपील की कि हमारे आसपास बहुत से औषधीय पौधे हैं जिनकी महत्ता से हम अनजान हैं, उनकी पहचान कर हमको संरक्षित करना चाहिए। 
पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के रामलोटन कुशवाहा के बीजों और पौधों के बीजों के संग्रह वाले देसी म्यूजियम की भी तारीफ अपने मन की बात कर सबको ऐसा करने केलिए प्रेरित किया। 

नेशनल डाॅक्टर्स डे और सीए डे की भी चर्चा

पीएम ने नेशनल डाॅक्टर्स डे पर कोरोना काल में डाॅक्टर्स के योगदान को सराहा और धन्यवाद ज्ञापित किया। पीएम ने डलझील पर एंबुलेंस बोट के बारे में जानकारी दी। 
1 जुलाई को सीए डे पर भी देश के चाटर्ड अकाउंटेंट्स से उनके संकल्प को याद दिलाया। 

कोरोना के योद्धाओं को धन्यवाद दिया

पीएम मोदी ने कोरोना में अनवरत ड्यूटी करने वाले लोगों को याद किया। ठेला खोमचा, रेहड़ी वाले, प्रशासनिक अफसर, डाॅक्टर्स सहित इस दौरान काम करने वाले सभी लोगों को धन्यवाद दिया। 

चेन्नई के पी.गुरुप्रसाद का किया जिक्र

पीएम मोदी ने चेन्नई के पी.गुरु प्रसाद का जिक्र किया। गुरुप्रसाद पीएम मोदी के तमिलनाडु के त्योहारों, कला, इतिहास और महापुरुषों का ‘मन की बात’ में किए गए जिक्र पर एक ई-बुक का स्वरूप दिया है। 

संघर्ष से निकले हैं हमारे टोक्यो जा रहे खिलाड़ी, आप भी बढ़ाएं हौसला

पीएम मोदी ने टोक्यो जा रहे खिलाड़ियों का हौसला आफजाई करते हुए कहा कि संघर्ष के बाद सफलता का आनंद ही कुछ और है। टोक्यो जा रहे खिलाड़ियों ने बहुत संघर्ष के साथ सफलता पाई है। मन की बात में पीएम मोदी ने खिलाड़ी प्रवीण कुमार, प्रियंका कुमारी, नेहा, शिवपाल सिंह, चिराग, सात्विक, मनीष कौशिक, सीए भवानी देवी आदि खिलाड़ियों के संघर्ष की कहानियों को साझा किया। पीएम ने बताया कि वह किस तरह एक बेहद गरीब परिवारों से आते हुए भी हौसला नहीं हारे और सफलता की मंजिल को पाने में सफल रहे। उन्होंने खिलाड़ियों की संघर्षगाथा को सुनाते हुए बताया कि किस तरह खेल को जारी रखने या एक-एक इक्वीपमेंट के अभाव के बावजूद ओलंपिक तक पहुंचने के मुकाम को हासिल किया। पीएम ने टोक्यो जा रहे खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने के लिए सबको इनका प्रदर्शन देखने और हौसला बढ़ाने की अपील की है।

किसी भी खिलाड़ी पर जाने अनजाने कोई दबाव नहीं बनाना है

पीएम मोदी ने कहा कि आप टोक्यो ओलंपिक में जा रहे खिलाड़ियों को सोशल मीडिया पर इन खिलाड़ियों के चीयर फाॅर इंडिया हैशटैग के साथ हौसला बढ़ाए। कुछ और भी इनोवेटिव करना चाहें तो वह करें लेकिन जाने-अनजाने में किसी भी खिलाड़ी पर दबाव नहीं बनाएं। हर खिलाड़ी की अपनी संघर्षगाथा है, वह अपना बेस्ट देने जा रहे हैं। 

अभूतपूर्व काम किया है, वैक्सीनेशन का रिकार्ड बनाया

एक दिन में 86 लाख लोगों को फ्री वैक्सीनेशन लगाने का रिकार्ड हमने बना दिया। एक साल पहले सबके सामने सवाल था कि वैक्सीन कब आएगी लेकिन आज हमने एक दिन में 86 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का रिकार्ड बनाया।

बता दें मन की बात का हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित किया जाता है। 

यह भी पढ़ेंः तेजी से फैल रहा कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 8 राज्यों को दी चेतावनी

पीएम ने पुरानी मन की बात की थी साझा

एक दिन पहले प्रधानमंत्री ने एक पुराने मन की बात प्रकरण को साझा किया जिसमें नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर नशीली दवाओं के खतरे पर काबू पाने के कई पहलू शामिल थे। एक ट्वीट में, प्रधान मंत्री ने लिखा, आइए हम #ShareFactsOnDrugs के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं और ड्रग्स मुक्त भारत के अपने दृष्टिकोण को साकार करते हैं। याद रखें- लत न तो शांत है और न ही कोई स्टाइल स्टेटमेंट। एक पुराने #MannKiBaat एपिसोड को साझा करना जिसमें काबू पाने के कई पहलू शामिल थे ड्रग्स का खतरा।'

यह भी पढ़ेंः प्रेसिडेंशियल सैलून से कानपुर पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, 18 साल बाद किसी राष्ट्रपति ने किया सफर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios