Asianet News Hindi

'खेती बचाओ' आंदोलन का दूसरा दिन, केंद्र पर बरसे राहुल गांधी, कहा- मोदी सिस्टम को नष्ट कर रहे

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को लेकर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस मोर्चा खोल चुकी है। 'खेती बचाओ' आंदोलन के तहत दूसरे दिन सोमवार को राहुल गांधी ने पंजाब के भवानीगढ़ से समाना के लिए ट्रैक्टर यात्रा निकाली। इससे पहले राहुल ने एक जनसभा को भी संबोधित किया। इस दौरान राहुल ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

Rahul Gandhi will address public meetings with tractor rally, second day of 'Save Farming' movement
Author
Amritsar, First Published Oct 5, 2020, 11:38 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमृतसर. केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को लेकर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस मोर्चा खोल चुकी है। 'खेती बचाओ' आंदोलन के तहत दूसरे दिन सोमवार को राहुल गांधी ने पंजाब के भवानीगढ़ से समाना के लिए ट्रैक्टर यात्रा निकाली। इससे पहले राहुल ने एक जनसभा को भी संबोधित किया। इस दौरान राहुल ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

राहुल गांधी ने कहा, यह सरकार पिछले 6 साल से गरीबों, मजदूरों और किसानों पर एक के बाद एक आक्रमण कर रही है। इनकी नीतियां एक भी ऐसी नहीं हैं, जो गरीब जनता को फायदा पहुंचा सके। सरकार पहले नोटबंदी लाई, फिर जीएसटी। 

मोदी ने गरीबों के लिए एक कदम नहीं उठाया
राहुल ने कहा, आप किसी भी छोटे दुकानदार या व्यापारी से पूछ लीजिए कि जीएसटी में क्या हुआ। आज तक एक भी व्यापारी इसे नहीं समझ पाया। राहुल ने कहा, कोरोना के समय हमने कहा कि गरीबों की मदद कीजिए। मजदूर भूखे हजारों किमी पैदल चल रहे हैं। हमने कहा, छोटे व्यापारियों की मदद कीजिए। लेकिन मोदी ने एक भी कदम नहीं उठाया। 

'संकट के वक्त क्यों लाए कानून' 
राहुल गांधी ने कहा, मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि इस कानून को संकट के वक्त क्यों लाया गया। जल्दी किस बात की थी। इसलिए क्योंकि मोदी जी जानते हैं कि अगर किसान और मजदूर के पेट पर कुल्हाड़ी मारी जाए तो वो घर से बाहर नहीं निकल पाएगा। राहुल ने कहा, मोदी जी इस सिस्टम को नष्ट कर रहे हैं।

हरियाणा दौरे की तैयारी में राहुल

पंजाब के तीन दिवसीय दौरे के बाद राहुल गांधी हरियाणा सरकार के खिलाफ बड़े प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं। राहुल गांधी 6 अक्टूबर को पेहवा की तरफ से होते हुए किसानों के साथ देवीगढ़ से हरियाणा में प्रवेश करने की कोशिश करेंगे। राहुल गांधी पेहवा से पीपली-निलोखेड़ी-कैथल और कुरुक्षेत्र होते हुए करनाल मंडी में अपनी यात्रा समाप्त करेंगे। लेकिन इस अभियान से राज्य की भाजपा सरकार के साथ राहुल की सीधे टकराव की स्थिति बन सकती है क्योंकि हरियाणा सरकार ने अभी साफ नहीं किया है कि वो किसानों के साथ राहुल गांधी को प्रवेश करने देंगे या नहीं। हांलाकि राज्य के मंत्री अनिल विज पहले ही कह चुके हैं कि कोरोना वायरस के मद्देनजर हमारी सरकार हरियाणा में कोई आयोजन नहीं होने देगी।

किसानों के साथ खड़ी है कांग्रेस: राहुल

कांग्रेस नेता राहुल ने मोगा की अपनी रैली में कहा कि 'वो पंजाब के किसानों को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि कांग्रेस देश भर के किसानों के साथ खड़ी है और कांग्रेस एक इंच भी अपने वादे से पीछे नहीं हटने वाली है।' राहुल गांधी ने कहा कि 'नरेंद्र मोदी सरकार एमएसपी (MSP) को खत्म करना चाहती है और चाहती है कि खेती का पूरा बाजार अंबानी और अंडानी के हवाले कर दिया जाए, लेकिन कांग्रेस पार्टी ऐसा नहीं होने देगी। 

राहुल ने सवाल उठाते हुए कहा कि 'यदि किसान इन नए कानूनों से खुश हैं तो देशभर में किसान प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं? पंजाब में किसान प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं? राहुल ने कहा कि कोरोना काल में इन तीन कानूनों को लागू करने की क्या जल्दबाजी थी? 

किसान पर पड़ेगी मार: राहुल गांधी 

रैली में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि 'वो ये मानते हैं कि किसानों की उपज खरीदने के लिए बने मौजूदा सिस्टम में खामी है, लेकिन इस सिस्टम को सुधारने की जरूरत है, इसे नष्ट करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अगर ये सिस्टम नष्ट हो गया तो किसानों के पास कुछ नहीं बचेगा और किसान को सीधा अंबानी और अडानी से बात करनी पड़ेगी और इस बातचीत में किसान मारा जाएगा।'

"

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios