Asianet News HindiAsianet News Hindi

West Bengal: दक्षिण 24 परगना की रिहायशी इमारत में जबरदस्त विस्फोट, तीन की मौत, कई जख्मी

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना में एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्‍फोट होने से तीन लोगों की मौत हो गई। ये हादसा बुधवार सुबह हुआ। पटाखे बनाने में इस्‍तेमाल होने वाले अवैध विस्फोटकों की वजह से ये हादसा हुआ। पुलिस मौके पर पहुंच गई है। स्थानीय लोगों ने पुलिस पर ध्यान नहीं देने का आरोप लगाया है।

West Bengal South 24 Parganas Massive explosion in residential building three killed many injured UDT
Author
West Bengal, First Published Dec 1, 2021, 1:17 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में दक्षिण 24 परगना जिले में बुधवार सुबह एक रिहायशी इमारत में भीषण विस्फोट हो गया, इसमें तीन लोगों की मौत हो गई और कई अन्य जख्मी हो गए। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार, घर के मालिक ने पटाखे बनाने के लिए बड़ी मात्रा में अवैध विस्फोटकों का ढेर लगाया था, जिसके कारण विस्फोट हुआ। घटना में आशिम मंडल (52 साल) और उनके दो कर्मचारी अतिथि हाल्दार (53 साल) और काकोली मिधे मंडल (50 साल) मारे गए हैं। रिश्ते में ये सभी मामा, भांजा और मामी हैं।

ये घटना बजबज इलाके में नोडाखली थाना क्षेत्र के नस्करपुर ग्राम पंचायत के आर्य पाड़ा के मोहनपुर गांव की है। सुबह करीब 8.15 बजे भयानक विस्फोट की आवाज से लोग जाग गए।  स्थानीय लोगों के मुताबिक, मंडल पिछले 10 साल से मोहल्ले में अवैध पटाखा फैक्ट्री चला रहा था। एक स्थानीय निवासी ने कहा- ये एक रिहायशी इलाका है और हमें डर था कि इस तरह का विस्फोट हो सकता है। हमने उनसे कई बार अनुरोध किया और पुलिस को भी सूचित किया, लेकिन कुछ नहीं हुआ। 

पुलिस बोली- जांच कर रहे हैं
विस्फोट की तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि आसपास के कुछ घरों के शीशे टूट गए और शव विस्फोट स्थल से करीब 200 मीटर दूर मिले। पुलिस के मुताबिक, विस्फोट छत पर हुआ और कंक्रीट की छत ढह गई। पुलिस का कहना था कि शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। फोरेंसिक टीम को बुलाया गया है। विस्फोटकों की प्रकृति और विस्फोट के अन्य पहलुओं के बारे में जानकारी कर रहे हैं। 

पुलिस अब तलाश रही मास्टरमाइंड
घटना के बाद सवाल उठाए जा रहे हैं कि इतनी बड़ी मात्रा में मकान मालिक ने पटाखे के बारूद कैसे स्टॉक किया। इस मामले में मकान मालिक की भी तलाश की जा रही है और आसपास के लोगों से पूछताछ शुरू कर दी गई है। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि इतनी बड़ी मात्रा में विस्फोट के बारूद कैसे इलाके में पहुंचे हैं और इसके पीछे किन लोगों का हाथ है।

पटाखे के विस्फोट में तड़प-तड़पकर गई मासूम बच्चे की जान, दोस्तों की सिर्फ एक गलती पड़ी जिंदगी पर भारी

India-Myanmar Border मणिपुर में 250 किलो IED बरामद, विस्फोटक से बड़ी घटना को देना था अंजाम

Malegaon Blast : एनआईए कोर्ट में पेश हुईं प्रज्ञा, कहा- तुरंत कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती होना पड़ेगा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios