Asianet News HindiAsianet News Hindi

कमाई से ज्यादा मेडल जीतने पर फोकस करती है ये खिलाड़ी, पिता ने माना टूर्नामेंट जीतकर भी बेटी में नहीं आता बदलाव

पीवी सिंधु ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि मुझे ज्यादा पैसों की जरूरत है, अधिक से अधिक मेडल हासिल करना निश्चित रूप से बड़ी बात है। मेडल जीतने के साथ पैसा भी आएगा। पीवी सिंधु ने माना कि पैसा आपको मोटिवेट कर सकता है, लेकिन उनका फोकस मेडल जीतने पर है।
 

PV Sindhu said - Focus on winning the medal for the country more than earning, father agreed - no change in daughter asa
Author
Delhi, First Published Aug 9, 2020, 5:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क। भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु का मकसद देश के लिए अधिक से अधिक मेडल जीतना है। वे कहती हैं कि वह कमाई से ज्यादा देश के लिए अधिक से अधिक मेडल जीतने पर फोकस करना चाहती हैं। वहीं, उनके पिता पीवी रमन्ना ने कहा कि उनकी बेटी जैसा एथलीट चाहे कितना भी पैसा कमाए, व्यक्ति को अपने मूल्यों और उस पृष्ठभूमि को कभी नहीं भूलना चाहिए जहां से वह बड़ा हुआ है। बता दें कि सिंधु की पिछले साल कुल कमाई 5.5 मिलियन डॉलर (लगभग 41,23,39,125 रुपये) थी, जो निश्चित रूप से भारत की हाइएस्ट-पेड फीमेल एथलीट्स में शुमार हैं। 

पीवी सिंधु ने कही ये बातें
पीवी सिंधु ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि मुझे ज्यादा पैसों की जरूरत है, अधिक से अधिक मेडल हासिल करना निश्चित रूप से बड़ी बात है। मेडल जीतने के साथ पैसा भी आएगा। पीवी सिंधु ने माना कि पैसा आपको मोटिवेट कर सकता है, लेकिन उनका फोकस मेडल जीतने पर है।

पिता ने कही ये बातें
सिंधु के पिता पीवी रमन्ना 1986 के एशियाई खेलों में कांस्य जीतने वाली भारतीय वॉलीबॉल टीम के सदस्य थे। वे 2000 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किए गए थे। सिंधु के पिता ने कहा कि उनकी सुपरस्टार बेटी सिंधु अभी भी अपने मूल्यों को बरकरार रखती हैं, जैसा कि हर एथलीट को करना चाहिए। जीवन में मूल्य समान हैं, क्योंकि हमें अपना अतीत नहीं भूलना चाहिए कि हम कहां से आए हैं। अगर हमारे दिमाग में यह बात आ गई तो हम अपने आप ही धरती पर आ जाएंगे। इसलिए अपने मूल्यों को वैसा ही बनाए रखने की जरूरत है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios