Asianet News Hindi

कोरोना के साथ इस महामारी का खतरा, राजस्थान में सैंकड़ों कौओं की मौत..दहशत से घरों में बंद लोग

 झालावाड़ डिप्टी सीएमओ डॉ. मुकेश बंसल ने बताया कि बर्ड फ्लू पक्षियों से मनुष्य में भी फैल सकता है। इसलिए लोगों को सावधान रहने की जरुरत है। उन्होंने बतायाकि यह सामान्य फ्लू की तरह वायरल इंफेक्शन, लेकिन ठंड के दिनों में इसका असर ज्यादा घातक हो जाता है।

rajasthan news kota bird flu virus many crows died  in jhalawar kpr
Author
Jhalawar, First Published Dec 31, 2020, 4:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

झालावाड़ (राजस्थान). अभी कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं है कि बर्ड फ्लू महामारी अपने पैर पसार रही है। राजस्थान के झालावाड़ में जिसकी वजह से बड़ी संख्या में कौओं की मौत का मामला सामने आया है। इस फ्लू के आने से पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने वाले लोगों में हड़कंप मचा गया है। आलम यह है कि जिला प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया है।

कौओं की मौत से प्रशासन में हड़कंप
दरअसल, यह मामला झालावाड़ के राड़ी के बालाजी मंदिर इलाके का है, जहां पिछले 25 दिसंबर से लगातार कौओं की असामान्य मौत हो रही हैं। तो कई गंभीर रुप से बीमार हालत में मिले हैं। हालांकि जिला प्रशसान ने अभी तक यह नहीं बताया कि कितने कौए की जान जा चुकी है। 

1 किलोमीटर एरिया में लगा दिया गया कर्फ्यू 
बता दें कि स्थानीय पशुपालन विभाग ने कौओं के सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजा था।  जहां से इन कौओ की मौत का कारण बर्ड फ्लू होना बताया गया है। ऐसे में जिला प्रशासन ने मामले को गंभरीता से लेते हुए  बालाजी मंदिर परिसर क्षेत्र के 1 किलोमीटर एरिया में कर्फ्यू लगा दिया है। साथ ही आसपास के सभी पोल्ट्री फार्म तथा अंडा विक्रय केंद्रों को भी बंद कर दिया गया है।

पक्षियों से मनुष्य में भी फैल सकता यह फ्लू
वहीं इस मामले में  झालावाड़ डिप्टी सीएमओ डॉ. मुकेश बंसल ने बताया कि बर्ड फ्लू पक्षियों से मनुष्य में भी फैल सकता है। इसलिए लोगों को सावधान रहने की जरुरत है। उन्होंने बतायाकि यह सामान्य फ्लू की तरह वायरल इंफेक्शन, लेकिन ठंड के दिनों में इसका असर ज्यादा घातक हो जाता है। आसपास के इलाकों में कोटा से आई टीम पक्षियों और मुर्गियों में इस बीमारी के फैलने के बारे में सर्वे करने में जुटी हुई है।

जोधपुर में भी आ चुका हा ऐसा ही मामला
बता दें कि इसस पहले जोधपुर में कौओं की मौत का मामला सामने आ चुका है। जहां राजीव गांधी पुलिस थाने इलाके में करीब 15 से 20 कौए मृत पाए गए थे।  बाद पशुपालन विभाग ने कौओं के सैंपल भोपाल भेजे थे, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद पता चला था कि इन कौओं की मौत रानीखेत नाम की बीमारी से हई थी।

फड़फडा कर दम तोड़ रहे कौए
आसपास के लोगों का कहना है कि कौओं में एक अलग तरह की बीमारी देखने को मिली है। पहले वह फड़फड़ाते हैं और बात में उनकी मौत हो जाती है। ऐसा लगता है कि उनकी किसी खतरनाक वायरस ने चपेट में ले लिया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios