Asianet News HindiAsianet News Hindi

पीएम मोदी ने जैन समाज को दी पर्यूषण पर्व की बधाई, बोले: यह पर्व क्षमा, अहिंसा और मैत्री का प्रतीक है

पीएम मोदी ने जैन समाज के पवित्र पर्यूषण पर्व की बधाई दी है। उन्होंने कहा कि जैन समाज में भाद्र मास में पर्यूषण पर्व के आखिरी दिन संवत्सरी का दिन होता है। 

PM Modi wishes Michhami Dukkadam, said:forgiveness signifies large heartedness
Author
New Delhi, First Published Sep 10, 2021, 10:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने जैन समाज के पवित्र पर्यूषण पर्व की बधाई दी है। उन्होंने कहा कि जैन समाज में भाद्र मास में पर्यूषण पर्व के आखिरी दिन संवत्सरी का दिन होता है। संवत्सरी का पर्व क्षमा, अहिंसा और मैत्री का प्रतीक है। इसे एक प्रकार से क्षमा वाणी पर्व भी कहा जाता है। और इस दिन एक दूसरे को मिक्षामी दुक्कडम कहने की परंपरा है। 

 

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे शास्त्रों में भी कहा गया है कि क्षमा वीरों का भूषण होता है। क्षमा करने वाला वीर होता है। यह तो हम सुनते ही आए हैं। महात्मा गांधी भी तो कहा करते थे कि क्षमा करने वाला सबसे ताकतवर व्यक्ति होता है। 

उन्होंने कहा कि शेक्सपियर ने अपने नाटक मर्चेंट ऑफ वेनिस में क्षमा भाव के महत्व को बताते हुए लिखा था। क्षमा करने वाला और क्षमा जिसे किया गया, दोनों को भगवान का आशीर्वाद प्राप्त होता है। 

यह भी पढ़ें:

ममता बनर्जी को भवानीपुर उपचुनाव में टक्कर देंगी बीजेपी की प्रियंका टिबरेवाल, जानिए क्यों भाजपा ने इन पर लगाया दांव

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की पत्नी और बेटे के खिलाफ लुकआउट नोटिस, DHFL के करोड़ों के लोन का हो गया है NPA

केरल के बिशप का दावा: राज्य की ईसाई व हिंदू लड़कियों को लव जेहाद से अफगानिस्तान में आतंकी शिविरों में भेजा गया

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios