Asianet News HindiAsianet News Hindi

हैवानियत की हद!पति ने पत्नी और उसके प्रेमी को जिंदा जलाया,10 महीने के मासूम को भी नहीं छोड़ा

पत्नी से मिले धोखे से तिलमिलाये शख्स ने ऐसा कदम उठाया जिससे इंसानियत कांप जाए। हैदराबाद के रहने वाले शख्स ने ना सिर्फ अपनी बेवफा पत्नी को आग के हवाले कर दिया, बल्कि उसके लवर और 10 महीने के बच्चे को भी नहीं छोड़ा। 

husband sets fire by sprinkling petrol on wife her lover and 10 month old son in Hyderabad NTP
Author
First Published Nov 8, 2022, 4:55 PM IST

रिलेशनशिप डेस्क. ये जरूरी नहीं की शादी का रिश्ता पूरी जिंदगी तक चलें। अगर ये किसी कारण वश टूट भी जाता है तो पति-पत्नी को सम्मान के साथ एक दूसरे से अलग हो जाना चाहिए। लेकिन तेलंगाना के नारायणगुड़ा  से दिल को दहलाने वाली खबर सामने आई है। यहां एक शख्स पत्नी की बेवफाई की वजह से शैतान बन गया। उसने ना सिर्फ अपनी पत्नी को बल्कि उसके प्रेमी और 10 महीने के बच्चे को भी जिंदा जलाने की कोशिश की। तीनों की हालत गंभीर है, वहीं हैवान फरार है जिसकी तलाश पुलिस कर रही हैं।

आग में झुलसी महिला की मां  एस. लक्ष्मीबाई थाने पहुंची और अपने दामाद के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। महिला ने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी एस आरती की शादी 8 साल पहले 2014 में नागुला साई के साथ हुई थी।उन दोनों का एक बेटा चरण है। शादी के बाद आरती और नागुला साई के बीच अक्सर लड़ाई होती थी। दोनों के बीच नहीं बनती थी। इस बीच आरती की जिंदगी में एक दूसरे शख्स ने एंट्री ली। नागराजू के साथ वो रिश्ते में आ गई। पति को छोड़कर आरती उसके साथ रहने लगी। 

आरती प्रेमी के साथ खुशहाल जिंदगी जी रही थी

दोनों बिना शादी के साथ रहने लगे। इस दौरान आरती को नागाराजू से एक बच्चा हुआ। जिसका नाम विष्णु है। बच्चा 10 महीने का हो चुका है। दोनों की जिंदगी हंसी खुशी गुजर रही थी।लेकिन नगुला साई को ये बात हजम नहीं हो रही थी। इसे लेकर वो कई बार आरती और नागाराजू से लड़ता और उन्हें धमकी देता था।

सरेआम पति ने तीनों को जिंदा जलाने की कोशिश की

आरती की मां आगे बताती हैं कि 7 नवंबर को आरती और नागराजू अपने बेटे के साथ नारायणगुड़ा स्थित लक्ष्मी बाई की फूल की दुकान पर आए। शाम 7 से 8 बजे के बीच नगुला साईं भी वहां आ गए। वह पेट्रोल से भरा मग लेकर आया था। उसने तीनों पर पेट्रोल छिड़क दिया और माचिस से आग लगाकर भाग गया। वहां मौजूद लोगों ने तीनों को आनन फानन में अस्पताल पहुंचाया। जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। आरती और नागराजू 40 प्रतिशत जल गए हैं। जबकि 10 महीने के मासूम की स्थिति बहुत ज्यादा नाजुक है।  भारतीय दंड संहिता की धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपी नगुला साई फरार है और आगे की जांच जारी है।

और पढ़ें:

बचपन के कैंसर से जुड़े ये 9 मिथक का सच जानना है जरूरी,एक तो फर्टिलिटी से है जुड़ा

शादी के लिए पसंद कर रहे हैं पार्टनर, तो इन 5 तरह के लोगों को कर दें ना, नहीं तो हमेशा पीटते रहेंगे सिर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios