Asianet News HindiAsianet News Hindi

VVIP Helicopter Scam की आरोपी Agustawestland के बैन को हटाने पर कांग्रेस ने सरकार को घेरा, राहुल ने कसा तंज

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा कि प्रधानमंत्री इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड को एक भ्रष्टाचारी कंपनी कह चुके हैं। इसके बावजूद सरकार ने पहले इस कंपनी को मेक इन इंडिया प्रोग्राम में हिस्सा लेने की इजाजत दी। 

VVIP Helicopter Scam alleged company Agusta Westland ban lifted by Government, Congress big allegation DVG
Author
New Delhi, First Published Nov 8, 2021, 9:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले (VVIP Helicopter Scam) की आरोपी कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड (Agusta Westland) पर से बैन हटाए (ban lifted) जाने पर कांग्रेस (Congress)ने केंद्र सरकार (Central Government) को घेरा है। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने तंज कसते हुए कहा कि पहले अगस्ता भ्रष्ट था, अब बीजेपी (BJP) की लांड्री में धुलने के बाद साफ हो गया है। कांग्रेस ने पीएम मोदी (PM Modi) के इटली दौरे (Italy visit) पर सवाल उठाते हुए पूछा कि क्या मोदी के इटली दौरे के दौरान कोई डील हुई है। भ्रष्टाचार के मामले में सरकार दोहरा मानदंड क्यों अपना रही है। उधर, कांग्रेस प्रवक्ता (congress Spokesperson) गौरव बल्लभ (Gaurav Vallabh) ने भी सवाल किया कि सरकार भ्रष्ट कंपनी पर मेहरबान क्यों है?

भ्रष्ट कंपनी को मेक इन इंडिया के लिए इजाजत क्यों?

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा कि प्रधानमंत्री इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड को एक भ्रष्टाचारी कंपनी कह चुके हैं। इसके बावजूद सरकार ने पहले इस कंपनी को मेक इन इंडिया प्रोग्राम में हिस्सा लेने की इजाजत दी और अब कंपनी पर लगाए गए सभी तरह के प्रतिबंधों को हटा लिया गया है। गौरव बल्लभ ने दावा किया कि पीएम की इटली यात्रा (PM Modi Italy Visit) के दौरान एक बैठक में अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी (Agustawestland Company) को लेकर चर्चा हुई। मीटिंग में एनएसए (NSA) अजित डोवाल (Ajit Doval) और विदेश मंत्री (Minister of External Affairs) जयशंकर (S.Jaishankar) भी शामिल हुए। मीटिंग में ही प्रतिबंधों को हटाने का निर्णय लिया गया। पीएम के इटली से लौटने के बाद सभी प्रतिबंध हटा दिए गए। 

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री को देश को बताना चाहिए कि अब यह कंपनी भ्रष्ट या नहीं? पीएम को देश को बताना चाहिए कि उनकी इस मामले में कोई सीक्रेट डील हुई है या नहीं। इसके साथ पार्टी ने पीएम से देशवासियों से झूठ बोलने के लिए माफी मांगने की भी मांग की है।

गौरव वल्लभ ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने इस कंपनी को 1620 करोड़ रुपये दिए थे और 2954 करोड़ रुपये वापस ले लिए थे। ऐसे में यह सवाल है कि सरकार की कंपनी को क्लीनचिट देने के बाद इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन में चलेगा या नहीं। क्या सरकार केस वापल ले लेगी।

सुरजेवाला ने भी पूछे सवाल

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surajewala) ने भी इस मुद्दे पर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा कि सरकार और अगस्ता (फिनमेकेनिका) के बीच गुप्त समझौता क्या है? क्या अब उस कंपनी से डील करना ठीक है, जिसे पीएम और सरकार रिश्वत देने वाली फर्जी कपंनी बता चुके हैं।

इसे भी पढ़ें:

Uphaar Fire Tragedy: सुशील व गोपाल अंसल को दिल्ली कोर्ट ने सात साल की सजा सुनाई, सवा दो-दो करोड़ का आर्थिक दंड भी लगा

Parliament Winter Session: 29 नवम्बर से 23 दिसंबर तक संसद चलाने की सिफारिश, सरकार के लिए कई मुद्दे फिर बनेंगे चुनौती

President Xi Jinping: आजीवन राष्ट्रपति बने रहेंगे शी, जानिए माओ के बाद सबसे शक्तिशाली कोर लीडर की कहानी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios