Asianet News HindiAsianet News Hindi

Shraddha Murder Case: वसई वाले फ्लैट को किराए पर देकर आखिर कहां अंडरग्राउंड हो गया आफताब का परिवार?

दिल्ली के श्रद्धा मर्डर केस में सोमवार 21 नवंबर को पुलिस आफताब का नार्को टेस्ट करा सकती है। यह टेस्ट दिल्ली के अंबेडकर अस्पताल में होगा। इसी बीच, श्रद्धा के कातिल आफताब अमीन पूनावाला से जुड़ा एक और राज सामने आया है।

Shraddha Murder Case, What was in those 37 boxes, Aftab brought goods from Vasai to Delhi after Shraddha murder kpg
Author
First Published Nov 21, 2022, 11:47 AM IST

Shraddha Murder Case: दिल्ली के श्रद्धा मर्डर केस में सोमवार 21 नवंबर को पुलिस आफताब का नार्को टेस्ट करा सकती है। यह टेस्ट दिल्ली के अंबेडकर अस्पताल में होगा। इसी बीच, आफताब से जुड़ा एक और राज सामने आया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 18 मई को श्रद्धा वालकर का कत्ल करने के करीब 20 दिन बाद आफताब अपने वसई वाले घर पहुंचा था। यहां से उसने काफी सारा सामान दिल्ली शिफ्ट किया था। इसके साथ ही उसके मां-बाप और छोटा भाई भी कहीं और शिफ्ट हो गए। हालांकि, उनका अब तक कोई पता नहीं चल पाया है। 

दरअसल, दिल्ली पुलिस ने वसई में कुछ लोगों के बयान लिए हैं। इनमें से एक शख्स उसी पैकर्स एंड मूवर्स से जुड़ा है, जिससे आफताब ने वसई वाले फ्लैट से दिल्ली के छतरपुर में सामान भिजवाया था। आफताब ने ये सामान करीब 37 बक्सों में भिजवाया था। ऐसे में अब पुलिस को इस बात का भी शक है कि कहीं आफताब ने सामान दिल्ली शिफ्ट कर जानबूझकर तो अपने माता-पिता को अंडरग्रांउड नहीं करवा दिया?

आखिर क्या था उन 37 बक्सों में?
रिपोर्ट्स के मुताबिक, श्रद्धा के कत्ल के करीब 20 दिन बाद आफताब ने मीरा रोड स्थित गुडलक पैकर्स एंड मूवर्स से कॉन्टैक्ट किया था। इसके बाद उसने 20,000 रुपए में सामान को वसई से दिल्ली पहुंचाने का सौदा तय किया था। इस दौरान 37 बक्से थे, जिन्हें शिफ्ट करना था। इनमें वॉशिंग मशीन के अलावा और भी घरेलू सामान था। बता दें कि आफताब कुछ साल तक श्रद्धा के साथ वसई में ही रहता था। 

..तो क्या श्रद्धा का सिर काट आफताब ने इस जगह फेंका? दिल्ली के इस इलाके में तलाश रही पुलिस

वसई वाली सोसायटी के लोगों से पूछताछ कर रही पुलिस : 
पुलिस अब वसई (वेस्ट) स्थित यूनिक पार्क सोसाइटी के लोगों से भी पूछताछ कर रही है। आफताब की फैमिली यहां 20 साल से रह रही थी, लेकिन बेटे की गिरफ्तारी से करीब 20 दिन पहले न जाने कहां अंडरग्राउंड हो गए। इस घर को उन्होंने किराए पर दे दिया है, लेकिन उनका नया पता क्या है, इस बारे में कोई नहीं जानता। बता दें कि आफताब को पुलिस ने 12 नवंबर को गिरफ्तार किया था। 

आफताब ने कत्ल के बाद जलाईं श्रद्धा की तस्वीरें :
बता दें कि पूछताछ में आफताब ने बताया कि मर्डर के 5 दिन बाद 23 मई को उसने पूरे घर की सफाई की थी। इस दौरान उसे श्रद्धा से जुड़ी तस्वीरें या फिर जो कुछ भी दिखा, उसने उसे आग के हवाले कर दिया। बेडरूम में श्रद्धा की 3 बड़ी तस्वीरें भी थीं, उन्हें भी आफताब ने आग में जला दिया। आफताब का कहना है कि वो श्रद्धा से जुड़ी हर एक निशानी को मिटा देना चाहता था। हालांकि, उसने ये नहीं बताया कि आखिर उसे श्रद्धा से इतनी नफरत क्यों हो गई थी?

क्या वाकई श्रद्धा ने आफताब से उधार लिए थे पैसे : 
पूछताछ में आफताब ने ये भी बताया कि श्रद्धा ने उससे पैसे उधार लिए थे। हत्या वाले दिन दोनों के बीच इसी पैसे को लेकर झगड़ा हुआ था। इसी बीच श्रद्धा ने उसकी तरफ कुछ फेंक कर मारा, जिससे वो आगबबूला हो गया और गुस्से में श्रद्धा का गला दबा दिया। वो इतने गुस्से में था कि जब तक श्रद्धा का शरीर शिथिल नहीं पड़ गया, तब तक दबाता रहा। हालांकि, पुलिस को आफताब की इस बात पर यकीन नहीं हो रहा है। 

क्या है नार्को टेस्ट? कब, क्यों और कैसे किया जाता है, आखिर क्यों इसमें सच उगल देता है बड़े से बड़ा अपराधी

पुलिस को अब तक मिले हड्डियों के 17 टुकड़े : 
12 नवंबर को आफताब की गिरफ्तारी के बाद से ही पुलिस लगातार महरौली के जंगल में श्रद्धा की लाश के टुकड़े तलाश रही है। पुलिस को अब तक 17 हड्डियों के टुकड़े मिले हैं, जिन्हें DNA जांच के लिए भेजा गया है। फॉरेंसिक टीम के मुताबिक, ये हड्डियां इंसानों की हैं। पुलिस को अब तक थाई बोन, रेडियस उलना जैसी हड्डियां मिली हैं, जो किसी इंसान में जांघ और कलाई की हड्डी कहलाती है। 

तालाब में श्रद्धा के कटे हुए सिर को तलाश रही पुलिस : 
आफताब ने ये भी दावा किया है कि उसने श्रद्धा का सिर और कुछ अन्य टुकड़े दिल्ली के महरौली स्थित एक तालाब में फेंके थे। इसके बाद पुलिस रविवार को इस तालाब को खाली कराने पहुंची थी। दिल्ली नगर निगम की टीम के साथ पुलिस ने तालाब से पानी निकाला है। लेकिन अभी तक श्रद्धा के सिर का कोई पता नहीं चला है। 

ये भी देखें : 

कत्ल से पहले श्रद्धा से दरिंदगी के निशान, वायरल हो रही आफताब की क्रूरता को बयां करती PHOTO

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios