Asianet News HindiAsianet News Hindi

आधी रात में दलित महिला से रेप कर रहा था कांस्टेबल, परिजन ने देखा तो पैर-बांधकर पिटाई कर दी, सस्पेंड

राजस्थान (Rajasthan) में सरहदी जिले बाड़मेर (Barmer) में दलित महिला (Dalit Woman) से रेप (Rape) का मामला सामने आया। आरोपी पुलिस कांस्टेबल (Police Constable) ने घटना को अंजाम दिया। वह आधी रात में दलित महिला के घर में घुस गया था। महिला के चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनकर अन्य परिजन आ गए और आरोपी को पकड़ लिया। इसके बाद उसकी पिटाई कर कपड़े उतार दिए। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

Rajasthan Police constable who raped Dalit woman in Barmer was taken hostage and thrashed department has been suspended
Author
Barmer, First Published Oct 13, 2021, 8:36 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बाड़मेर। भारत-पाकिस्तान बॉर्डर (India-Pakistan border) के किनारे बसे राजस्थान (Rajasthan) के बाड़मेर (Barmer) जिले में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पुलिस कांस्टेबल (Police Constable) ने दलित महिला (Dalit woman) के घर में घुसकर रेप (Rape) किया है। महिला के चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनकर परिजन जाग गए। उन्होंने मौके पर ही कांस्टेबल को दबोच लिया और हाथ-पैर बांधकर जमकर पिटाई कर दी। इससे आरोपी कांस्टेबल घायल हो गया, उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। पीड़िता ने कांस्टेबल के खिलाफ शिकायत की है। मामले में आरोपी को विभाग ने सस्पेंड कर दिया।

जानकारी के मुताबिक आरोपी कांस्टेबल का नाम सुल्तान सिंह है। वह बाड़मेर जिले के शिव थाने में तैनात था। सोमवार रात दलित महिला घर में अकेली थी। आरोपी को पता चला तो वह मौका पाकर अंदर घुस गया और जान से मारने की धमकी देकर महिला के साथ रेप किया। इस दौरान पीड़िता के चिल्लाने पर पास के घर में सो रहे अन्य परिजन की नींद खुल गई। उन्होंने मौके पर ही आरोपी कांस्टेबल को पकड़ लिया और हाथ-पैर बांधकर उसकी जमकर पिटाई कर दी। उसके कपड़े उतार कर गांव में बैठा दिया। बाद में घायल कांस्टेबल को बाड़मेर के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

ये कैसा बाप? रेप नहीं कर पाया तो 6 साल की बच्ची के प्राइवेट पार्ट में लकड़ी डाल दी, घर में लहूलुहान मिली बच्ची

पुलिस ने रेप और एससी-एसटी ऐक्ट के तहत केस दर्ज किया
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि कांस्टेबल सुल्तान सिंह रात 2 बजे उसके घर में घुसा था। उसने धमकाकर रेप किया और जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया। शिव थानाधिकारी लील सिंह का कहना है कि विवाहिता ने कांस्टेबल के खिलाफ दुष्कर्म और एससी-एसटी ऐक्ट के तहत केस दर्ज कराया है। मामले की जांच उप अधीक्षक आनंद सिह को सौंपी गई है।

ऐतिहासिक फैसला ! 13 घंटे में रेपिस्ट गिरफ्तार, 6 घंटे में चालान भी पेश, सिर्फ 28 घंटे की सुनवाई में सजा

प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि कांस्टेबल के महिला के साथ संबंध हैं। इस वजह से वह उसके घर में गया। जब परिजन ने दोनों को साथ में देखा तो कांस्टेबल की पिटाई कर दी। मामले में डीएसपी जांच कर रहे हैं।- आनंद शर्मा, एसपी, बाड़मेर

राजस्थान पुलिस पर पहले भी लग चुके आरोप
राजस्थान पुलिस पर इस तरह के पहले भी दाग लग चुके हैं। कई पुलिसकर्मी रेप के आरोप में जेल की हवा खा रहे हैं। अलवर में एक पीड़िता से थाना परिसर में बने सरकारी क्वार्टर में ही रेप की वारदात हुई थी। वहीं, पिछले दिनों ब्यावर के तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक हीरालाल सैनी का एक महिला कांस्टेबल के साथ स्विमिंग पूल में नहाते हुए अश्लील वीडियो वायरल हुआ था। उसमें हीरालाल और महिला कांस्टेबल ने अश्लीलता की सभी हदें पार कर दी थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios