Asianet News HindiAsianet News Hindi

चाचा ने बोला था-आज किसी का मर्डर होगा..12 साल के भतीजे ने सचमुच दोस्त की कनपटी पर कट्टा सटाकर गोली मार दी

राजस्थान के भरतपुर में 12 साल के एक लड़के ने अपने दोस्त की गोली मारकर हत्या कर दी। आरोपी को ऐसा करने के लिए उसके चाचा ने उकसाया था। आपराधिक प्रवृत्ति का चाचा कई दिनों से सोशल मीडिया पर गुंडईवाली पोस्ट कर रहा था। आरोपी ने अपने दोस्त की कनपटी पर लोडेड कट्टा रखकर ट्रिगर दबा दिया। घटना के वक्त मृतक दुकान पर बैठकर नमकीन खा रहा था।

Rajasthan Crime, The nephew shot the friend when the uncle ordered kpa
Author
Bharatpur, First Published Jul 28, 2020, 9:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भरतपुर, राजस्थान. आपराधिक प्रवृत्ति के चाचा के कहने पर 12 साल के एक बच्चे ने बेवजह अपने दोस्त को गोली मार दी। चाचा पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया पर दहशत फैलाने वालीं पोस्ट कर रहा था। घटना सोमवार सुबह करीब 8.45 बजे मथुरा गेट थाने के ठीक सामने 100 मीटर दूर एक जनरल स्टोरी पर हुई। चाचा सुबह से ही कह रहा था कि आज किसी का मर्डर होगा। आरोपी बच्चे ने अपने दोस्त की कनपटी पर लोडेड कट्टा रखकर ट्रिगर दबा दिया। घटना के वक्त मृतक दुकान पर बैठकर नमकीन खा रहा था। (फोटो-मृतक यशवंत उर्फ देव)

चाचा ने दिया था आरोपी भतीजे को लोडेड कट्टा
मृतक यशवंत उर्फ देव आरोपी का हमउम्र दोस्त था। आरोप है कि आरोपी बच्चा चाचा विष्णु उर्फ बबलू से लोडेड कट्टा लेकर गया था। इससे पहले विष्णु सुबह खुद 315 बोर का देशी कट्टा और 2 कारतूस हाथ में लेकर दुकान पर गया था। वहां वो धमकी भरे अंदाज में बोला कि आज किसी का मर्डर होगा। वहां मौजूद लोगों ने उसे समझा-बुझाकर घर भेज दिया था। कुछ देर बाद वो फिर वहां पहुंचा और कट्टा अपने भतीजे को थमा दिया। इस मामले में पुलिस ने नाबालिग सहित 4 लोगों को आरोपी बनाया है। पुलिस ने नाबालिग और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। चाचा और एक अन्य आरोपी फरार है। मृतक के पिता  जयपाल ने बताया कि विष्णु ने किसी बच्चे के जरिये यशवंत को दुकान पर बुलाया था। इसके बाद विष्णु ने कट्टा अपने भतीजे को देकर यशवंत के माथे पर निशाना साधने को कहा। उसके भतीजे ने बिना सोचे-समझे ट्रिगर दबा दिया।

पुलिस के अनुसार, दुकान आरोपियों की है। मृतक का बड़ा भाई पहले दुकान पर नौकरी करता था। लेकिन किसी बात को लेकर उसने काम छोड़ दिया था। आरोपी शायद इसी बात से नाराज थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios