सेक्स के दौरान डर्टी टॉक करने के होते हैं 4 फायदे, वैज्ञानिकों ने बताया, एक तो ऑर्गेज्म से है जुड़ा

| Dec 08 2022, 06:54 PM IST

सेक्स के दौरान डर्टी टॉक करने के होते हैं 4 फायदे, वैज्ञानिकों ने बताया, एक तो ऑर्गेज्म से है जुड़ा

सार

वैज्ञानिकों ने बताया है कि बिस्तर पर पार्टनर के साथ डर्टी टॉक इतनी प्रभावी क्यों होती है। साइलेट सेक्स मूड किलर होता है। इसलिए यह सुनिश्चित करें कि पार्टनर के साथ कुछ डर्टी सीक्रेट या फिर टॉक शेयर करें।

रिलेशनशिप डेस्क. बेडरुम में आपका पार्टनर आपकी इच्छाओं और यौन सुख का कितना आनंद ले रहे हैं इसके बारे में  सुनना चाहता है। डर्टी टॉक उत्तेजना और दोनों पार्टनरशिप के आंद को बढ़ाने में मदद कर सकती है। वैज्ञानिक भी इस बात से इत्तेफाक रखते हैं कि डर्टी टॉक चादर के नीचे काफी प्रभावी होता है।अपने साथी के कान में मीठी या गंदी फुसफुसाहट उत्तेजना को ट्रिगर कर सकता है। यहां तक की अगर फोन पर भी डर्टी बात करते हैं तो वो उत्तेजना पैदा करता है।सेक्स एक्सपर्ट नेस कूपर ने मेट्रो से बातचीत में बताया कि विज्ञान भी इसे प्रभावी मानता है। आइए जानते हैं वो चार फायदे जो डर्टी टॉक से सेक्स के दौरान मिलते हैं।

डर्टी टॉक मस्तिष्क को उत्तेजित करती है
डर्टी बातें सुनने से मस्तिष्क के कई क्षेत्र उत्तेजित हो जाते हैं। जिसकी वजह से फील गुड हार्मोन डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन रिलीज होता है। 
इसके साथ ही टेस्टोस्टेरोन जारी होता है कामोत्तेजना को बढ़ाने में मदद करता है।

Subscribe to get breaking news alerts

फोकस ऑन डिलीवरी
डर्टी टॉक से पार्टनर के साथ सेक्स के दौरान अच्छी डिलीवरी पर फोकस करते हैं। डर्टी टॉक से दोनों अराउज होते हैं। टर्न ऑफ मूड को भी ऑन कर देता है। हालांकि डर्टी टॉक के दौरान ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए जिससे सामने वाला प्रभावित हो।किस तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया जाएगा यह आपके साथी के मूड पर निर्भर करता है। 

तनाव को कम करने में मदद करता है
गंदी बात से कई तरह के हार्मोन रिलीज होते हैं। जिससे तनाव को कम करमें में मदद मिलती है। यह साथी के साथ अधिक जुड़ाव महसूस करता है। यहां तक की सेक्स के लिए आवश्यक मस्तिष्क के क्षेत्रों को सक्रिय करने में मदद करती हैं।

पास्ट से निकलने में मदद करता है
कई लोगों को लगता है कि सेक्स एक शर्मनाक विषय है। वे अक्सर अपने पसंद के धुन के लिए शर्मिदा होते हैं।  लेकिन सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को एक अच्छा लड़का या लड़की के रूप में बताते हैं। जिससे वो अपने पास्ट से निकल जाते हैं। प्रशंसा आपके कॉन्‍फिडेंस को इंप्रूव करने के साथ ही सेक्‍स में आपके स्‍किल्‍स भी सुधार कर सकती है

और पढ़ें:

बिना सेक्स के भी महिलाएं बन सकती हैं मां, जानें वो 5 तरीके

मां बनने वाली हैं बालिका बधू फेम नेहा मर्दा हैं, प्रेग्नेंसी से जुड़ी 5 मिथक का किया भंडाफोड़