Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजस्थान का अनोखा मामला: गर्भ में बच्चा हिंदू था, लेकिन पैदा होते ही मुस्लिम हो गया, जानिए क्या है रहस्य

अभी तक आपने अक्सर लोगों से सुना होगा कि वह कहते हैं कि हम तो जन्म से  हिंदू हैं या फिर मुस्लिम हैं। लेकिन राजस्थान के जयपुर से एक अनोखा ही मामला सामने आया है। जहां एक नवजात गर्भ में तो हिंदू था, लेकिन पैदा होती ही वो मुस्लिम हो गया। अस्पताल से लेकर थाने तक इसको लेकर बवाल मचा हुआ है। 

Unique case of Rajasthan: Hindu child became Muslim as soon as he was born kpr
Author
First Published Sep 4, 2022, 11:16 AM IST

जयपुर. राजस्थान के सबसे बड़े जनाना अस्पताल में से एक माने जाने वाले जयपुर के सांगानेर गेट जनाना अस्पताल में बवाल मचा हुआ है । हिंदू मां का आरोप है कि उसका बच्चा मुस्लिम मां ने ले लिया, जबकि मुस्लिम मां का आरोप है कि हिंदू मां उसका बच्चा ले गई। दोनों माताएं एक ही अस्पताल में एक ही वार्ड में भर्ती हैं और दोनों का एक ही समय पर बच्चा हुआ है।  लेकिन एक बेटा है और एक बेटी अब दोनों माताएं बेटे पर अपना दावा कर रही है । पुलिस को इसकी सूचना दी गई है और पुलिस हर स्तर पर जांच पड़ताल कर रही है । उधर अस्पताल प्रशासन का कहना है कि फिलहाल दोनों माताओं से उनके बच्चे ले लिए गए हैं उनको एनआईसीयू में रखा गया है और अब ब्लड टेस्ट एवं अन्य जांच के आधार पर बच्चों की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं।  जल्द ही मामला सुलझा लिया जाएगा।

 3 दिन तक दूध पिलाती रही माताएं
 दरअसल जयपुर के वॉल सिटी एरिया में रहने वाली रेशमा और नेहा दोनों ने 3 दिन पहले कुछ समय के अंतराल में 2 बच्चों को जन्म दिया । उनमें एक बेटा था और एक बेटी थी।  अस्पताल प्रशासन का कहना है कि नेहा को ऑपरेशन से बेटा हुआ था जबकि रेशमा ने बेटी को जन्म दिया था । लेकिन अस्पताल स्टाफ की गलती के कारण बच्चे अदल बदल गए।  अस्पताल स्टाफ की गलती के कारण रेशमा के पास बेटा चला गया और नेहा को बेटी मिल गई ।

पूरे मोहल्ले और अस्पताल में मिठाइयां बांट दी...लेकिन
अस्पताल स्टाफ की गलती के कारण दोनों बच्चों के हाथ पर गलत माताओं के टैग लग गए । इस कारण परेशानी हुई । रेशमा के पहले से बेटियां हैं उसे बेटा मिला तो परिवार ने पूरे मोहल्ले और अस्पताल में मिठाइयां बांट दी । नेहा के भी पहले से बेटा है लेकिन वह एक और बेटा चाहती है। 3 दिन तक इस मामले का किसी को पता नहीं चला  लेकिन कल रात को जब दोनों बच्चों को नियमानुसार टीके लगाने के लिए ले जाया गया तब उनके एडमिट कार्ड और उनके हाथ पर मिले टैग के आधार पर पता चला कि बच्चे बदल गए हैं।  

अस्पताल से लेकर थाने तक मचा हुआ है बवाल 
अस्पताल अधीक्षक का कहना था कि रेशमा और नेहा उनके साथ ही उनके पति , चारों लोगों के ब्लड टेस्ट करा लिए गए हैं । रेशमा के बेटी हुई है ,नेहा के बेटा हुआ है यह तय है।  फिलहाल दोनों बच्चों को एनआईसीयू में रखा गया है और दोनों बच्चों के परिजनों को समझाया जा रहा है।  मामला पुलिस तक गया है  ,उम्मीद है आज दोपहर तक इस पूरे घटनाक्रम को शांत कर लिया जाएगा। मामले की जांच कर रही लाल कोठी थाना पुलिस का कहना है कि चिकित्सकों की मेडिकल टेस्ट के बाद जो सच्चाई सामने आई है उस आधार पर माताओं को उनके बच्चे दिए जाएंगे।

इसे भी पढ़ें- मामी ने 16 महीने के बच्चे के साथ की शर्मनाक हरकत: खंजर से काटा प्राइवेट पार्ट, करना चाहती थी ऐसा काम  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios