जयपुर, राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान के बीच अब कांग्रेस के बाद भारतीय जनता पार्टी ने भी अपने विधायकों की बाड़ेबंदी शुरू कर दी है। बताया जाता है कि उदयपुर संभाग के करीब एक दर्जन विधायकों को अहमदाबाद की एक होटल में शिफ्ट किया गया है। वहीं बीजेपी के बाकी के एमएलए को राजधानी जयपुर लाने की तैयारी की जा रही है।

इस वजह से बीजेपी विधायकों की कर रही बाड़बंदी
दरअसल, 11 अगस्त  बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय को लेकर हाईकोर्ट का निर्णय आने की संभावना है। अगर हाईकोर्ट इन विधायकों के कांग्रेस में विलय पर स्टे लगा देता है तो फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार बचाने के लिए बीजेपी में तोड़फोड़ कर सकते हैं।  ऐसे में बीजेपी को डर है कि कहीं उसके विधायक कांग्रेस में नहीं चले जाएं।जिसके चलते भाजपा पहले से ही सावधान हो जाना चाहती है। 

सोमनाथ के दर्शन के लिए गए हैं विधायक
हालांकि पार्टी का कहना है कि जो विधायक गुजरात गए हैं वो सोमनाथ के दर्शन के लिए गए हैं। हमने किसी तरह की कोई बाड़बंदी नहीं की है। वहीं राजनीतिक गलियारों में यह भी चर्चा है कि पार्टी ने जिन MLA को अहमदाबाद भेजा है, उनकी जिम्मेदारी नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया को दी गई है।

जेपी नड्‌डा से वसुंधरा राजे की मुलाकात
बता दें कि शुक्रवार को राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में मुलाकात की थी। ऐसा माना जा रहा है कि दोनों के बीच राजस्थान के राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार चाहती है कि वसुंधरा राजे प्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहें जो अभी तक नहीं दिखा है।