Asianet News HindiAsianet News Hindi

World Lion Day पर मोदी ने tweet करके गुजरात के CM रहते अपने दिनों को किया याद और कही ये बात

10 अगस्त को विश्व शेर दिवस (world lion day) मनाया जाता है। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने tweet करके गर्व किया है कि भारत में शेरों की संख्या बढ़ रही है।

world lion day,  Prime Minister Narendra Modi tweet for protection of lions
Author
New Delhi, First Published Aug 10, 2021, 11:06 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व शेर दिवस (world lion day)  पर tweet करके भारत में शेरों की बढ़ती संख्या पर गर्व किया है। मोदी ने कहा-'शेर राजसी और साहसी होता है। भारत को एशियाई शेरों के घर होने पर गर्व है। विश्व शेर दिवस पर, मैं शेर संरक्षण के प्रति उत्साही सभी लोगों को बधाई देता हूं। आपको यह जानकर खुशी होगी कि पिछले कुछ वर्षों में भारत की शेरों की आबादी में लगातार वृद्धि हुई है।' 

pic.twitter.com/GaCEXnp7hG

गुजरात का किया जिक्र
मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए शेरों के संरक्षण की दिशा में काफी काम किया था। उन्होंने tweet के जरिये उल्लेख किया-जब मैं गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में सेवा कर रहा था, तो मुझे गिर के शेरों के लिए सुरक्षित आवास सुनिश्चित करने की दिशा में काम करने का अवसर मिला।  इस दिशा में कई पहल की गईं। इसमें स्थानीय समुदायों और वैश्विक सर्वोत्तम प्रथाओं(global best practices) को शामिल किया गया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि शेरों के लिए आवास सुरक्षित रहे और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलता रहे।

pic.twitter.com/0VEGmh7Ygj

हर साल 10 अगस्त को मनाया जाता है विश्व शेर दिवस
वन के राजा शेर के संरक्षण की दिशा में पहले करते हुए हर साल 10 अगस्त को दुनियाभर में  विश्व शेर दिवस (world lion day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लोगों को वन्य जीवन यानी शेरों के प्रति जागरुक करना है।

क्या आपको पता है
भारत में 2015 में 523 शेर थे, जो 2020 में बढ़कर 674 पहुंच गए हैं। यानी 29 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इससे जुड़ी एक रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि 2015 में शेरों की जनसंख्या 22,000 वर्ग किमी से बढ़कर 2020 में 30,000 वर्ग किमी हो गई है। अगर अकेले गिर की बात करें, तो एशियाई शेर सिर्फ यही मिलते हैं। एशियाई शेरों के लिए मशहूर गिर नेशनल पार्क 412 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। 

यह भी पढ़ें
Global Warming और कम ठंड-बर्फबारी का बुरा असर, लद्दाख में पीछे सरक रहा ग्लेशियर; WIHG का खुलासा
कबाड़ से जुगाड़: खाली ड्रम और टॉयर के प्रयोग से तैयार कर दिए डिजाइनर फर्नीचर, डिमांड बढ़ी तो नौकरी छोड़ दी
संकटमोचक रोबोट: हर तरह के rescue operations में मददगार, मुसीबत में फंसें तो इसे आजमाएं

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios