Weather forecast: कई राज्यों में दिखेगी कश्मीर की शीतलहर का असर, तमिलनाडु में भारी बारिश का अलर्ट

| Dec 06 2022, 08:44 AM IST

Weather forecast:  कई राज्यों में दिखेगी कश्मीर की शीतलहर  का असर, तमिलनाडु में भारी बारिश का अलर्ट

सार

कश्मीर में शीतलहर की चेतावनी दी गई है। इसका असर देश के कई राज्यों पर दिखाई देगा। इस बीच तमिलनाडु में भारी बारिश की चेतावनी के बाद प्रदेश के कुछ हिस्सों में NDRF की 6 टीमें तैनात की गई है। 

नई दिल्ली. कश्मीर में शीतलहर की चेतावनी दी गई है। इसका असर देश के कई राज्यों पर दिखाई देगा। इस बीच तमिलनाडु में भारी बारिश की चेतावनी के बाद प्रदेश के कुछ हिस्सों में NDRF की 6 टीमें तैनात की गई है। मौसम विभाग(IMD) और स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार,आजकल में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश संभव है। जानिए क्या है चेतावनी...

तमिलनाडु में दो दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी
मौसम विभाग के अनुसार, तमिलनाडु और केरल में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है। 7 दिसंबर की रात से तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश की गतिविधियां तेज होंगी और 8 दिसंबर तक जारी रह सकती हैं। आंध्र प्रदेश के दक्षिण तट और तमिलनाडु के तटीय इलाकों में कुछ भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ(western disturbance) 8 दिसंबर को पश्चिमी हिमालय तक पहुंचेगा। 8 से 10 दिसंबर के बीच पश्चिमी हिमालय पर हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी की संभावना है। 7 दिसंबर से कर्नाटक और रायलसीमा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

Subscribe to get breaking news alerts

यह भी जानिए
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार,दक्षिण अंडमान सागर और आसपास के इलाकों में एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। इसे कनेक्ट चक्रवाती परिसंचरण(cyclonic circulation) मध्य क्षोभमंडल(middle troposphere) स्तरों तक फैला हुआ है। इसके पश्चिम उत्तर पश्चिम दिशा में बढ़ने की उम्मीद है और 6 दिसंबर की शाम तक बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में एक डिप्रेशन में बदल सकता है। यह उत्तर तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश तट की ओर पश्चिम उत्तर पश्चिम दिशा में बढ़ना जारी रखेगा। तट पर पहुंचने से पहले यह एक चक्रवात में बदल सकता है।

हिमालय की बर्फबारी देश को प्रभावित करती है
कश्मीर में रात का तापमान शून्य से नीचे बना हुआ है, श्रीनगर में सोमवार की रात तापमान शून्य से 3.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो इस मौसम की अब तक की सबसे ठंडी रात है। मौसम अधिकारियों ने कहा कि दक्षिण कश्मीर में स्वास्थ्य रिसॉर्ट पहलगाम शून्य से 4.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। पिछले दो सप्ताह से शून्य से नीचे तापमान के कारण डल झील और वाटर सप्लाई लाइन्स के अलावा वाटर बॉडीज के कुछ हिस्से जम गए हैं। मौसम विभाग ने 9 दिसंबर तक शीत लहर और शुष्क मौसम जारी रहने की संभावना जताई है।

ऐसा है घाटी का टेम्परेचर: बारामूला में स्की-रिसॉर्ट गुलमर्ग में तापमान शून्य से नीचे 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। काजीगुंड में न्यूनतम तापमान शून्य से 3.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि कोकेरनाग शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में तापमान शून्य से 2.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने 8 दिसंबर तक शुष्क और धुंध भरा मौसम रहने का अनुमान जताया है। निदेशक MeT कश्मीर, सोनम लोटस ने बताया कि 9 से 10 दिसंबर तक कश्मीर में बारिश की उम्मीद है। 9 दिसंबर से मौसम में बादल छाए रहेंगे। हल्की से मध्यम बारिश, जम्मू-कश्मीर के मध्य और ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना है।

पिछले दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश हुई। आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में हल्की बारिश हुई।

फोटो क्रेडिट-risingkashmir

यह भी पढ़ें
OMG: दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव फॉरेस्ट का यह हाल, कोई नहीं जानता कितने बाघों की इस तरह खालें खींच ली गईं
BS-III पेट्रोल, BS-IV डीजल वाहनों पर बैन: दिल्ली-पंजाब सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे ट्रांसपोर्टर्स