Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजस्थान का हैवान टीचर: छात्र को मार डाला, हत्या के बाद फर्श से साफ किए खून के धब्बे, खुलासे चौंकाने वाले..

टीचर ने उसे जमीन पर पटक-पटकर लात-घूसों से इतना मारा कि उसके नाक से खून बहने लगा। इसके बाद आरोपी शिक्षक मनोज ने खुद ही फर्श से खून के निशान साफ किए थे। बाद में पुलिस केस के डर से वह गणेश को निजी अस्पताल ले गया। 

Rajasthan Teacher Manoj, who was accused of lynching student, had himself cleaned the blood stains from the floor fearing a police case in churu
Author
Churu, First Published Oct 21, 2021, 9:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चूरू :  राजस्थान (rajsthan) के चूरू (churu) में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जिले के सालासर थाना क्षेत्र के गांव कोलासर में बुधवार दोपहर टीचर की पिटाई से 7वीं क्लास के बच्चे की मौत हो गई। 13 साल का बच्चे का कसूर सिर्फ इतना था कि वह होमवर्क करके नहीं गया था। टीचर ने उसे जमीन पर पटक-पटकर लात-घूसों से इतना मारा कि उसके नाक से खून बहने लगा। इसके बाद आरोपी शिक्षक मनोज ने खुद ही फर्श से खून के निशान साफ किए थे। बाद में पुलिस केस के डर से वह गणेश को निजी अस्पताल ले गया। वहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया।

गणेश को बहुत ज्यादा खून आया
मृतक छात्र गणेश के पिता ने बताया कि स्कूली बच्चों ने उसको बताया कि मारपीट में गणेश को बहुत ज्यादा खून आया था। गणेश के पिता के अनुसार बाद में आरोपी शिक्षक मनोज लहूलुहान छात्र गणेश को जबरदस्ती जिद करके सालासर के निजी अस्पताल लेकर गया। उस वक्त वह भी कार में मौजूद था। आरोपी टीचर ने जिद करते हुए कहा था सालासर के बालाजी हॉस्पिटल में ही लेकर चलना है। बालाजी हॉस्पिटल में चिकित्सकों ने गणेश की बॉडी को पंप किया लेकिन उसने कोई रेस्पॉन्स नहीं दिया। बाद में डॉक्टर ने कहा कि बच्चा पहले से ही मृत है।

पिटाई से डैमेज हो गया था छात्र का लिवर
स्कूल टीचर की पिटाई से मृत बच्चे का पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आया है। मासूम के मौत की वजह पिटाई से लिवर डैमेज बताया जा रहा है। आरोपी टीचर ने बेरहमी से 13 साल के बालक को इतना पीटा की उसका लिवर डैमेज हो गया। सालासर थानाधिकारी संदीप बिश्नोई ने बताया कि बच्चे के शरीर पर जाहिराना तौर पर चोट के निशान नहीं है, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह पिटाई से लीवर डैमेज होना सामने आया है।

इसे भी पढ़ें-होमवर्क न करने की सजा मौत: मां की गोद उजड़ी तो पिता का प्यार, बहन भाई की तस्वीर देख बिलख रही

शिक्षक ने कहा- वो मरने का नाटक कर रहा है
बताया जा रहा है कि बुधवार को भी गणेश स्कूल गया था। सुबह करीब सवा नौ बजे विद्यालय से आरोपी शिक्षक मनोज का फोन आया कि गणेश होमवर्क करके नहीं लाया है। इसलिए उसकी पिटाई की गई है, जिससे वह बेहोश हो गया है। पिता जो कि खेत गया हुआ था, ने आरोपी शिक्षक से पूछा कि वह बेहोश हुआ है या मर गया। तो आरोपी शिक्षक ने कहा कि वो मरने का नाटक कर रहा है। कुछ देर बाद ओमप्रकाश स्कूल पहुंचा। जहां उसकी पत्नी पहले से ही मौजूद थी। स्कूल के बाकी बच्चे घबराए हुए थे। बच्चों ने बताया कि आरोपी मनोज ने गणेश को बेरहमी से लात घूसों से मारपीट की । साथ ही जमीन पर पटक पटक कर पिटाई की। इस बेरहमी से गणेश लहूलुहान हो गया।

पहले भी पिता से टीचर की शिकायत की थी
पुलिस को पिता ओमप्रकाश ने बताया कि बच्चे ने 15 दिन पहले भी पिता से टीचर की शिकायत की थी। बच्चे ने बताया था कि टीचर मनोज बेवजह पिटाई करता है। गणेश के पिता ओमप्रकाश ने आरोपी मनोज के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करवाया है। तीन भाई बहनों में गणेश मंझला था। इसका बड़ा भाई विनोद गांव की सरकारी स्कूल की कक्षा 11वीं में पढ़ता है। सबसे बड़ी बहन संजू ने पढ़ाई जल्दी ही छोड़ दी थी। गणेश कक्षा एक से ही इसी स्कूल में पढ़ रहा है। 

गुस्सैल स्वभाव का है आरोपी शिक्षक
मॉर्डन पब्लिक स्कूल का संचालक बनवारी लाल आरोपी टीचर मनोज का पिता है। आरोपी टीचर मनोज BA+B.Ed है। वह सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहा था। खुद का स्कूल होने की वजह से मनोज तानाशाही रवैया अपनाता था। बच्चों ने बताया कि मनोज संस्कृत का टीचर था। बुधवार सुबह भी 7वीं क्लास को संस्कृत पढ़ा रहा था। होमवर्क नहीं करने वाले बच्चों को खड़ा कर धमकाया। इसी दौरान गुस्से में आकर गणेश को जोर से थप्पड़ मार दिया। इससे उसकी नाक से खून निकलने लगा और बेहोश होकर गिर गया। इसके बावजूद टीचर उसे मारता रहा और दो-तीन बार उठाकर जमीन पर पटका। बच्चों ने बताया कि टीचर हमेशा गुस्से में रहता था।

आरोपी शिक्षक गिरफ्तार
इधर, बच्चे की पिता ओमप्रकाश की रिपोर्ट पर आरोपी टीचर के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया था। जिस पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। बच्चे के परिवार और साथ में पढ़ने वाले बच्चों के बयान लिए जा रहे हैं। शिक्षा विभाग की टीम ने स्कूल जाकर बच्चों और उनके परिजनों का बयान लिया है। प्रारंभिक तौर पर स्कूल में कई तरह की खामियां सामने आई हैं।

इसे भी पढ़ें-IIT स्टूडेंट ने आई क्विट लिख किया सुसाइड, 'पापा आप जिद्दी हैं और मां मजबूर..आपको ऐसा नहीं करना था'

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios