Asianet News HindiAsianet News Hindi

श्रद्धा वाकर का इंस्टाग्राम अकाउंट नहीं होता, तो आफताब नहीं होता बेनकाब, हत्या के बाद किए ये 5 काम

प्यार, सेक्स, धोखा और मर्डर...मुंबई में एक लड़का और लड़की मिले, प्यार परवान चढ़ा और दिल्ली में उसका दर्दनाक अंत हुआ। 6 महीने तक लड़का अपनी हैवानियत को छुपाने की कोशिश की। लेकिन इंस्टाग्राम की वजह से उसका सच सामने आ गया। एक ऐसा सच जिसे जानकर लोग दहल गए ।

Shraddha Walkar murder victim s Instagram account unravelled Aaftab Poonawala s conspiracy NTP
Author
First Published Nov 15, 2022, 1:54 PM IST

रिलेशनशिप डेस्क. वो प्यार में अंधी थी, तभी उसे सामने वाले के साथ रहना महफूज समझा। उसे पता नहीं था कि एक दिन उसका प्यार ही ना सिर्फ उसकी जान ले लेगा, बल्कि उसके शव के साथ ऐसी दरिंदगी करेगा जिसे पढ़ने मात्र से लोग कांप जाएंगे। यकीनन आफताब पूनवाला एक प्रेमी तो नहीं हो सकता है, क्योंकि जो प्रेमी होता है वो अपनी प्रेमि का के शव के 35 टुकड़े नहीं करता और उसके साथ घर में रहते हुए हर दिन उसका एक अंग को ठिकाने ले जाता। करीब छह महीने तक आफताब अपने खून से सने हाथ को छुपाने की कोशिश की। लेकिन श्रद्धा वाकर के इंस्टाग्राम की वजह से उसका चेहरा सामने आ गया।चलिए बताते हैं श्रद्धा वाकर मर्डर केस (Shraddha Walkar murder case ) अबतक के खुलासे के बारे में।

मर्डर के कुछ महीनों तक आफताब श्रद्धा के इंस्टाग्राम पर एक्टिव था

18 मई 2022 को आफताब ने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद से वो उसके सोशल मीडिया अकाउंट का इस्तेमाल करता था। वो श्रद्धा के दोस्तों के साथ चैट करता था ताकि यह यकीन दिला सके कि वो जीवित और ठीक है। पूनावाल 9 जून तक श्रद्धा के इंस्टाग्राम पर चैट करता रहा। इसके बाद बंद हो गया। कई महीनों तक जब अकाउंट निष्क्रिय रहा तब उसके दोस्तों को शक हुआ और उसने श्रद्धा के परिवार को इसकी सूचना दी। जिसके बाद पूरा मामला सामने आया।

पिता श्रद्धा के कदम से नहीं थे खुश

दरअसल, श्रद्धा के पिता आफताब के साथ रिश्ते को लेकर खुश नहीं थे।पुलिस के सामने पिता ने जो तहरीर लिखाई है जिसमें यह बताया गया है कि साल 2019 में आफताब और श्रद्धा लिव इन में रहने लगे थे। उनके फैसले से हम खुश नहीं थे। साल 2020 में श्रद्धा की मां की मौत हो गई। श्रद्धा जब घर आई थी तब उसने बताया था कि पूनावाला उसे पीट रहा है। जिसपर उसके पिता ने श्रद्धा से पूनावाला को छोड़ने की अपील की थी। हालांकि आफताब ने उनसे माफी मांगी और वे दोनों फिर से एक साथ रहने चले गए। बेटी के इस फैसले से परेशान होकर उन्होंने बातचीत करना बंद कर दिया था।

बेटी के बारे में जब नहीं चला पता तो तुरंत गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई

हालांकि किसी ना किसी के जरिए उन्हें बेटी के बारे में जानकारी मिलती थी। उन्हें पता था कि वो दिल्ली में छतरपुर में रह रही है। लेकिन हाल ही में उन्हें पता चला कि उनका ब्रेकअप हो गया है। लेकिन फोन पर जब कोई संपर्क नहीं हुआ तब वो दिल्ली पहुंचे। बेटी के फ्लैट पर गए तो ताला बंद था। जिसके बाद उन्होंने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

दूसरी महिला के साथ आफताब का चल रहा था चक्कर

इसके बाद मुंबई पुलिस ने दिल्ली में आफताब के ठिकाने का पता लगाया और उससे संपर्क किया। इस दौरान उसने कई विरोधाभाषी बयान दिए।जांच के वक्त पूनावाला गुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में काम करता था और दूसरी महिला को डेट कर रहा था। पुलिस की मानें तो आफताब और श्रद्धा के बीच 18 मई को कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद उसने गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद आफताब ने एक बड़ा रेफ्रिजरेटर खरीदा और शरी के 35 टुकड़े करके उसमें रख दिए। वह एक-एक करके रात के अंधेरे में उसके बॉडी पार्ट को ठिकाने लगता था। बदबू को दूर करने के लिए वो धूप और रूम फ्रेशनर का इस्तेमाल करता था। 

मुंबई में ही दोनों रहने लगे थे साथ

पुलिस की मानें तो श्रद्धा और आफताब ऑनलाइन डेटिंग ऐप के जरिए एक दूसरे से मिले थे। फिर वो मुंबई में एक कॉल सेंटर में काम करने लगे। दोनों अलग-अलग धर्म से जुड़े थे इसलिए श्रद्धा की फैमिली इस रिश्ते के खिलाफ थे। जिसकी वजह से उसने घर छोड़ दिया और मुंबई के वसई में लिव इन में रहने लगे थे। इसके बाद दिल्ली दोनों आ गए। 

हत्या के बाद आफताब ने क्या-क्या किया
-आफताब खुद को पेशे से शेफ बताता है। उसने सब्जी काटने का अच्छा हुनर सीख रखा था। उसने श्रद्धा वाकर का शव भी काट दिए। 

-शव को ठिकाने लगाने के लिए उसने इंटरनेट से मदद ली। पुलिस में दिए बयान के मुताबिक उसने अपने पसंदीदा टीवी शो 'डेक्स्टर' से मदद ली। उसने 300 लीटर का फ्रिज खरीदा और एक गड़ासा लिया।  इसके बाद उसने श्रद्धा के शव के छोटे-छोटे टुकड़े करके फ्रिज में रख दिए।

-आफताब ने बताया कि शव को काटना आसान नहीं था। इसके लिए उसने शराब पी,खून के छीटें ना पड़े इसलिए चेहरे पर कपड़ा बांधा। चारों तरफ दर्जनों परफ्यूम की बोतले छिड़की और अगरबत्ती जलाई ताकि बदबू की जगह खुशबू बनी रहे।

-आफताब ने खून साफ करने का तरीका गूगल से ढूंढा। एसिड से उसने फर्श को साफ किया। इसके बाद वो कई दिनों तक आधी रात में निकलता और हरियाली वाली जगहों पर शव के टुकड़े को फेंका करता था। 

-श्रद्धा वाकर के हत्या के बाद भी उसे इंस्टाग्राम आईडी का करता था इस्तेमाल, ताकि दुनिया को दे सके धोखा।

प्यार में लड़कियां क्यों हो जाती हैं अंधी
जिस तरह की खबरें सामने आ रही हैं कि श्रद्धा और आफताब का रिश्ता ठीक नहीं चल रहा था। आफताब उसे फिजिकली और मेंटली टॉचर करता था बावजूद वो उसके साथ क्यों थी। मुंबई में उसने अपने पिता को बताया था कि आफताब उसे पीटता है। दिल्ली में भी उसका रिश्ता सही नहीं था। पड़ोसियों के बयान के मुबातिक वो श्रद्धा के साथ मारपीट करता था। अगर वक्त रहते उसे समझ आ जाता कि ये रिश्ता आगे और भी खराब हो सकता इससे अच्छा है कि अलग हो जाए। यह केस उन लड़कियों के लिए एक सबक है जो प्यार में रहने पर सामने वाले की हर बात को मानती हैं, उनके अत्यचार को भी सहती हैं। 

और पढ़ें:

क्या है Sexsomnia बीमारी? नींद में आदमी करता है सेक्स और जागने पर भूल जाता है सबकुछ

यौन इच्छा को दबाने के लिए इस समुदाय में महिलाओं के प्राइवेट पार्ट चलाया जाता है ब्लेड

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios