Asianet News HindiAsianet News Hindi

पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग ने बताया किस दिन से करवट लेगा मानसून

राजस्थान में शुक्रवार को भी बादल झूमकर बरस सकते हैं। राजस्थान में मौसम शनिवार से फिर करवट लेगा। इस दौरान मानसून के ब्रेक लेने से  बरसात की गतिविधियां फिर से कम हो जाएगी।  पश्चिमी राजस्थान में गर्मी का सिलसिला लगातार जारी है। 

jaipur news Heavy rain alert in East Rajasthan, Meteorological Department monsoon Weather Update pwt
Author
First Published Sep 16, 2022, 9:55 AM IST

जयपुर. राजस्थान में शुक्रवार को भी बादल झूमकर बरस सकते हैं। जिसका असर पूर्वी राजस्थान में ही रहने के आसार हैं। इस संबंध में मौसम विज्ञान केंद्र व स्काई मेट वेदर रिपोर्ट ने संभावना जाहिर की है। मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के अनुसार पूर्वी राजस्थान के जयपुर, अजमेर, कोटा, भरतपुर व उदयपुर संभाग में हल्की से मध्यम तथा पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर व जोधपुर संभाग में मेघ गर्जन व आकाशीय बिजली के साथ कहीं कहीं हल्की बारिश हो सकती है। वहीं, स्काई मेट वेदर रिपोर्ट के अनुसार पूर्वी राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना बनी हुई है। 

शनिवार से बदलेगा मौसम
राजस्थान में मौसम शनिवार से फिर करवट लेगा। इस दौरान मानसून के ब्रेक लेने से  बरसात की गतिविधियां फिर से कम हो जाएगी। मौसम विभाग के अनुसार हालांकि स्थानीय मौसमी सिस्टम से जहां- तहां हल्की से मध्यम बारिश का दौर प्रदेश में फिर भी जारी रहेगा, लेकिन ये क्रम भी दो दिन तक ही रहेगा। शनिवार से पश्चिमी तथा रविवार से पूर्वी राजस्थान में मौसम साफ होना शुरू हो जाएगा। जिससे प्रदेश के तापमान में  फिर बढ़ोत्तरी दर्ज हो सकती है।

ये बन रहा मौसमी सिस्टम
मौसम विभाग के अनुसार उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश और इसके आस-पास के क्षेत्र में बना हुआ कम दबाव का क्षेत्र उत्तर उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ रहा है। यह धीरे-धीरे दक्षिण उत्तर प्रदेश से होते हुए उत्तर पूर्व दिशा की ओर बढ़ जाएगा। जो एक फिर सशक्त होकर दक्षिण पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ऊपर एक डिप्रेशन में बदल सकता है। इधर,मॉनसून की ट्रफ जैसलमेर, कोटा, उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश के ऊपर बने हुए गहरे दबाव के केंद्र से गुजरते हुए, सतना, डाल्टनगंज, दीघा और फिर बंगाल की खाड़ी की तरफ जा रही है। वहीं एक अन्य निम्न दबाव की रेखा पूर्वोत्तर अरब सागर से दक्षिण गुजरात, पश्चिम मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश से होते हुए पूर्वोत्तर बिहार तक फैली हुई है। इस मौसमी सिस्टम से प्रदेश में आगामी कुछ दिनों के लिए बरसात पर विराम लगेगा।

जैसलमेर रहा सबसे गर्म
इधर, पश्चिमी राजस्थान में गर्मी का सिलसिला लगातार जारी है। शुक्रवार को भी 39 डिग्री अधिकतम तापमान के साथ जैसलमेर जिला प्रदेश का सबसे गर्म जिला रहा। इसके बाद बीकानेर में पारा 38 तथा बाड़मेर में 36.7 डिग्री दर्ज हुआ।

इसे भी पढ़ें-  मध्यप्रदेश में फिर एक्टिव हुआ भारी बारिश का दौर, मौसम विभाग ने की बड़ी भविष्यवाणी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios