Asianet News HindiAsianet News Hindi

Omicron Update : सीरम इंस्टीट्यूट 50% घटाएगा कोविशील्ड का प्रोडक्शन, सीईओ अदार पूनावाला ने बताई फैसले की वजह

पूनावाला (Poonawalla) ने कहा कि अगले हफ्ते से कोविशील्ड (Covishield) प्रोडक्शन में कम से कम 50 प्रतिशत की कमी शुरू हो रही है, क्योंकि हमारे पास सरकार से कोई और ऑर्डर नहीं है। 

Serum Institute reduced production by 50 percent, the company's CEO Adar Poonawalla explained the reason for the decision
Author
New Delhi, First Published Dec 7, 2021, 7:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रोन (Covid 19 New Variant Omicron) के मरीज हर रोज मिल रहे हैं। इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने अपना प्रोडक्शन घटाने की बात कही है। कंपनी के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने कहा कि कंपनी ने कोविड -19 वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) के उत्पादन में 50 प्रतिशत तक की कटौती करने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की तरफ से कोई ऑर्डर नहीं मिलने की वजह से प्रोडक्शन घटाया जा रहा है। एक दिन पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के प्रमुख अदार पूनावाला ने कहा था कि दुनिया भर में और विशेष रूप से अफ्रीका में नेता टीके खरीदने पर रोक लगा रहे हैं। 

देश में बड़ी मात्रा में स्टॉक की जरूरत 
पूनावाला ने कहा कि अगले हफ्ते से प्रोडक्शन में कम से कम 50 प्रतिशत की कमी शुरू हो रही है, क्योंकि हमारे पास सरकार से कोई और ऑर्डर नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि देश को बड़ी मात्रा में स्टॉक की जरूरत है तो वह हम प्रोडक्शन की अतिरिक्त क्षमता रखना चाहते हैं। आशा है कि ऐसा कभी नहीं होगा। पूनावाला ने कहा कि मैं ऐसी स्थिति में नहीं रहना चाहता जहां हम अगले 6 महीनों में टीके उपलब्ध नहीं करा सकते। उन्होंने यह भी कहा कि वे स्पूतनिक लाइट वैक्सीन की 20-30 मिलियन डोज स्टोर करेंगे और बहुत अधिक जोखिम नहीं लेंगे।

वैक्सीन के दोनों डोज ओमीक्रोन पर असरदार 
कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन को लेकर अदार पूनावाला ने कहा कि यह मानने का कोई कारण नहीं है कि मौजूदा वैक्सीन काम नहीं करेगी। दोनों डोज लेने के बाद सुरक्षा अधिक है और भारतीय विशेषज्ञों की ओर से भी इसे अच्छा माना गया है। पूनावाला ने कहा कि उचित डेटा के बिना भविष्यवाणी करने से बचना चाहिए।

भारत ने एट रिस्क देशों की लिस्ट में घाना और तंजानिया को शामिल किया 
भारत ने सोमवार को खतरे वाले देशों की लिस्ट (At risk List) में घाना और तंजानिया को भी जोड़ लिया। इन देशों से आने वाले यात्रियों को कोविड-19 (Covid 19) जांच करानी होगी और क्वारेंटाइन नियमों का पालन करना होगा। 
विमानन मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अब ब्रिटेन समेत यूरोपीय देशों के अलावा दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्स्वाना, चीन, घाना, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, हांगकांग, सिंगापुर, तंजानिया और इजराइल को लिस्ट में रखा गया है।  

तंजानिया इसलिए शामिल 
दिल्ली में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वैरिएंट का पहला मामला रविवार को सामने आया था। इसमें तंजानिया से आए 27 वर्षीय व्यक्ति में संक्रमण पाया गया था। इस व्यक्ति ने कोविड रोधी वैक्सीन की दोनों डोज ले रखी थीं। ओमीक्रोन स्वरूप के सामने आने के बाद, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से एक दिसंबर को जारी दिशा निर्देशों के अनुसार एट रिस्क देशों से आने वाले सभी यात्रियों को अनिवार्य रूप से RT-PCR जांच करवानी होगी और इस सूची से बाहर के देशों से आने वाले यात्रियों को रैंडम जांच के लिए तैयार रहना होगा।  

यह भी पढ़ें
Omicron Update : देश में ओमीक्रोन के पहले मरीज पर FIR, होटल के स्टाफ के खिलाफ भी महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई
Omicron: महाराष्ट्र में दो नए केस, साउथ अफ्रीका और अमेरिका से लौटे लोगों में मिला नया वैरिएंट, देश में 24 केस

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios