राजस्थान पुलिस की गैंगस्टरों पर है पूरी नजर: 50 की भी नहीं होने दी उम्र और अब तब 50 से ज्यादा का किया सफाया

| Dec 06 2022, 04:11 PM IST

राजस्थान पुलिस की गैंगस्टरों पर है पूरी नजर: 50 की भी नहीं होने दी उम्र और अब तब 50 से ज्यादा का किया सफाया

सार

राजस्थान में शनिवार के दिन गैंगस्टर राजू ठेहट के बाद आए दिन नए खुलासे सामने आ रहे है। अब एक पुलिस का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जिसके अनुसार पुलिस एनकाउंटर में अब तक 50 गैंगस्टर मारे जा चुके है। तो वहीं प्रदेशभर के करीब 100 बदमाश जेल में बंद है।

जयपुर (jaipur). राजस्थान पुलिस की गैंगस्टरों पर पूरी नजर है। राजस्थान पुलिस ने राजस्थान में कई गैंगों का खत्मा किया है। जानकारी के अनुसार राजस्थान पुलिस ने लगभग 22 साल में अब तक 50 से ज्यादा गैंगस्टरों का सफाया किया है और इन्हें 50 साल की उम्र भी पार नहीं करने दिया। जिसके चलते राजस्थान में गैंगवार पर कंट्रोल देखने को मिला है। बता दें ​कि हाल ही में राजस्थान के गैंगस्टर राजू ठेहट को अन्य बदमाशों द्वारा घर के बाहर गोलियों से भूनने का मामला सामने था इसके में पुलिस ने उसी दिन त्वरित कार्रवाई करते हुए बदमाशों को गिरफ्तार करते हुए सलाखों के पीछे भेज दिया था तो वहीं अब अन्य गैंग के खात्में के लिए पुलिस एक्शन प्लान तैयार करने में जुटी है।

22 सालों में 50 बदमाशों का हुआ एनकाउंटर,100 से ज्यादा जेल में बंद
जानकारी के अनुसार राजस्थान पुलिस ने करीब 22 सालों में 50 बदमाशों का एनकाउंटर कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया और इतने ही बदमाश आपसी रंजिश के चलते गैंगवार में मारे गए हैं। वहीं वर्तमान समय में अजमेर के हाई सिक्योरिटी जेल में प्रदेश भर के 100 से ज्यादा बदमाश बंद है।

Subscribe to get breaking news alerts

पहले भी हो चुके है गैंगवार, गई है कई गैंगस्टरों की जान
बता दें कि गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या शेखावाटी का पहला गैंगवार नहीं है। 2017 में जुराठड़ा के सरपंच सरदार राव की पलसाना में, महेंद्र गोदारा की हत्या 2014 में, बलवीर बानूड़ा की हत्या 2014 में, जयप्रकाश और रामपाल की हत्या 2012 में, गैंगस्टर बिरजू ठेकेदार की हत्या 2009 में, वीरेंद्र न्यांगली की हत्या 2006 में, गोपाल फोगावट और शीशराम की हत्या 2005 में, नानूराम और विजयपाल को इसी तरह गैंगवार में मारा गया था। जयपुर में भी यही हाल है। हाल ही में 26 वर्षीय महेंद्र मीणा और विजेंद्र सिंह की हत्या भी प्रमुख गैंगवार रही है।

युवा गैंगस्टरों की भी गैंगवार में गई है जान
आपको बता दें कि प्रदीप स्वामी हत्याकांड 5 फरवरी 2021 को हुआ। इसमें प्रदीप स्वामी के साथ ही रिटायर टीचर निहाल सिंह सरावग, ईश्वर सिंह नाई व एक शूटर की मौत हुई। दिनदहाड़े गोलियां चली। यह सभी युवा थे। अजय जैतपुरा राजू ठेहट की तरह ही हार्डकोर अपराधी था। जेतपुरा पर हत्या, लूट, शराब की तस्करी सहित 42 मामले दर्ज थे। 17 जनवरी 2018 को इसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। मई 2018 में श्री गंगानगर की जवाहर नगर थाना क्षेत्र में जिम में वर्कआउट कर रहे 32 साल के हिस्ट्रीशीटर जॉर्डन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी गई। जोधपुर में 25 साल की उम्र में हिस्ट्रीशीटर लवली कंडारा को अक्टूबर 2021 में ढेर किया था, तो वहीं आनंदपाल सिंह, दारिया राजस्थान के महत्वपूर्ण एनकाउंटर रहे।

यह भी पढ़े- गैंगस्टर राजू गैंग को खत्म कर ये शख्स बनना चाहता था राजस्थान का भायजी: 7 समुंदर पार से रची थी मर्डर की कहानी