Asianet News HindiAsianet News Hindi

एनर्जी बूस्टर है, 50 साल के कोटा के यह कंप्यूटर इंजीनियर, विदेशों में राजस्थान का नाम किया रोशन

दुनिया की सबसे कठिन माने जाने वाली आयरन मैन प्रतियोगिता को जीत, कजाकिस्तान में किया राजस्थान का नाम रोशन। कोटा के स्वपनिल ने दुनिया के सबसे टफ कंपटीशन के जीत बने विजेता। उन्होंने यह कारनामा अपनी 50 की उम्र में पाया है।

kota news Swapnil Dadhich won worlds toughest iron man competition organized at Kazakhstan asc
Author
First Published Aug 22, 2022, 3:58 PM IST

कोटा.आपकी उम्र 50 साल है और आप बीपी और शुगर के पेशेंट नहीं है आजकल इसे ही हैल्दी होने की निशानी माना जाता है। लेकिन 50 साल के कोटा के स्वप्निल दाधीच ने हैल्दी होने के मायने ही बदल दिए हैं। विदेश में ऐसा कारनामा कर दिखाया है कि उनके इस काम को पढ़कर अच्छे-अच्छे युवा शर्मा जाएं। दरअसल स्वपनिल ने दुनिया के सबसे टफ कंपटीशन माने जाने वाले आयरन मैन का खिताब को अपने नाम किया है। कंप्यूटर इंजीनियर स्वप्निल कुछ दिन पहले ही कजाकिस्तान से वापस लौटे हैं। 

kota news Swapnil Dadhich won worlds toughest iron man competition organized at Kazakhstan asc

कौन है स्वप्निल और क्या कारनामा किया है उन्हें
दरअसल कोटा के रहने वाले स्वप्निल दादीच 50 साल के हैं।  उन्होंने कोटा में ही साइक्लोट्रॉन के नाम से एक साइकिलिंग ग्रुप बनाया है।  जिसके वे संस्थापक हैं।  स्वप्निल पिछले 15 सालों से एक भी दिन मिस किए लगातार वर्कआउट करते हैं और योगा उनका पैशन है।  कंप्यूटर इंजीनियर स्वप्निल अच्छे बिजनेसमैन माने जाते हैं।  उन्होंने पिछले कुछ सालों में रनिंग और साइकिलिंग की विदेशों में होने वाली कई प्रतियोगिताएं अपने नाम की है। लेकिन अब जो उपलब्धि स्वप्निल ने  हासिल की है उनके सामने अच्छे-अच्छे पानी भरते हैं। 

kota news Swapnil Dadhich won worlds toughest iron man competition organized at Kazakhstan asc

क्या है आयरन मैन प्रतियोगिता 
दमखम परखने के लिए आयोजित की जाने वाली आयरन मैन प्रतियोगिता दुनिया की पहली ऐसी एक दिवसीय प्रतियोगिता है जिसमें  प्रतियोगी को करीब सवा 200 किलोमीटर साइकिलइन ,रनिंग और स्विमिंग करनी होती है। प्रतियोगिता में सबसे पहले करीब 4 किलोमीटर ओपन वॉटर स्विमिंग करीब, 180 किलोमीटर साइकिलिंग और 42 किलोमीटर रनिंग करनी होती है। बिना रुके लगातार चलने वाली इस प्रतियोगिता में देश दुनिया के सैकड़ों प्रतिभागी शामिल होते हैं। इस प्रतियोगिता को पूरा करने का अधिकतम समय सिर्फ 16 घंटे होता है। पिछले दिनों कजाकिस्तान में आयोजित हुई इस प्रतियोगिता में स्वप्निल ने अन्य प्रतियोगियों की तुलना में कम समय निकालते हुए यह खिताब अपने नाम किया। प्रतियोगिता में अमेरिका तक के प्रतिभागी शामिल हुए थे। 

स्वप्निल बताते हैं की लगातार योगा, रनिंग और साइकिलिंग ही उनकी एनर्जी को बूस्ट करते हैं। साल 2019 में गोवा में आयोजित हुई एक बड़ी साइकिल प्रतियोगिता भी स्वप्निल अपने नाम कर चुके हैं। कोटा में उनका अपना क्लब है वह लोग ऑकेजनली 1 दिन में सौ से डेढ़ सौ किलोमीटर तक की साइकिलिंग करते हैं। टेरेस गार्डनिंग के शौकीन स्वप्निल बताते हैं कि अच्छी बात यह है कि यह ग्रुप लगातार बढ़ रहा है और लोग हेल्थ के लिए जागरूक हो रहे हैं।

यह भी पढ़े- भारी बारिश के बीच भोपाल पहुंचे अमित शाह, 4 राज्यों के सीएम के साथ इन मुद्दों पर करेंगे बैठक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios