Asianet News HindiAsianet News Hindi

खुशखबरी: सीरम इंस्टीट्यूट को 7-11 साल के बच्चों पर ट्रायल की इजाजत, अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स का होगा प्रोडक्शन

अमेरिकी वैक्सीन निर्माता कंपनी नोवावैक्स भारत में सीरम इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर वैक्सीन का यहां प्रोडक्शन करेगी। यह बच्चों के लिए वैक्सीन भी बनाएगी। इसके लिए देश में ट्रायल होना है। 

Serum Institute got GOI permission for trial of vaccine on seven to eleven years old children
Author
New Delhi, First Published Sep 28, 2021, 6:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। कोरोना की तीसरी लहर (Corona third wave) की आहट के पहले देश में वैक्सीनेशन (vaccination) की हर तैयारियां पूरी कर ली जा रही है। भारत सरकार (Government of India) ने 7-11 साल के बच्चों पर वैक्सीन ट्रायल (vaccine trial) के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) को इजाजत दे दी है। सीरम इंस्टीट्यूट अमेरिकी वैक्सीन कंपनी नोवावैक्स (Novavax) की कोविड-19 (Covid-19) वैक्सीन का ट्रायल करेगा। इसके लिए बच्चों को चिहिंत किया जाना है। 

नोवावैक्स के साथ सीरम इंस्टीट्यूट ने किया है समझौता

अमेरिकी वैक्सीन निर्माता कंपनी नोवावैक्स भारत में सीरम इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर वैक्सीन का यहां प्रोडक्शन करेगी। यह बच्चों के लिए वैक्सीन भी बनाएगी। इसके लिए देश में ट्रायल होना है। 

बच्चों की वैक्सीन के ट्रायल की इजाजत अभी तक जायडस को

सीरम इंस्टीट्यूट पहले से ही अपनी कोरोना वैक्सीन कोवोवैक्स का ट्रायल कर रहा है, जो कि नोवावैक्स के शॉट का घरेलू रूप से बनाया गया वर्जन है। अब तक केवल दवा निर्माता जायडस कैडिला के DNA कोरोना वैक्सीन को भारत में 12 साल और उससे अधिक उम्र के वयस्कों और बच्चों पर इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली है।

देश के प्रत्येक नागरिक का बनेगा हेल्थ कार्ड

देश के हर नागरिक, बच्चे से लेकर वृद्ध तक को इसमें रजिस्टर किया जायेगा।  Ayushman Bharat Digital Mission में देश के निवासी का एक हेल्थ आईडी बनाया जाएगा। ये एक हेल्थ डिजीटल अकाउंट होगा। इसमें पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड को मोबाइल एप्लिकेशन की सहायता से ऐड किया जाएगा । इसमें हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स रजिस्ट्री (HPR) और हेल्थकेयर फैसिलिटीज रजिस्ट्रियां (HFR), Modern और Traditional medical systems को कवर करेगा । ये सिस्टम सभी डॉक्टरों, हेल्थ आर्गेनाइजेशन का डेटा कलेक्ट करके रखेगा।  

हेल्प के लिए इस हेल्पलाइन की लें सहायता

देश में वरिष्ठ नागरिकों (senior citizens) की सहायता के लिए एक हेल्पलाइन (Helpline) की शुरूआत की गई है। ऑल इंडिया लेवल की इस टोलफ्री हेल्पलाइन से बुजुर्ग नागरिकों की समस्याओं को सुलझाया जा रहा। 'एल्डर लाइन' (Elder Line) से बुजुर्गों के पेंशन मुद्दों, कानूनी मुद्दों पर मुफ्त जानकारी और मार्गदर्शन प्रदान किया जा रहा। यह उन भावनात्मक रूप से मदद करते हुए उनके साथ हो रहे दुर्व्यवहार के मामलों में भी मदद करेगा साथ ही बेघर बुजुर्गों को राहत देगा। सीनियर सिटीजन्स के लिए शुरू की गई इस हेल्पलाइन पर देश के किसी कोने से फोन कर मदद ली जा सकती है। अखिल भारतीय टोल-फ्री हेल्पलाइन-14567 पर फोन कर बुजुर्ग अपनी किसी भी समस्या का समाधान मांग सकते हैं। 

Read this also:

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा, जानिए सोनिया गांधी को लिखे लेटर में क्या लगाया आरोप

सेक्सुअल हैरेसमेंट केसों की मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन, बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा-मीडिया कर रही बढ़ाचढ़ाकर रिपोर्टिंग, अधिकारों का हो रहा हनन

अग्नि-5: आवाज की स्पीड से 24 गुना तेज, 5000 किमी का टारगेट, जानिए 'दुश्मन के काल' बनने वाले नए योद्धा के बारे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios