Asianet News HindiAsianet News Hindi

केंद्रीय मंत्री का कांग्रेस प्रेम: कमला हैरिस अमेरिका में उपराष्ट्रपति हो सकती तो सोनिया इंडिया का क्यों नहीं?

केंद्र सरकार के एक मंत्री का विपक्ष की नेता को लेकर इस तरह का बयान राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय है। केंद्रीय सरकार के भागीदार के कांग्रेस प्रेम के कई मायने निकाले जा रहे हैं।

Union Minister Ramdas Athawale says If Kamala Harris can be US Vice President why can't Sonia Gandhi become PM, who is an Indian citizen
Author
Indore, First Published Sep 26, 2021, 10:23 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। केंद्र की बीजेपी सरकार (BJP Government) के महत्वपूर्ण सहयोगी केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Ramdas Athawale) ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress Chief Sonia Gandhi) को लेकर बड़ा बयान दिया है। केंद्रीय मंत्री आठवले ने कहा कि अगर भारतीय मूल की कमला हैरिस संयुक्त राज्य अमेरिका की उपराष्ट्रपति बन सकती हैं, तो कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी 2004 के चुनावों के बाद भारत की प्रधानमंत्री बन सकती थीं। 
केंद्र सरकार के एक मंत्री का विपक्ष की नेता को लेकर इस तरह का बयान राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय है। केंद्रीय सरकार के भागीदार के कांग्रेस प्रेम के कई मायने निकाले जा रहे हैं।

सोनिया के इनकार पर शरद पवार को पीएम बनाने की सलाह

रामदास आठवले ने कहा कि सोनिया गांधी को 2004 में प्रधानमंत्री बनना चाहिए था और अगर उन्होंने यह पद स्वीकार नहीं किया तो कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता शरद पवार को प्रधानमंत्री बनाया जाना चाहिए था। 

इंदौर में मीडिया से उन्होंने कहा कि जब 2004 के चुनावों में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) को बहुमत मिला, तो मैंने सोनिया गांधी को प्रधान मंत्री बनने का प्रस्ताव दिया। मेरी राय में, उनके विदेशी होने के मुद्दे का कोई मतलब नहीं था। 

अठावले ने सवाल खड़े किए कि अगर कमला हैरिस संयुक्त राज्य अमेरिका की उपराष्ट्रपति बन सकती हैं, तो सोनिया गांधी, भारत की नागरिक, राजीव गांधी (पूर्व प्रधान मंत्री) की पत्नी और लोकसभा में संसद सदस्य, प्रधानमंत्री क्यों नहीं बन सकतीं ?

पवार भी पीएम रहते तो कांग्रेस की स्थिति ठीक रहती

अठावले ने कहा कि पवार जनता के नेता के रूप में पीएम पद के लिए पात्र थे और कांग्रेस को उन्हें मनमोहन सिंह के स्थान पर पीएम बनाना चाहिए था, लेकिन सोनिया गांधी ने ऐसा नहीं किया। रामदास आठवले ने कहा कि अगर पवार 2004 में देश के प्रधानमंत्री बनते तो कांग्रेस को आज के हालात का सामना नहीं करना पड़ता। मनमोहन सिंह ने 2004 से 2014 तक प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया जिसका परिणाम यह हुआ कि भाजपा के प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आने के बाद उनकी जगह नरेंद्र मोदी ने ले ली।

अमरिंदर सिंह को एनडीए में शामिल होने का आमंत्रण

केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने वरिष्ठ नेता अमरिंदर सिंह को कांग्रेस छोड़ने और भाजपा या उनके नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल होने का आग्रह किया। आठवले ने कहा, "अगर सिंह भाजपा में शामिल होते हैं, तो पंजाब में आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा की स्थिति मजबूत होगी।"

यह भी पढ़ें: 

लद्दाख को तोहफा: कारगिल के हैम्बोटिंग ला क्षेत्रों में दूरदर्शन व रेडियो की हाई पॉवर ट्रांसमीटर लांच

ओडिशा और आंध्र में आज 'गुलाब' चक्रवात के गुजरने की आशंका, कई क्षेत्रों के लिए हाई अलर्ट जारी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios