Asianet News Hindi

कहां है मेरा टीका: मैं 10 दिनों से चक्कर काट रहा हूं, कोई नहीं बता रहा कि दूसरा डोज मुझे कब लगेगा?

देश में वैक्सीनेशन अभियान के बीच परेशानियां भी सामने आ रही हैं। कई जगहों पर टीके खत्म होने से वैक्सीन सेंटर बंद हैं। हालांकि केंद्र सरकार का दावा है कि राज्यों और केंद्र सरकार के पास अभी भी 1.91 करोड़ खुराक मौजूद हैं।

World largest vaccination campaign in India, problems, politics and struggles kpa
Author
New Delhi, First Published Jul 13, 2021, 4:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. ये हैं दिल्ली के रहने वाले एक बुजुर्ग। ये पंडारा पार्क के नवयुग स्कूल में COVID-19 टीकाकरण केंद्र के पिछले 10 दिनों से चक्कर काट रहे हैं, लेकिन वैक्सीन नहीं लग पा रही है। यहां टीके खत्म होने से लोग निराश हैं। इन बुजुर्ग ने न्यूज एजेंसी ANI से कहा-"मैं यहां 10 दिनों से आ रहा हूं, दूसरी खुराक लें। वे कहते हैं कि उन्हें नहीं पता कि उन्हें कब टीका लगेगा। मुझे आपातकालीन ड्यूटी पर जाना है।"

दिल्ली सरकार का तर्क सुनिए
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन कहते हैं-कल लगभग 1.5 लाख कोविशील्ड वैक्सीन आई हैं, जो आज तक यानी 13 जुलाई तक चलेंगी। वैक्सीन की कमी की वजह से वैक्सीनेशन सेंटर बंद हो रहे हैं।

अब केंद्र सरकार का तर्क सुनिए
राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों तथा निजी अस्पतालों के पास अब भी टीके की 1.91 करोड़ से अधिक अतिरिक्त और बिना इस्तेमाल की हुई खुराकें मौजूद, जिन्हें लगाया जाना है। केंद्र सरकार देशभर में कोविड-19 टीकाकरण का दायरा बढ़ाने और टीके लगाने की गति को तेज करने के लिये प्रतिबद्ध है। कोविड-19 के टीकों की सर्व-उपलब्धता का नया दौर 21 जून, 2021 से शुरू किया गया है। टीकाकरण अभियान को अधिक से अधिक वैक्सीन की उपलब्धता के जरिये बढ़ाया गया। इसके तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की उपलब्धता के बारे में पूर्व सूचना प्रदान की गई, ताकि वे बेहतर योजना के साथ टीके लगाने का बंदोबस्त कर सकें और टीके की आपूर्ति श्रृंखला को दुरुस्त किया जा सके।

देशव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में केंद्र सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निःशुल्क कोविड वैक्सीन प्रदान करके उन्हें समर्थन दे रही है। टीकों की सर्व-उपलब्धता के नये चरण में, केंद्र सरकार वैक्सीन निर्माताओं से 75 प्रतिशत टीके खरीदकर उन्हें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निःशुल्क प्रदान करेगी।

केंद्र सरकार द्वारा सभी प्रकार के स्रोतों से अब तक वैक्सीन की 39.46 करोड़ से अधिक (39,46,94,020) खुराकें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को प्रदान की गई हैं। इसके अलावा 12,00,000 खुराकें भेजे जाने की तैयारी है।

आज यानी 13 जुलाई तक 8 बजे सुबह तक उपलब्ध आंकड़ों के हिसाब से उपरोक्त खुराकों में से बेकार हो जाने वाली खुराकों को मिलाकर कुल 37,55,38,390 खुराकों की खपत हो चुकी है।

अभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा निजी अस्पतालों के पास कोविड-19 टीके की 1.91 करोड़ से अधिक (1,91,55,630) अतिरिक्त और बिना इस्तेमाल की हुई खुराकें बची हैं, जिन्हें लगाया जाना है।

यह भी पढ़ें
Good News: स्पूतनिक-वी वैक्सीन अब भारत में भी बनेगा, सीरम इंस्टीट्यूट सितंबर से शुरू करेगा प्रोडक्शन

 

pic.twitter.com/FZInIkv1rP

— ANI (@ANI) July 13, 2021
Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios