Asianet News HindiAsianet News Hindi

Pm Security Breach: चारों तरफ से घिरे चन्नी, शिवसेना से लेकर अकाली दल और खुद कांग्रेस ने भी उठाए सवाल

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) की सिक्योरिटी में चूक(Pm Security Breach) ने पंजाब पुलिस और कांग्रेस सरकार की किरकिरी करा दी है। विपक्षी पार्टियां भी इस मामले में चन्नी सरकार को घेरने में लगी हैं। इसे लेकर सभी दल दोषियों पर कार्रवाई की मांग उठा रहे हैं।

Pm Security Breach, Opposition leaders condemned the Congress government of Punjab, read some statements KPA
Author
New Delhi, First Published Jan 7, 2022, 8:00 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) की सिक्योरिटी में चूक(Pm Security Breach) को विपक्षी दलों ने भी गंभीर मामला माना है। नेताओं ने इसके लिए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की आलोचना की है। उन्होंने इस मामले के दोषियों की पहचान करके उन्हें दंडित करने को कहा है। मामला तूल पकड़ते देख सोनिया गांधी ने भी चन्नी को नसीहत दी है।

विपक्षी दलों ने की चन्नी सरकार की आलोचना
आमतौर पर मोदी सरकार के खिलाफ मुखर शिवसेना के सांसद संजय राउत ने tweet करके मोदी की सुरक्षा में चूक को गंभीर मसला बताया है। उन्होंने मराठी में लिखा कि प्रधानमंत्री पूरे देश के होते हैं। उनकी सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। मोदी के पंजाब दौरे में सुरक्षा में कई खामियां सामने आई हैं। इन गलतियों की वजह से देश ने दो प्रधानमंत्री खोए हैं। इसकी घटना की जांच होनी चाहिए। संजय राउत ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की इस मांग को आगे बढ़ाया है।

शिरोमणि अकाली दल के नेता और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा सुनिश्चित करना राज्य की जिम्मेदारी है। यह एक बड़ी चूक है। प्रधानमंत्री के पंजाब दौरे में कोई बाधा नहीं होनी चाहिए।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी इस मामले के लिए चन्नी सरकार की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि अगर प्रधानमंत्री की ही सुरक्षा न हो पाए, तो पूरी दुनिया में देश की बदनामी होती है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि मोदी के दौरे पर हुई चूक अति चिंतनीय है। इस घटना को बेहद गंभीरता से लेते हुए उच्चस्तरीय निष्पक्ष जांच करानी चाहिए।

यह है पूरा मामला
बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी बुधवार सुबह 11.30 बजे बठिंडा एयरबेस पर पहुंचे। यहां खराब मौसम की वजह से 20 मिनट इंतजार किया। उसके बाद वे सड़क के जरिए राष्ट्रीय शहीद स्मारक तक गए। इसमें उन्हें 2 घंटे से ज्यादा का वक्त लगना था। पंजाब के डीजीपी ने भरोसा दिलाया, तब पीएम का काफिला आगे बढ़ा। हुसैनीवाला में शहीद स्मारक के 30 किमी पहले उनका काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, जहां प्रदर्शनकारियों ने रोड ब्लॉक कर रखी थी। मोदी यहां पर 15-20 मिनट तक फंसे रहे। यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक है। यह मामला तूल पकड़ चुका है।

यह भी पढ़ें
Pm Security Breach: पंजाब की घटना के बाद 1987 में राजीव गांधी पर श्रीलंका में हुए हमले का वीडियो फिर से वायरल
2 दिन से PM मोदी के खिलाफ 'साजिश' चल रही थी, प्रदर्शन के बारे में जानते हुए भी पुलिस बनी रही अनजान
PM Modi Security Breach: जनता का आक्रोश देख जागी सोनिया गांधी की आत्मा: स्मृति ईरानी

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios