राजस्थान में जमने लगी सर्दी : कई शहरों में तापमान 5 डिग्री से नीचे पहुंचा, बढ़ती ठंड ने बदली दिनचर्या

| Dec 06 2022, 10:43 AM IST

राजस्थान में जमने लगी सर्दी : कई शहरों में तापमान 5 डिग्री से नीचे पहुंचा, बढ़ती ठंड ने बदली दिनचर्या

सार

राजस्थान में जैसे जैसे दिसंबर का महीना आगे बढ़ रहा है दिन पर दिन ठिठुरन भी बढ़ती जा रही है। जो मार्केट कभी सुबह 7 बजे खुलते थे वो अब 10 बजे से खुलने लगे है। लोगो की दिनचर्या में बदलाव आ गया है। जानिए अपने जिले के मौसम के ताजा हाल।

जयपुर (jaipur). राजस्थान में तेज सर्दी का असर अभी शुरू हो चुका है। सुबह और रात के समय ठंडी और कड़ाके की सर्द हवाओं के चलने से अब यहां पर लोगों की दिनचर्या में भी काफी बदलाव हुआ है। गर्मियों में जहां मार्केट सुबह 7:00 बजे ही शुरू हो जाते हैं वहीं अब 10:00 बजे से खुलने लगे हैं। सड़कों पर लोगों की आवाजाही भी सुबह और रात के समय बेहद कम हो गई है। फिलहाल राजस्थान में तेज सर्दी का यह दौर इस पूरे महीने और जनवरी के 20 दिनों में ज्यादा रहेगा। इसके बाद एक बार फिर राजस्थान में सर्दी का असर कम होगा।

माउंटआबू का तापमान रहा सबसे कम, और बढ़ेगी सर्दी
मंगलवार को राजस्थान में तापमान की बात करें तो सबसे कम तापमान माउंट आबू में दर्ज हुआ है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक यहां आज न्यूनतम तापमान 1 डिग्री दर्ज किया गया है। इसके बाद राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर में न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री और चूरू में यह तापमान करीब 4 डिग्री दर्ज किया गया है। जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा के मुताबिक 10 दिसंबर तक राजस्थान में मौसम शुष्क रहने वाला है। ऐसे में अधिकतर इलाकों में तापमान में उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहेगा। इसके बाद तापमान में गिरावट होगी। जम्मू कश्मीर और लद्दाख जैसे इलाकों में होने वाली बारिश और बर्फबारी से राजस्थान में सर्द हवाएं चलना शुरू होगी। जिनसे राजस्थान में ठंड के साथ-साथ कोहरा और ओस भी छाई रहेगी।

Subscribe to get breaking news alerts

प्रदेश में इन जिलों का दिन-रात का तापमान ये रहा
अजमेर जिले में तापमान 11 से 25 डिग्री। बीकानेर में 13 से 26 डिग्री। बूंदी में 10 डिग्री से 24 डिग्री। कोटा में 10 से 26 डिग्री और उदयपुर में तापमान 11 से 25 डिग्री तक रहने की संभावना है। हालांकि इस बार दिसंबर में सर्दी कम रहने का भी अनुमान लगाया जा रहा है। लेकिन यदि कोई लोकल चक्रवात एक्टिव रहता है या फिर लंबे समय तक प्रदेश में पहाड़ी इलाकों की हवाओं का रुख रहता है तो यहां सर्दी दिसंबर में ही कड़ाके की पड़ेगी। वहीं यदि इसी बीच लंबे समय तक कोई लोकल चक्रवात एक्टिव रह जाता है तो यहां तापमान में गिरावट कम होगी। लेकिन जैसे मौसम खुलेगा वैसे ही एक बार फिर तापमान में तेज गिरावट होगी।

फिलहाल अगले करीब 1 सप्ताह तक प्रदेश में कोई लोकल चक्रवात एक्टिव होने की संभावना नहीं है। ऐसे में तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव होता रहेगा।

यह भी पढ़े- Weather Report: पिछले साल की तुलना में अधिक पड़ेगी इस बार ठंड, जानिए IMD की भविष्यवाणी