Asianet News HindiAsianet News Hindi

तिरंगा भारत के अतीत के गौरव, वर्तमान की प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को दर्शाता है: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुजरात के सूरत के तिरंगा यात्रा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि तिरंगा हमारे अतीत के गौरव, वर्तमान के प्रति हमारी प्रतिबद्धता और भविष्य के हमारे सपनों का प्रतिबिंब है।
 

Tricolour reflects pride of India past commitment of present and dreams of future Narendra Modi vva
Author
Surat, First Published Aug 10, 2022, 10:44 PM IST

सूरत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने बुधवार को राष्ट्रीय ध्वज को भारत के अतीत के गौरव, वर्तमान के प्रति प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों का प्रतिबिंब बताया। उन्होंने कहा कि यह देश की एकता, अखंडता और विविधता के लिए खड़ा है।वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सूरत में तिरंगा यात्रा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि तिरंगा हमारे अतीत के गौरव, वर्तमान के प्रति हमारी प्रतिबद्धता और भविष्य के हमारे सपनों का प्रतिबिंब है। राष्ट्रीय ध्वज स्वयं देश के कपड़ा उद्योग, देश की खादी और हमारी आत्मनिर्भरता का प्रतीक रहा है। सूरत ने हमेशा इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत की नींव रखी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गुजरात ने बापू (महात्मा गांधी) के रूप में भारत के स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व किया और देश को 'लौह पुरुष' सरदार पटेल जैसे व्यक्तित्व दिए, जिन्होंने आजादी के बाद 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' की नींव रखी। बारडोली आंदोलन और दांडी यात्रा ने जो संदेश दिया, उसने पूरे देश को एकजुट किया।

भारत की एकता का प्रतिनिधित्व कर रहा तिरंगा
नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे सेनानियों ने तिरंगे में देश का भविष्य और उसका सपना देखा। उन्होंने इसे झुकने नहीं दिया। आजादी के 75 साल बाद जब आज हम एक नए भारत की यात्रा शुरू कर रहे हैं, तिरंगा एक बार फिर भारत की एकता और चेतना का प्रतिनिधित्व कर रहा है। गुजरात का हर कोना उत्साह से भरा हुआ है। 

यह भी पढ़ें- कांग्रेस पर नरेंद्र मोदी ने कसा तंज, काला जादू और काले कपड़े से नहीं होगा आपके बुरे दिनों का अंत

हर घर तिरंगा अभियान से जुड़ रहे सभी वर्ग के लोग
उन्होंने कहा कि देश भर में हो रही तिरंगा यात्राएं हर घर तिरंगा अभियान की शक्ति और भक्ति का प्रतिबिंब हैं। 13 से 15 अगस्त तक भारत के हर घर में तिरंगा फहराया जाएगा। समाज के हर वर्ग, हर जाति और पंथ के लोग इस अभियान से जुड़ रहे हैं। यही भारत के कर्तव्यनिष्ठ नागरिक की पहचान है। पुरुष और महिलाएं, युवा, बुजुर्ग और अन्य सभी अभियान का समर्थन करने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। हर घर तिरंगा अभियान से कई गरीब, बुनकर और हथकरघा कामगार भी अतिरिक्त आय प्राप्त कर रहे हैं। जनभागीदारी के ये अभियान नए भारत की नींव को मजबूत करेंगे।

यह भी पढ़ें- राहुल का आरोप- राशन कार्ड वालों को तिरंगा खरीदने के लिए किया जा मजबूर, सरकार ने कहा- नहीं दिया ऐसा निर्देश

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios