Asianet News HindiAsianet News Hindi

यहां शारीरिक संबंध बनाने के लिए दफ्तर से मिलती है छुट्टी, जानें सरकार ने क्यों बनाया है ये अनोखा नियम

शारीरिक संबंध बनाने के लिए ऑफिशियल छुट्टी मिलती है, हेडलाइन पढ़कर हैरान हो गए ना। लेकिन ये सच है। एक देश हैं जहां लोगों को शारीरिक संबंध बनाने के लिए छुट्टी मिलती है। चलिए उस देश के बारे में बताते हैं और इसके पीछे क्या वजह है।

you can take leave for physical relation in this country NTP
Author
New Delhi, First Published Aug 22, 2022, 1:13 PM IST

रिलेशनशिप डेस्क. दो दिलों का मिलना या फिर उनके बीच फिजिकल रिश्ता कायम होना एक मूमेंट होता है। इसके लिए भला छुट्टी क्यों दी जाएगी। लेकिन जानकर आपको अजीब लगेगा कि एक ऐसा देश है जहां सरकार ने इसके लिए छुट्टी का प्रावधान किया है। लोगों को यौन संबंध बनाने के लिए दफ्तर से छुट्टी मिलती है। उस देश का नाम है डेनमार्क। जी हां, इस देश में लोगों को ये सुविधा दी गई है। 

दरअसल, डेनमार्क की आबादी कम होना वहां की सरकार के लिए चिंता का विषय रहा है। वक्त-वक्त पर वहां की सरकार इस तरह के कैपेंन चलाती है। जिससे लोग के अंदर बच्चा पैदा करने की भावना आए। इसलिए लोगों को संबंध बनाने के लिए दफ्तर से छुट्टी दी जाती है। डेनमार्क की सरकार ने नागरिकों को ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करने के लिए कहा है। सरकार का कहना है कि इन छुट्टियों का फायदा उठाते हुए लोग ज्‍यादा से ज्‍यादा सेक्‍स करें।

जनसंख्या दर कम होने की वजह से सरकार चला रही है इस तरह की कैंपेन

डेनमार्क में जनसंख्या वृद्धि की दर धीमी है। कभी-कभी यह निगेटिव में भी चली जाती है। जन्मदर 1.7  तक पहुंचने के बाद सरकार ने इस कैंपने की शुरुआत की है। लोगों को छुट्टी दी जा रही है। इसके साथ जगह-जगह पर सेक्स से जुड़े विज्ञापन लगाए गए हैं, ताकि लोगों के अंदर कामेच्छा पैदा हो और पार्टनर के साथ संबंध बना कर बच्चे पैदा करने के बारे में सोचें। दरअसल, यहां के लोग बच्चे पैदा करने में यकीन नहीं रखते हैं। वो अपनी जिंदगी मस्ती के साथ जीना पसंद करते हैं। इसलिए यहां की जनसंख्या धीरे-धीरे कम हो रही है।बता दें कि खुशहाल देशों में डेनमार्क  दूसरे नंबर पर है। सरकार अपने नागरिकों की खुशी का ख्याल रखती है। 

अगले 10 साल में डेनमार्क की जनसंख्या हो जाएगी इतनी

जनसंख्या का कम होना यहां की सरकार के लिए चिंता का विषय है। कई सारे कैंपेन चलाने के बाद सरकार का मानना है कि अगले दस वर्षों के भीतर पहली बार जनसंख्या को छह मिलियन का आंकड़ा पार करना चाहिए। इन अनुमानों का मानना ​​है कि 2020 में वार्षिक विकास दर 0.38% से घटकर 2050 तक 0.19% हो जाएगी। इसी अवधि के दौरान 2020 में डेनमार्क की जनसंख्या 5,796,800, 2030 में 6,024,516, 2040 में 6,192,283 और 2050 तक 6,314,402 होने की उम्मीद है। 

और पढ़ें:

पत्नी के साथ मिलकर शख्स ने खेला मौत का खूनी खेल, मां-भाई समेत ली चार की जान

मैरेज लाइफ में ताउम्र भरना है रोमांच, तो कम सेक्स समेत इन 6 स्टेप को करें फॉलो

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios