आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में दिए राहुल गांधी के बयान को वरुण गांधी ने बताया गलत, पढ़िया क्या कुछ कहा...

| Mar 17 2023, 02:36 PM IST

Varun Gandhi

सार

आइवी लीग कॉलेज के निमंत्रण को अस्वीकार करने के अपने फैसले पर एक अखबार के लेख के साथ वरुण गांधी ने ट्वीट किया कि भारत की पसंद और चुनौतियों को अंतरराष्ट्रीय जांच के अधीन करना, मेरे लिए एक अपमानजनक कार्य है।

Varun Gandhi refuses Oxford invitation: मोदी सरकार पर लगातार कटाक्ष करने वाले वरुण गांधी ने राहुल गांधी के विदेश में स्पीच देने के मुद्दे पर परोक्ष रूप से अपने चचेरे भाई की आलोचना की है। वरुण गांधी ने एक ट्वीट कर बताया कि आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के invitation को उन्होंने अस्वीकार कर दिया है जिसमें उनको पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सही रास्ते पर है या नहीं?, पर बोलने के लिए invite किया गया था। वरुण गांधी ने कहा कि वह एक अंतरराष्ट्रीय मंच पर घरेलू चुनौतियों के लिए आवाज उठाने में कोई योग्यता या ईमानदारी नहीं देखते हैं, ऐसा कदम एक अपमानजनक काम होगा।

क्या कहा वरुण गांधी ने?

आइवी लीग कॉलेज के निमंत्रण को अस्वीकार करने के अपने फैसले पर एक अखबार के लेख के साथ वरुण गांधी ने ट्वीट किया कि भारत की पसंद और चुनौतियों को अंतरराष्ट्रीय जांच के अधीन करना, मेरे लिए एक अपमानजनक कार्य है। मैंने ऑक्सफोर्ड यूनियन में एक बहस के निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया है। उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को लिखा है कि उनका मानना है कि चुना गया विषय बहस या विवाद के लिए ज्यादा गुंजाइश नहीं देता है। वरुण गांधी ने विश्वविद्यालय को अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि भारत विकास के सही रास्ते पर है, जिसे आजादी के बाद से पिछले 7 दशकों में विभिन्न राजनीतिक संबद्धताओं की सरकारों द्वारा निर्धारित किया गया है।

निर्वाचित प्रतिनिधि के रूप में संसद या देश के अन्य मंचों पर सवाल करुंगा

वरुण गांधी ने कहा कि एक निर्वाचित प्रतिनिधि के रूप में नीतिगत पहलों का अध्ययन और मूल्यांकन करना, संसद के भीतर और अन्य मंचों के माध्यम से प्रतिक्रिया देना उनका काम है। उन्होंने कहा कि इस तरह की टिप्पणी भारत के भीतर भारतीय नीति निर्माताओं को दी जानी चाहिए। मुझे अंतरराष्ट्रीय मंच पर आंतरिक चुनौतियों को मुखर करने में कोई योग्यता या ईमानदारी नहीं दिखती है।

कैब्रिज यूनिवर्सिटी में राहुल गांधी के स्पीच पर बवाल

उधर, कैब्रिज यूनिवर्सिटी में राहुल गांधी के स्पीच को लेकर बीजेपी हमलावर है। बीजेपी इसे संसद और भारतीय लोकतंत्र का अपमान बताते हुए बीते पांच दिनों से संसद ठप की हुई है। बीजेपी राहुल गांधी से माफी की मांग कर रही है। शुक्रवार को राहुल गांधी संसद पहुंचे तो बीजेपी सांसदों ने माफी के लिए नारेबाजी करने लगे। हंगामा बढ़ता देख सदन को सोमवार 20 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

राहुल गांधी ने बोले-अडानी मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए हो रहा

राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि संसद में भाजपा के आरोपों का जवाब देने की अनुमति दी जाएगी। लेकिन मुझे नहीं लगता कि वे मुझे बोलने देंगे। अगर भारतीय लोकतंत्र काम कर रहा होता, तो मैं संसद में अपनी बात कहने में सक्षम होता। आप जो देख रहे हैं वह भारतीय लोकतंत्र की परीक्षा है। क्या एक सांसद को वही जगह दी जा रही है जो उन चार मंत्रियों को दी गई थी जब वे मेरे खिलाफ आरोप लगाए। पढ़िए पूरी खबर…

 
Read more Articles on