मां बनने वाली हैं बालिका बधू फेम नेहा मर्दा हैं, प्रेग्नेंसी से जुड़ी 5 मिथक का किया भंडाफोड़

| Dec 08 2022, 01:29 PM IST

मां बनने वाली हैं बालिका बधू फेम नेहा मर्दा हैं, प्रेग्नेंसी से जुड़ी 5 मिथक का किया भंडाफोड़
मां बनने वाली हैं बालिका बधू फेम नेहा मर्दा हैं, प्रेग्नेंसी से जुड़ी 5 मिथक का किया भंडाफोड़
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

बालिका वधू (Balika Vadhu) फेम नेहा मर्दा (Neha Marda) मई में 2023 में अपने पहले बच्चे की उम्मीद कर रही हैं। हाल ही में अपने प्रेग्नेंसी के दौरान उन्होंने गर्भवास्था से जुड़े आम मिथकों का भंडाफोड़ किया। हालांकि उनकी कुछ बातों से महिलाएं सहमत नहीं हो सकती हैं।

हेल्थ डेस्क.  'डोली अरमानों की', 'बालिका वधू' और देवों के देव महादेव जैसे सीरियल्स में नजर आ चुकी अभिनेत्री नेहा मर्दा (Neha Marda) मां बनने वाली हैं। पिछले महीने उन्होंने अपने प्रेग्नेंसी की खबर चाहने वालों को साझा किया था। मई में अदाकारा अपने पहले बच्चे की उम्मीद कर रही हैं। वो इन दिनों अपना खास ख्याल रख रही हैं। लेकिन वो इससे जुड़े मिथक का भी भंडाफोड़ कर रही हैं। उन्होंने तीन ऐसी बातों से जुड़े भ्रम को गलत बताया है जिसे प्रेग्नेंसी में करने की मनाही की जाती है। नेहा ने इंस्टाग्राम पर एक रील साझा किया है। 5 मिथक को गलत बताते हुए उसका सही आनंसर बताया है। आइए जानते हैं उन मिथकों के बारे में और नेहा ने इसे लेकर क्या राय दी है।

मिथक-1प्रेग्नेंसी में चाय और कॉफी महिलाओं को नहीं पीना चाहिए।
नेहा ने बताया-महिलाएं चाय और कॉफी प्रेग्नेंसी में कम मात्रा में ले सकती हैं। एक या दो कप चाय या कॉफी वो पी सकती हैं। वो बताती हैं कि एक दिन में 200 मिलीलीटर से अधिक कैफीन आपके गर्भपात के जोखिम को बढ़ा सकता है क्योंकि कैफीन प्लेसेंटा बाधा में प्रवेश कर सकता है, इसलिए सावधान रहें कि तय सीमा से ज्यादा इसे नहीं पीना चाहिए।

Subscribe to get breaking news alerts

मिथक 2-दो लोगों के बराबर खाओ।
वास्तव में, अधिक खाने से माता का वजन बढ़ सकता है और बच्चे में मोटापा हो सकता है। आपके शिशु को पहले छह महीनों तक बिना किसी अतिरिक्त कैलोरी की आवश्यकता के वह सब कुछ मिलेगा जिसकी उन्हें आपसे आवश्यकता है। एक बार जब आप अंतिम तिमाही में पहुंच जाते हैं, तो आपको प्रति दिन लगभग 200 अतिरिक्त कैलोरी की आवश्यकता हो सकती है।

मिथक 3: गर्भवती होने पर यात्रा नहीं करनी चाहिए।
गर्भावस्था के दौरान हवाई यात्रा करना या कार की सवारी करना ठीक है। हालांकि, आप दूसरी तिमाही (second trimester) में सबसे अधिक आरामदायक महसूस करेंगी। कार से यात्रा करते समय, ड्राइव को 5 से 6 घंटे से अधिक न रखें। गाड़ी चलाते या उड़ते समय, हर दो घंटे में टहलना और स्ट्रेच करना सुनिश्चित करें। हाइड्रेटेड रहने के लिए आपको पर्याप्त पानी भी पीना चाहिए।

मिथक 4: गर्भवती होने पर व्यायाम न करें।
व्यायाम करना आपके, आपके बच्चे के स्वास्थ्य और आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। कूदने, उछलने, और अचानक झटका लगने,गर्म वातावरण में योग जैसी किसी भी नई और हार्ड एक्टिविटी से बचें। अपनी पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान सप्ताह में कम से कम पांच दिन 30 मिनट की शारीरिक गतिविधियों का लक्ष्य रखें।
 
मिथक 5: मॉर्निंग सिकनेस सिर्फ सुबह में होती है।
गर्भावस्था के दौरान मतली (और/या उल्टी) आपके हार्मोन में परिवर्तन के कारण दिन के किसी भी समय हो सकती है। ज्यादातर महिलाओं के लिए, यह सुबह के समय अधिक सामान्य होता है और 3 महीने के बाद इसमें सुधार होना शुरू हो जाता है। लेकिन कुछ महिलाओं के लिए यह अलग होता है।

और पढ़ें:

प्रेग्नेंसी में आयरन की गोली खाने से क्या बच्चे का रंग होता है काला?

तीखा खाना खाने की वजह से महिला की टूट कई 4 पसलियां, जानें दंग करने वाला केस