मोनाको: भारतीय फर्राटा धाविका निर्मला शेरॉन को ‘एथेलेटिक्स इंटिग्रिट यूनीट (एआईयू)’ ने डोपिंग मामले में चार साल के लिए प्रतिबंधित करने के साथ उनके दो एशियाई चैम्पियनशिप खिताब वापस ले लिए । एआईयू ट्रैक एवं फील्ड एथलीटों के डोपिंग मामले को देखती है। एआईयू ने निर्मला को जून 2018 में घरेलू प्रतियोगिता में स्टेरॉयड ड्रोस्तानोलोन और मेटेनोलोन के इस्तेमाल का दोषी पाया था। इसके बाद सात अक्टूबर को उन्हें प्रतिबंधित किया गया।

निर्मला ने एशियाई चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल किया था

एआईयू के मुताबिक इस भारतीय एथलीट के खून के नमूनों में गड़बड़ी पाई गई थी। उन्होंने प्रतिबंधो को स्वीकार कर लिया है और मामले की सुनवाई की मांग नहीं की। उनका निलंबन 28 जून 2018 से प्रभावी होगा जबकि अगस्त 2016 से नवंबर 2018 तक के उनके सभी नतीजों को रद्द कर दिया गया। निर्मला ने 2017 में भारत में हुई एशियाई चैम्पियनशिप में 400 मीटर और चार गुणा 400 मीटर रिले में स्वर्ण पदक हासिल किया था।

उन्होंने रियो ओलंपिक में भी इन दोनों स्पर्धाओं में भाग लिया था।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)