Asianet News HindiAsianet News Hindi

पायलट गुट के विधायक गुढ़ा के विवादित बोल- सचिन CM नहीं बने तो, फार्च्यूनर गाड़ी में आ जाने वाले MLA ही बचेंगे

राजस्थान में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के चलते कांग्रेस पार्टी की आंतरिक कलह दिन पर दिन बाहर आ रही है। अब सीएम गहलोत मंत्रीमंडल के एक मंत्री ने कहा कि यदि सचिन पायलट मुख्यमंत्री नहीं बने तो कांग्रेस के पास फॉर्च्यूनर गाड़ी जितने विधायक ही बचेंगे।

jaipur news congress cm ashok gehlot cabinet minister Rajendra Singh Gudha warn party to make sachin pilot next chief minister asc
Author
First Published Nov 11, 2022, 10:53 AM IST

जयपुर (jaipur).राजस्थान में अगले साल विधानसभा चुनाव आने वाले हैं। इससे पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट गुजरात और हिमाचल के चुनावों की कमान संभाले हुए हैं। भले ही इन दोनों नेताओं के बीच कोई मतभेद दिखाई नहीं दे रहा हो। लेकिन इसके पीठ पीछे राजस्थान में दोनों गुटों की आपसी फूट सामने आ रही है।

सचिन खेमे के विधायक के विवादित बोल- सचिन बने अगले सीएम
गहलोत मंत्रिमंडल के मंत्री और सचिन पायलट खेमे के विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने बड़ा बयान दिया है। जिन्होंने कहा है कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना देना चाहिए था। लेकिन अब तो काफी लेट हो चुकी है। यदि पायलट को मुख्यमंत्री बना दिया जाता है तो सरकार रिपीट हो सकती है। वरना कांग्रेस के पास राजस्थान में केवल इतने ही विधायक बचेंगे जो एक फॉर्च्यूनर गाड़ी में आ जाएंगे और चार धाम की यात्रा करेंगे।

पहले भी रह चुके सुर्खियों में
यह पहला मामला नहीं है जब मंत्री राजेंद्र सिंह गुड्डा अपने बयान के चलते सुर्खियों में रहे हो। इससे पहले राजस्थान में सितंबर में हुए सियासी घटनाक्रम में भी मंत्री राजेंद्र सिंह गुड्डा ने स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल को सटीयाया हुआ बूढ़ा और पागल तक कहा था। गौरतलब है कि राजेंद्र गुढ़ा सचिन पायलट के करीबी है। जो पार्टी में शामिल होने के दौरान अशोक गहलोत के नजदीकी माने जाते थे।  लेकिन 2020 में जब सियासी भूचाल आया तो राजेंद्र गुढ़ा सचिन पायलट खेमे में चले गए थे। जब वापस लौटे तो उन्हें मंत्री पद दिया गया। इसके बाद से राजेंद्र गुढ़ा कभी भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को घेरने का मौका नहीं छोड़ते हैं।

राजस्थान में सियासी भूचाल को शांत करने के लिए हाई कमान द्वारा आदेश जारी कर किसी भी तरह की विवादित बोल बोलने से बचने के निर्देश दिए गए थे। इसके साथ ही एक टीम यहां आकर पूरे मामले का निपटारा करने वाली थी लेकिन गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव के चलते अभी यह सब रोकना पड़ा तो वहीं विधायकों के विवादित बोल शांत होने का नाम नहीं ले रहे है। इसके साथ ही प्रदेश में भारत जोड़ों यात्रा  की भी इंट्री होने वाली है  इस बयान का क्या असर होता है यह देखने वाली बात होगी।

यह भी पढ़े- राजस्थान में एंट्री करने वाली है भारत जोड़ो यात्रा, गुटबाजी पर सख्त हुए कांग्रेस अध्यक्ष... सुनिए क्या बोले?

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios