15 साल का लड़का लौट रहा था घर, बीच रास्ते बदमाशों ने सिर में ठोक दी कीलें, क्या थी वजह जो मिली ऐसी खौफनाक सजा

| Dec 02 2022, 01:55 PM IST

15 साल का लड़का लौट रहा था घर, बीच रास्ते बदमाशों ने सिर में ठोक दी कीलें, क्या थी वजह जो मिली ऐसी खौफनाक सजा

सार

राजस्थान के धौलपुर जिले में जमीन विवाद के चलते एक नाबालिग के साथ खौफनाक वारदात को अंजाम दिया गया। बदमाशों ने पीड़ित के सिर में कीलें ठोक दी और मौके से फरार हो गए। नाबालिग मदद को चिल्लाता रहा, रोता बिलखता रहा पर कोई भी नहीं आया।

धौलपुर (dholpur). राजस्थान के भरतपुर रेंज से अक्सर हैरान करने वाले अपराध सामने आते हैं। चांटे के विवाद पर तीन लोगों के शरीर में पिछले दिनों गोलियां भर दी गई थीं और अब जब जमीन के विवाद में एक लड़के के सिर में कीलें ठोक दी गई। लड़का दर्द से रोता बिलखत रहा लेकिन उसकी मदद करने के लिए कोई नहीं आया। बाद में वह रोता हुआ घर पहुंचा और उसका परिवार उसे लेकर अस्पताल गया। मामले की जांच पड़ताल बसेड़ी थाना पुलिस कर रही है।

सब्जी लेकर घर लौट रहा था नाबालिग, मिल गए बदमाश
मामले की जांच कर रही पुलिस ने बताया कि बसेड़ी क्षेत्र में रहने वाले रामकेश का किसी अन्य से जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। पहले भी दोनो पक्षों में झगड़े हो चुके हैं। बीती शाम रामकेश का पंद्रह साल का बेटा रोहित सब्जी लेने के बाद घर लौट रहा था। घर के पास ही उसे तीन लड़कों ने रोक लिया। दो ने रोहित के हाथ पकड़े और एक अन्य ने वहां से पत्थर उठाकर रोहित के सिर में एक साथ दो कीलें ठोंक दी।

Subscribe to get breaking news alerts

मदद को चिल्लाता रहा नाबालिग, नहीं आया कोई बचाने
कील ठोकने के बाद पत्थर से सिर पर वार भी किए और उसके बाद तीनों लड़के वहां से भाग गए। इस दौरान रोहित ने मदद को लिए गुहार भी लगाई लेकिन कोई मदद को सामने नहीं आया। पीड़ित दर्द से बिलखता ,चीखता रहा और घर पहुंचते पहुंचते अचेत हो गया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आज पुलिस ने केस लिया है।

डॉक्टरों का कहना है कि लड़के की हालत गंभीर बनी हुई है। उसे इलाज के लिए जयपुर रेफर किया जा सकता है। जिले में हुए अपने तरह के इस अपराध के बाद से दहशत फैली हुई है। बसेड़ी पुलिस उन लोगों को अरेस्ट करने की कोशिश कर रही है जिनका रामकेश से विवाद चल रहा है।

यह भी पढ़े- शॉकिंग है जयपुर ये गैंगवारः युवक को इतनी बेरहमी से पीटा की आंते आ गई बाहर, लोग ऐसे डरे की घर में ही दुबके रहे