Asianet News HindiAsianet News Hindi

बूंदी पुलिस ने अंतर्राज्यीय गिरोह के 4 सदस्यों को किया गिरफ्तार, MP से पकड़ाए सभी, हो सकते है बड़े खुलासे

राजस्थान के बूंदी जिले के कापरेन कस्बे में बढ़ी चोरी की वारदातों मे  शामिल चोरों को पकड़ने के लिए टीम का गठन किया गया था। जिन्होंने मध्यप्रदेश से इन आरोपियों को पकड़ लिया। बुधवार के दिन कोर्ट ने 7 दिन की रिमांड पर भेज दिया।

bundi crime news police arrested 4 accused of inter state gang from Madhya pradesh dhar district rajasthan local court sent them to police custody for interrogation asc
Author
First Published Nov 24, 2022, 8:20 PM IST

बूंदी ( bundi).  राजस्थान के बूंदी जिले के कापरेन कस्बे में बढ़ी चोरी की वारदातों व लोगों की शिकायतों के बाद पुलिस बल ने कई टीमों का गठन कर आरोपियों की तलाश के लिए अलग राज्यों में भेजा गया जहां सभी आरोपियों को मध्यप्रदेश के धार जिले से अरेस्ट किया गया। इसके बाद उन्हें राजस्थान लाया गया। इन सभी को बुधवार के दिन कोर्ट में पेश किया गया। जहां से सभी आरोपियों को 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। इनके बारे में जानकारी पुलिस ने गुरुवार के दिन दी।

अलग अलग जिलों में की चोरी की वारदात
मामलेकी जांच कर रही बूंदी पुलिस ने बताया कि जिले के कापरेन इलाके में चोरी की वारदात बढ़ गई थी। जांच की तो  पता चला की कोई बाहर की गैंग का इसमें हाथ है। इसके चलते एसपी जय यादव  ने बताया कि  एएसपी, डीएसपी सीओ की देखरेख में टीम का गठन करके अगल अलग जिलों जैसे राजस्थान गुजरात और मध्यप्रदेश के लिए भेज दिया। जहां पुलिस को चार लोगों के बारे में पता चला जो कि धार निवासी थे। पुलिस ने उनको जिले मे जाकर अरेस्ट किया। आरोपियों की पहचान भिसेन सिंह भील, पिंटु भील,अनिल और शेरू भील के रूप में हुई सभी धार जिले के  रहने वाले है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान और मध्यप्रदेश के अलग जिलों में चोरी की करीब 14 वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया।

 गैंग के मुखिया के ऊपर हजारों का है इनाम
राजस्थान पुलिस जांच मे सामने आया है कि इस गैंग के मुखिया भिसेन सिंह भील के ऊपर मध्यप्रदेश के इंदौर जिले के एरोड्रम पुलिस थाने में चोरी व लूट के दो मामलों दर्ज है, जिसमें वह काफी समय से फरार चल रहा था। साथ ही उसपर पुलिस द्वारा 10 हजार रुपए का नगद इनाम था। इसके अलावा पुलिस का मानना है कि आरोपियों ने चोरी की और भी वारदात की है। जो कि पूछताछ में ही सामने आ सकती है।

पुलिस ने बताया कि आरोपियों की रिमांड मिलने के बाद उसके अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की जाएगी। इसके अलावा यह भी जानने की कोशिश की जाएगी की चोरी का माल ये लोग कहा और किस तरह से ठिकाने लगाते थे। पुलिस का मानना है कि कई चौंकाने वाले खुलासे होना इसमे अभी बाकी है।

यह भी पढ़े- राजस्थान के इस चोर की हरकत चौंका देगी आपको: फायर सेफ्टी पाइप से ब्यूटी पार्लर में घुसा, फिर करने लगा ये काम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios