Asianet News HindiAsianet News Hindi

Omicron: 24 देशों में पहुंचा कोरोना का नया वैरिएंट, WHO ने किया डराने वाला दावा

 विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार कोरोना का नया वैरिएंट दुनिया के 24 देशों में फैल गया है। वैक्सीनेशन और टेस्ट के कम आंकड़ों से भविष्य में कोरोना के कई अन्य वैरिएंट सामने आएंगे। 

WHO confirms Omicron Covid 19 variant Spread in 23 countries
Author
New Delhi, First Published Dec 2, 2021, 1:07 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) दुनिया में तेजी से फैल रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार नया वैरिएंट दुनिया के 24 देशों में फैल गया है। इसके साथ ही WHO ने कोरोना को लेकर डराने वाला दावा किया है। 

WHO चीफ डॉ. टेड्रोस गेब्रीयस ने चेतावनी दी कि वैक्सीनेशन और टेस्ट के कम आंकड़ों से भविष्य में कोरोना के कई अन्य वैरिएंट सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि इन दो वजहों से टॉक्सिक मिक्स जैसी स्थिति बनती जा रही है। इससे वायरस को फलने-फुलने का मौका मिल रहा है और वह विभिन्न वैरिएंट में हम पर अटैक कर रहा है। ओमिक्रॉन इसका उदाहरण है। 

इन देशों में फैला ओमिक्रॉन 
WHO के अनुसार ओमिक्रॉन वैरिएंट अब तक अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, बोत्सवाना, कनाडा, चेक गणराज्य, डेनमार्क, जर्मनी, हॉन्गकॉन्ग, इजराइल, इटली, जापान, नीदरलैंड, नाइजीरिया, पुर्तगाल, रीयूनियन, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, स्पेन, स्वीडन, स्विट्जरलैंड, दक्षिण कोरिया और ब्रिटेन में पहुंच चुका है। डॉ. टेड्रोस गेब्रीयस ने कहा कि बाकी सभी देशों को भी इसे बेहद गंभीरता से लेना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार ओमिक्रोन के बारे में मालूम कर रहा है। ट्रांसमिशन पर इसके असर, इसकी गंभीरता और टेस्ट, वैक्सीन्स के इस पर असर के बारे में पता लगाना बाकी है।

गरीब देशों की मदद करें संपन्न देश
डॉ. टेड्रोस गेब्रीयस ने दुनियाभर के देशों से अपील की कि वे गरीब देशों की मदद करें और उन्हें वैक्सीन और अन्य जरूरी चीजें फौरन मुहैया करवाएं। WHO ने कहा कि ओमिक्रॉन स्ट्रेन के कुछ म्युटेशंस में संक्रमण को तेजी से दूसरे लोगों में फैलाने की क्षमता पाई गई है। इसने महामारी के दोबारा व्यापक स्तर पर फैलने की चिंता बढ़ा दी है। बता दें कि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट को ओमिक्रोन (B.1.1.529) नाम दिया गया है। इस वैरिएंट में 50 तरह के म्‍यूटेशन हैं। इसमें 30 म्यूटेशन स्‍पाइक प्रोटीन से जुड़े हैं। वैरिएंट की यह खासियत उसको अधिक संक्रामक और खतरनाक बनाती है। विश्‍व स्‍थ्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने इसे डेल्‍टा वैरिएंट से ज्‍यादा खतरनाक बताया है।

 

ये भी पढ़ें

Omicron :एट रिस्क देशों से 3,400 से ज्यादा यात्री लेकर भारत पहुंचीं 11 उड़ानें, इनमें से 6 कोविड संक्रमित मिले

Mamata Banerjee पर भड़की कांग्रेस, अधीर रंजन ने कहा- ज्यादा पागलपन शुरू कर दिया

पुतिन की दिल्ली यात्रा के दौरान AK-203 सौदे पर भारत-रूस करेंगे साइन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios