Asianet News HindiAsianet News Hindi

उत्तराखंड में बाढ़ से हालात बिगड़े, CM ने किया क्षेत्र का दौरा, दुबारा सड़क तैयार करने में जुटे BRO के जवान

उत्तराखंड(Uttarakhand floods) में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। कई जगहों पर सड़कें और पुल बह गए हैं। आपदा प्रभावित क्षेत्रों का मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने दौरा करके राहत कार्यों का निरीक्षण किया।

Uttarakhand floods, Chief Minister Pushkar Dhami visited the flood affected areas
Author
New Delhi, First Published Sep 2, 2021, 3:34 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पिथौरागढ़, उत्तराखंड. लगातार बारिश, बादल फटने और आकस्मिक बाढ़ के हालात पैदा हो जाने के कारण पिथौरागढ़-तवाघाट राष्ट्रीय राजमार्ग का 500 मीटर हिस्सा पानी में बह गया, जिसके कारण राजमार्ग का एक हिस्सा टूट गया और यातायात बाधित हो गया। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने धारचूला का दौरा किया और सीमा सड़क संगठन (BRO) कर्मियों से बातचीत की।

यह भी पढ़ें-बारिश का कहर: कहीं सड़कें बनीं दरिया, तो कहीं डूबे 750 गांव..दिल्ली समेत इन राज्यों में पानी ही पानी

BRO की टीम ने संभाला मोर्चा
सड़क संपर्क बहाल करने के लिए बीआरओ दल के 80 सदस्यों को तैनात किया गया है। वे मलबा साफ करने वाली मशीनों और जेसीबी की मदद से सड़क को दुरुस्त करने में जुटे हैं। बीआरओ ने पैदल चलने के लिये रास्ता बना लिया है और दुर्गम गांवों में मानवीय सहायता के तहत खाने के पैकेट वितरित किए हैं। अगस्त, 2021 के अंतिम सप्ताह में पिथौरागढ़ जिले के दूर-दराज के धारचूला कस्बे को अभूतपूर्व बारिश का सामना करना पड़ा। भारी बारिश के साथ आकस्मिक बाढ़ के हालात भी पैदा हो गए।

यह भी पढ़ें-भारी बारिश ने मथुरा में मचाई तबाही, पानी में डूबी बोलेरो... बमुश्किल बचाए गए 7 लोग.... देखें Video

पूरी सड़क ही बह गई
सबसे ज्यादा नुकसान 30 अगस्त को हुआ, जब आकस्मिक बाढ़ और बादल फटने से पिथौरागढ़-तवाघाट राष्ट्रीय राजमार्ग का लगभग 500 मीटर हिस्सा पानी में बह गया। यह घटना दोबाट इलाके में 98 से 102 किलोमीटर के बीच के हिस्से में हुई, जहां सड़क का एक टुकड़ा पानी में बह गया था। इसके कारण राष्ट्रीय राजमार्ग के इस अहम हिस्से में सड़क-संपर्क टूट गया।

इस आपात और गंभीर स्थिति से निपटने के लिये बीआरओ ने प्रोजेक्ट हीरक के एक विशेष दल को तैनात कर दिया, ताकि मरम्मत का काम फौरन शुरू किया जा सके और रास्ते से मलबा हटा दिया जाए। इस समय बीआरओ टास्क फोर्स के 80 सदस्य मलबा हटाने वाली मशीनों और जीसीबी की मदद से सड़क संपर्क को जल्द से जल्द बहाल करने में दिन-रात लगे हैं।

यह भी पढ़ें-एक झटके में रातों रात करोड़पति बन गया मछुआरा, चमकी ऐसी किस्मत कि जाल में फंस गई दुलर्भ चीज

मुख्यमंत्री ने किया दौरा
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एक सितंबर को पिथौरागढ़ जिले के धारचूला का दौरा किया और 30 अगस्त, 2021 को आई बाढ़ तथा बादल फटने के बाद वहां जारी पुनर्वास कार्यों का जायजा लिया। बीआरओ टास्क फोर्स के कमांडर ने पिथौरागढ़-तवाघाट सड़क के टूटने और बीआरओ द्वारा किए जाने वाले पुनर्वास कार्यों के बारे में मुख्यमंत्री को जानकारी दी।

इस बीच, बीआरओ ने टूटे हिस्से में पैदल चलने का रास्ता तैयार कर दिया है, ताकि लोग पैदल आ-जा सकें। इसके अलावा बीआरओ ने मानवीय सहायता के तहत स्थानीय लोगों को खाने के पैकेट भी पहुंचाये हैं। चुनौतीपूर्ण हालात के बावजूद सड़क को जल्द से जल्द खोलने के लिये बीआरओ के सभी अफसर और कर्मचारी मौके पर मौजूद हैं और दिन-रात काम में लगे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios