Asianet News HindiAsianet News Hindi

पुंछ और राजौरी में सबसे बड़े ऑपरेशन के बीच 3 दिन जम्मू-कश्मीर में रहेंगे अमित शाह, NIA की कई जगह छापेमारी

घाटी में गैर मुसलमानों पर बढ़ते आतंकी हमले के बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 23-25 अक्टूबर तक जम्मू-कश्मीर के दौरे रहेंगे। उनकी यह विजिट ऐसे समय में हो रही है, जब पुंछ और राजौरी के जंगलों में आतंकवादियों के खिलाफ अब तक का सबसे लंबा ऑपरेशन चल रहा है।
 

Terrorism in kashmir: Home Minister Amit Shah on 3 days visit in valley
Author
New Delhi, First Published Oct 22, 2021, 12:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में गैर मुसलमानों पर बढ़ते आतंकी हमलों के बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 23 से 25 अक्टूबर तक राज्य के दौरे पर रहेंगे। उनका यह दौरा ऐसे समय में हो रहा है, जब पुंछ और राजौरी जिले के घने जंगलों में सुरक्षाबल आतंकवादियों के ठिकानों को तहस-नहस करने 12 दिनों से सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं। यह अब तक का सबसे बड़ा सर्च ऑपरेशन माना जा रहा है।

यह  भी पढ़ें-Bangladesh में हिंसा: मस्जिद से कुरान उठाकर दुर्गा पूजा पंडाल में रखकर दंगा कराने वाला इकबाल हुसैन अरेस्ट

पांच प्रवासियों की हत्या के बाद कड़े एक्शन में है सरकार
घाटी में पिछले दिनों अलग-अलग आतंकी हमलों में 5 प्रवासियों की हत्या कर दी गई थी। इसमें तीन हिंदू थे। इसके बाद से केंद्र सरकार आतंकवादी संगठनों के खिलाफ किसी बड़े एक्शन की तैयारी कर रही है। घाटी में फिर से बढ़ते आतंकवाद को लेकर किसी बड़ी योजना और माहौल का मुआयना करने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह इस दौरे पर जा रहे हैं। वे 23 अक्टूबर को श्रीनगर में सुरक्षा समीक्षा बैठकों की अध्यक्षता करेंगे। शाह पंचायत सदस्यों के साथ-साथ राजनीतिक कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करेंगे। बता दें कि अगस्त 2019 में धारा 370 को निरस्त करने के बाद अमित शाह की यह पहली जम्मू-कश्मीर यात्रा है।

यह  भी पढ़ें-आतंकवादी संगठनों पर नकेल डालने में कोताही बरत रहा पाकिस्तान अप्रैल 2022 तक FATF की ग्रे लिस्ट में रहेगा

विभिन्न राजनीति दलों से भी चर्चा करेंगे
इस यात्रा के दौरान शाह विभिन्न राजनीति दलों के प्रतिनिधियों से भी मिलेंगे। उन्होंने राज्य के मौजूदा हालात और रुकी हुई राजनीतिक गतिविधियों के मद्देनजर एक सर्वदलीय बैठक बुलाने का सुझाव दिया था, लेकिन पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस ने बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया था। ऐसे में इस बैठक पर अभी संशय है।

यह  भी पढ़ें-Most Wanted आतंकी हक्कानी ने 'सुसाइड बॉम्बर्स' को 'हीरो' बताया, यूं गले मिला उनकी फैमिली से; देखिए कुछ Pics

यह है अमित शाह का कार्यक्रम
अमित शाह 23 अक्टूबर को श्रीनगर पहुंचेंगे। यहां वे विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। केंद्रीय गृहमंत्री श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर शारजाह-श्रीनगर वाली पहली फ्लाइट को हरी झंडी दिखाएंगे। इसके बाद वे श्रीनगर के SKICC में सुरक्षा हालात की समीक्षा करेंगे। शाह यहां कई विकास कार्यक्रम का उद्घाटन और आधारशिला रखेंगे। इनमें हंदवारा मेडिकल कॉलेज की आधारशिला भी शामिल है। 24 अक्टूबर को अमित शाह जम्मू जाएंगे। यहां वे विभिन कार्यक्रमों में शामिल होंगे। जम्मू में शाह ने पार्टी के जिला अध्यक्षों को बुलाया है। अमित शाह यहां एक रैली निकलेंगे। अमित शाह 25 अक्टूबर को नई दिल्ली लौटने से पहले फिर कश्मीर का दौरा करेंगे।

जन्मदिन के ठीक एक दिन बाद जम्मू-कश्मीर का दौरा
अमित शाह अपने जन्मदिन(22अक्टूबर) के ठीक एक दिन बाद जम्मू-कश्मीर के दौरे पर जा रहे हैं। गृहमंत्री की यात्रा के मद्देनजर घाटी में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। कड़ी चेकिंग के चलते बड़ी संख्या में दोपहिया वाहन जब्त किए गए हैं। श्रीनगर और पुलवामा के लगभग 15 इलाकों में मोबाइल इंटरनेट बैन कर दिया गया है। डल झील का इलाका 23 से 25 अक्टूबर तक आम नागरिकों के लिए बंद रहेगा। हालांकि सुरक्षा एजेंसियों कहना है कि ऐसा सुरक्षा के लिहाज से किया गया है, लेकिन इसका गृहमंत्री के दौरे से कोई संबंध नहीं है। बता दें कि अकेले अक्टूबर घाटी में 10 मुठभेड़ों में 17 आतंकवादी मारे गए हैं। वहीं, आतंकी हमलो में 10 सैनिक और 12 आम नागरिकों की भी जान गई।

पुंछ और राजौरी में 13 साल बाद सबसे बड़ा ऑपरेशन
अल्पसंख्यकों की हत्या के बाद सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन चला रखा है। पुंछ और राजौरी जिले के जंगलों में 13 साल बाद सबसे बड़ा ऑपरेशन चल रहा है। इसे 12 दिन से अधिक हो गए हैं। माना जा रहा है कि इन घने जंगलों में आतंकवादियों ने अपने ठिकाने बना रखे हैं। सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान पुंछ और राजौरी को आतंक का बड़ा गढ़ बनाना चाहता है। यहां से वो पूरी घाटी में आतंकवादी घटनाओं को ऑपरेट करना चाहता है।  पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के ब्लू प्रिंट की खुफिया रिपोर्ट सामने आने के बाद इन इलाकों में भारतीय सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन चला रखा है। LOC से 4 किमी की दूरी पर जंगल में ऑपरेशन कर रहे सैनिकों की सहायता के लिए ड्रोन और हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं।

NIA की छापेमार
राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी(NIA) ने कश्मीर घाटी के 5 जिलों में कई जगहों पर छापा मारा है। इनमें एनकाउंटर में मारे गए आतंकवादियों के घर भी शामिल हैं। यह कार्रवाई आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा (LET), जैश-ए-मोहम्मद, हिज्बुल मुजाहिदीन, अल बद्र के कैडरों द्वारा आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने के बाद की गई है। सूत्रों के अनुसार अनंतनाग में श्रीगुफवाड़ा निवासी रौफ मोहिदीन भट के आवास पर भी छापा मारा गया। वहीं, आंग मतीपोरा में आबिद अहमद, चिम्मर कुलगाम में इश्फाक अहमद नाइक, शोपियां के कांजीउल्लर गांव में मोहम्मद यूनूस भट के अलावा मोहसिन राशिद और इम्तियाज अहमद के घर पर भी छापा मारा गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios